chhattisgarh news media & rojgar logo

tourism

स्वामी विवेकानंद की स्मृति में स्मारक बनाकर बूढ़ापारा स्थित भवन को किया जाएगा संरक्षित, दर्रेकसा के पास स्थित गुफा को भी पर्यटन क्षेत्र बनाया गया

स्वामी विवेकानंद की स्मृति में स्मारक बनाकर बूढ़ापारा स्थित भवन को किया जाएगा संरक्षित, दर्रेकसा के पास स्थित गुफा को भी पर्यटन क्षेत्र बनाया गया

chhattisgarh, News, special, tourism
रायपुर | छत्तीसगढ़ की राजधानी में स्वामी विवेकानंद की याद में राष्ट्रीय स्मारक बनाया जाएगा। यह बातें 30 साल पहले चर्चा में आईं थी, मगर अब यह सच साबित होती दिख रही हैं। अब तक किसी न किसी वजह से स्मारक बनाने का काम रुका ही हुआ था। दरअसल रायपुर में जहां स्वामी विवेकानंद रहे थे, वह स्थान रायबहादुर भूतनाथ डे चेरिटेबल ट्रस्ट  के अधीन है। उचित व्यवस्थापन तय न हो पाने की सूरत में यहां कुछ भी काम अब तक नहीं हो सका था। मगर अब 2 जनवरी को हुए कैबिनेट के फैसले में ट्रस्ट को जमीन और भवन देने के मुद्दे पर निर्णय लिया गया। ट्रस्ट को नगर निगम के पास मौजूद भूमि में स्थान दिया जाएगा। वर्तमान में ट्रस्ट स्कूल भी चला रहा है, इन्हें नया स्कूल भी बनाकर दिया जाएगा ताकि बच्चों की पढ़ाई का नुकसान न हो। मौजूदा स्थिति जिला प्रशासन और ट्रस्ट से मिली जानकारी के मुताबिक ट्रस्ट को जमीन दिए जाने को लेकर हर स्तर पर बात-
ठंड का प्रकोप : मैनपाट में पारा 0.5 डिग्री, रायपुर और बिलासपुर में शीतलहर, सीएम ने दिए सभी कलेक्टर को निर्देश जगह-जगह जलवाएं अलाव

ठंड का प्रकोप : मैनपाट में पारा 0.5 डिग्री, रायपुर और बिलासपुर में शीतलहर, सीएम ने दिए सभी कलेक्टर को निर्देश जगह-जगह जलवाएं अलाव

chhattisgarh, india, News, tourism
रायपुर | रात के तापमान में मामूली गिरावट के बावजूद प्रदेशभर में रविवार को कड़ाके की सर्दी रही। उत्तरी छत्तीसगढ़ के पहाड़ी इलाकों में रात का तापमान 3 डिग्री तक गिर चुका है। सामरी, मैनपाट, चिल्फी, पेंड्रारोड आदि इलाकों में दूसरे दिन भी बर्फ जम गई। सुबह उठते ही लोगों ने घरों के बाहर घास, पेड़ और खलिहानों मंे बर्फ की चादर देखी। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि नमी आने की वजह से तापमान में गिरावट आई है। उत्तर भारत से आ रही शुष्क और ठंडी हवा के कारण प्रदेश के कई हिस्सों में शीतलहर चल रही है। अंबिकापुर, पेंड्रारोड में रात का तापमान सामान्य से 4 और 6 डिग्री तक कम है। कहां कितना पारा शहर     न्यूनतम रायपुर     10.8 डिग्री माना     9.5 डिग्री पेंड्रा     4.2 डिग्री अंबिकापुर     4.1 डिग्री बिलासपुर     6.5 डिग्री दुर्ग     6.2 डिग्री राजनांदगांव     5.6 डिग्री जगदलपुर     9.2 डिग्री नए
राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य 2019 : शिल्प ग्राम, छत्तीसगढ़ी व्यंजन और विभागीय स्टाल बने महोत्सव में आकर्षण का केन्द्र

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य 2019 : शिल्प ग्राम, छत्तीसगढ़ी व्यंजन और विभागीय स्टाल बने महोत्सव में आकर्षण का केन्द्र

chhattisgarh, india, News, tourism
रायपुर। प्रदेश में पहली बार आयोजित राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के आखरी दिन अवकाश का दिन होने के कारण मुख्य मंच पर आयोजित कार्यक्रमों के अलावा यहां लगाए गए स्टालों में रायपुर सहित प्रदेश भर के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। विशेष तौर पर शिल्प ग्राम, छत्तीसगढ़ी व्यंजनों पर आधारित फूड जोन और विभागीय स्टॉलों की ओर रूख कर रहे है। शिल्प ग्राम में बेलमेटल, मिट्टी के बर्तन, हैण्डलूम में जमकर हुई खरीदी-शिल्प ग्राम जोन में बस्तर के बेल मेटल में आंगतुक काफी रूचि ले रहे। यहां आदिवासी संस्कृति का पुट लिए मूर्तियां लोगों की पहली पसंद बनी है। बेलमेटल से निर्मित कलाकृतियों को बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है। माटीकला बोर्ड द्वारा कुम्हारों द्वारा चॉक के निर्मित बरतनों की प्रदर्शनी लगाकर उन्हें बेचे जा रहे हैं। इसमें मिट्टी के डिजायनर दीये, लैम्प, बोतल, कड़ाही, गिलास, डिनर सेट सहित वॉल डेकोरेटिव आयटम भी हैं
रायपुर : ‘राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव, अब राज्योत्सव के साथ हर वर्ष आयोजित होगा’ – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर : ‘राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव, अब राज्योत्सव के साथ हर वर्ष आयोजित होगा’ – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

chhattisgarh, News, special, tourism
रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि अब हर साल राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन होगा। यह आयोजन राज्योत्सव के साथ होगा। राज्योत्सव कुल पांच दिनों को होगा। इसमें पहले दो दिन राज्य के स्थानीय कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। वहीं शेष तीन दिन राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में आयोजित राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में पहली बार देश-विदेश के कलाकारों ने एक साथ मंच साझा किया है। तीन दिवसीय महोत्सव में बड़ी संख्या में आदिवासी कलाकारों ने अपनी कला और संस्कृति को नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में छह देशों सहित 25 राज्यों और तीन केन्द्र शासित प्रदेशों के कलाकार एक साथ जुटे। इस महोत्सव में देश-विदेश की जनजातीय संस्कृतियों को करीब से जानने का लोगों को मौका मिला। इस महोत्सव ने अनेकता में एकता का संदेश दिया
‘यह साल किसानों की समृद्धि का रहा’, ग्राम पतोरा में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्राचीन हनुमान मंदिर में भगवान के दर्शन भी किए

‘यह साल किसानों की समृद्धि का रहा’, ग्राम पतोरा में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्राचीन हनुमान मंदिर में भगवान के दर्शन भी किए

chhattisgarh, News, special, tourism
रायपुर। हमारी सरकार की योजनाओं की वजह से कृषकों को खेती पर भरोसा लौटा है। 2500 रूपए में धान खरीदी एवं कर्जमाफी के निर्णय से किसानों को आर्थिक संबल मिला। इस साल प्रदेश के किसानों की समृद्धि का साल रहा, यह बात मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने ग्राम पतोरा में आयोजित कार्यक्रम में कही। वे सार्वजनिक हनुमान मन्दिर उत्सव में भाग लेने पहुंचे थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि सरकार ने न केवल कृषकों को फसल का उचित दाम दिलाने को लेकर पहल की है अपितु ग्रामीण विकास की एक ऐसी योजना पर कार्य कर रही है जिससे आत्मनिर्भर गांव का रास्ता तैयार होगा। इसके लिए संसाधन ग्रामीण क्षेत्र से ही आएंगे। पशुधन के उचित दोहन से बेहतर आय की संभावनाएं बनेंगी। गौठान में उत्पादित कम्पोस्ट खाद आदि के माध्यम से जैविक खेती का रास्ता भी तैयार होगा और कम्पोस्ट खाद का अच्छा मूल्य भी हासिल होगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कह
रायपुर : तीन दिवसीय राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का रंगा-रंग आगाज, लद्दाख, सिक्किम, अरूणाचल प्रदेश, बेलारूस और छत्तीसगढ़ के लोक कलाकारों ने महोत्सव में संस्कृति की छटा बिखेरी

रायपुर : तीन दिवसीय राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का रंगा-रंग आगाज, लद्दाख, सिक्किम, अरूणाचल प्रदेश, बेलारूस और छत्तीसगढ़ के लोक कलाकारों ने महोत्सव में संस्कृति की छटा बिखेरी

chhattisgarh, entertainment, News, special, tourism
रायपुर। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2019 का आज रंगारंग शुभारंभ हुआ, जिसमें देश-विदेश से आए कलाकारों ने पारम्परिक वेशभूषा में आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया। प्रदेश का विख्यात दण्डामी माड़िया नृत्य की प्रस्तुुति के दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित लोकसभा सदस्य श्री राहुल गांधी सहित प्रदेश का समूचा मंत्रिमंडल भी मंच पर थिरका। भारत की जनजातियों की कला, संस्कृति एवं जीवन शैली पर आधारित राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के तीन दिवसीय आयोजन का आगाज आज स्थानीय साईंस कॉलेज मैदान परिसर में किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित लोकसभा सदस्य श्री राहुल गांधी उपस्थित थे। मेजबान प्रदेश छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल सहित प्रदेश मंत्रिमंडल के मंत्रीगणों की मौजूूदगी में आज सुबह आदिवासी नृत्य महोत्सव प्रारंभ हुआ। इस दौरान सभी लोक कला नर्तकों के द्वारा आकर्षक झांकी निकाली गई साथ
राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2019: सीएम बघेल ने लिया तैयारियों का जायजा, कहा, “थिरकेगा देश आदिवासी थाप पर”

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2019: सीएम बघेल ने लिया तैयारियों का जायजा, कहा, “थिरकेगा देश आदिवासी थाप पर”

chhattisgarh, india, News, tourism
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुधवार देर शाम को बेमेतरा दौरे से रायपुर लौटने के बाद सीधे साईंस कॉलेज मैदान पहुंचे। उन्होंने 27 से 29 दिसम्बर तक आयोजित होने वाले राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव की तैयारियों का विस्तार से जायजा लिया। इस अवसर पर उनके साथ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि एवं पशुपालन मंत्री रविन्द्र चौबे तथा खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत भी पहुंचे थे। मुख्यमंत्री बघेल ने कलाकारों द्वारा कार्यक्रमों की सफल प्रस्तुति के लिए समुचित इंतजाम के संबंध में भी संबंधित विभागीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि देश-विदेश से पहुंचे सभी कलाकारों के मान-सम्मान का ख्याल रखा जाए और जब वे जाएं तो अपने साथ छत्तीसगढ़ की संस्कृति और आथित्य भाव की एक सुखद स्मृति लेकर जाएं। मुख्य सचिव आर.पी. मंडल ने बताया कि राष्ट्रीय
रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से जापानी प्रतिनिधि मंडल की मुलाकात, जापान यात्रा करने के लिए आमंत्रित किया, सिरपुर को टूरिज्म से जोड़ने हेलीपेड निर्माण का आग्रह

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से जापानी प्रतिनिधि मंडल की मुलाकात, जापान यात्रा करने के लिए आमंत्रित किया, सिरपुर को टूरिज्म से जोड़ने हेलीपेड निर्माण का आग्रह

chhattisgarh, News, tourism
रायपुर छत्तीसगढ़ के भ्रमण पर आए जापानी प्रतिनिधि मण्डल ने आज मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से उनके भिलाई स्थित निवास पर मुलाकात की। उन्होंने प्रदेश में स्थित पुरातात्विक स्थल सिरपुर और प्रज्ञागिरी डोंगरगढ़ के विकास के संबंध में मुख्यमंत्री के साथ विचार-विमर्श किया। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि यदि सिरपुर और प्रज्ञागिरी में सुविधाएं विकसित की जाएं तो ये दोनों स्थल जापानी पर्यटकों के लिए बड़े आकर्षण का केन्द्र बन सकते हैं। उन्होंने सिरपुर के नजदीक हेलीपेड निर्माण की आवश्यकता बताते हुए कहा कि इससे जापान के पर्यटक दो दिनों में सिरपुर का भ्रमण कर वापस जापान लौट सकेंगें। उल्लेखनीय है कि सिरपुर के उत्खनन में बौद्ध धर्म से संबंधित अनेक पुरातात्विक स्थल सामने आए हैं और प्रज्ञागिरी को बौद्ध तीर्थ के रूप में विकसित किया गया है। जापानी प्रतिनिधिमंडल ने सिरपुर के नजदीक हेलीपेड निर्माण का आग्रह भी मुख्यमंत
राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2019: 27 दिसंबर को आ सकते हैं राहुल गांधी और प्रियंका गाँधी, मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ को भी न्योता

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2019: 27 दिसंबर को आ सकते हैं राहुल गांधी और प्रियंका गाँधी, मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ को भी न्योता

chhattisgarh, india, News, tourism
रायपुर (एजेंसी) | 27 दिसंबर से राजधानी में शुरू हो रहे तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव की तैयारियां जोरों पर है। इस कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा शामिल हो सकते हैं। अंतिम कार्यक्रम नहीं आया है दोनों सुबह करीब साढ़े दस बजे रायपुर आएंगे और करीब दो घंटे कार्यक्रम में शामिल रहेंगे। प्रियंका यह पहला रायपुर दौरा होगा। सीएम कमलनाथ को भी न्योता मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री आदरणीय श्री कमलनाथ जी से आज भोपाल के वल्लभ भवन में मुलाकात की और उन्हें छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में 27-29 दिसम्बर तक आयोजित होने वाले राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में शामिल होने आमंत्रित किया।@OfficeOfKNath pic.twitter.com/IFCwIq44NO — MOHAN MARKAM (@MohanMarkamPCC) December 23, 2019 कोण्डागांव विधायक और पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम ने मध्यप्रदेश
राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2019 : लद्दाख का दल विवाह नृत्य और निकोबारी दल, पूर्वजों के सम्मान वाला नृत्य करेंगे प्रस्तुत

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2019 : लद्दाख का दल विवाह नृत्य और निकोबारी दल, पूर्वजों के सम्मान वाला नृत्य करेंगे प्रस्तुत

chhattisgarh, entertainment, Govt Schemes, News, tourism
रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में आगामी शुक्रवार 27 दिसंबर से आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में शामिल होने वाले दलों के अपने अपने स्थानों से प्रतियोगिता में सम्मिलित होने के लिए रायपुर रवाना होने की जानकारियां प्राप्त होने लगी है। अरुणाचल प्रदेश जैसे दूरदराज के कलाकार रविवार को रायपुर के लिए रवाना हो चुके हैं और उत्तराखंड के कलाकार आज रवाना होने वाले  हैं। प्रतिभागियों में जबरदस्त उत्साह है। देश के 25 राज्यों के आदिवासी नृत्यदल इस समारोह में भाग ले रहे हैं। इनमे कुछ स्थानों के आदिवासी दल पहली बार छत्तीसगढ़ आ रहे हैं। अंडमान के निकोबारी और लद्दाख के आदिवासी समूह इस महोत्सव में भाग ले रहे हैं। इनमें लद्दाख का नृत्यदल एक विवाह नृत्य प्रस्तुत करेगा वहीं निकोबारी के कलाकार अपने पूर्वजों के सम्मान के किये जाने वाला नृत्य प्रस्तुत करेंगे। लद्दाखी विवाह नृत्य लद्दाख दे