chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: train accident

ट्रैक पर गिरी 1 साल की बच्ची के ऊपर से गुजरी ट्रेन, खरोंच भी नहीं आई

ट्रैक पर गिरी 1 साल की बच्ची के ऊपर से गुजरी ट्रेन, खरोंच भी नहीं आई

india
मथुरा (एजेंसी) | जाको राखे सांईया मार सके ना कोई यह काहवत आज मथुरा रेलवे स्टेशन में घटी घटना पर फिट बैठती हैं। मथुरा रेलवे स्टेशन में एक महिला यात्री की गोद से एक साल की बच्ची छूटकर रेलवे ट्रैक पर जा गिरी। स्टेशन परिसर में उपस्थित लोग इस दृश्य को देखकर सहम गए। बच्ची के ऊपर से ट्रेन गुजर गई। इसके बाद जो हुआ, वो वास्तव में चमत्कार से कम नहीं है। मथुरा रेलवे स्टेशन पर एक महिला यात्री की गोद से 1 साल की बच्ची छूटकर रेलवे ट्रैक पर गिर गई। उसके ऊपर से ट्रेन के 22 डिब्बे गुजर गए। लेकिन बच्ची सही सलामत बच गई। ट्रेन के गुजरने के बाद लोगों ने बच्ची को उठा लिया। बच्ची के माता-पिता झांसी जाने के लिए समता एक्सप्रेस पर चढ़ रहे थे इसी दौरान धक्का-मुक्की में वह मां की गोद से छूटकर ट्रैक पर जा गिरी। बच्ची के पैर पटरी से सटे हुए थे। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); यह वाकया हुआ एक
अमृतसर ट्रेन हादसे पर PM मोदी और CM रमन सिंह ने शोक व्यक्त किया,

अमृतसर ट्रेन हादसे पर PM मोदी और CM रमन सिंह ने शोक व्यक्त किया,

india
अमृतसर (एजेंसी) | पंजाब के अमृतसर शहर के जोड़ा बाजार में रावण दहन देख रहे लोग शुक्रवार को दो ट्रेनों की चपेट में आ गए। जोड़ा रेलवे फाटक के पास हुए हादसे ने दशहरे की खुशी मातम में बदल दी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पटाखों के शोर में किसी को ट्रेन का हॉर्न सुनाई नहीं दिया और दो ट्रेनें पटरियों पर खड़े लोगों को रौंदते हुए गुजर गईं। मंजर ऐसा था कि किसी का पैर कहीं पड़ा था, तो किसी का सिर कहीं पड़ा था। चश्मदीदों ने कहा कि हादसे के बाद रेल पटरियों के 150 मीटर के दायरे में लाशें बिखरी नजर आ रही थीं। इसे देखकर 1947 के बंटवारे का मंजर याद आ गया। लोगों ने कहा- मदद को नहीं आया प्रशासन चश्मदीदों ने कहा कि मृतक संख्या 200 तक भी जा सकती है। हादसे के बाद प्रशासन तुरंत मदद को नहीं अाया। जिन मांओं ने अपने बच्चे खोए हैं, उनका क्या होगा? एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि हादसे में कई बच्चे और महिलाएं म
दशहरे की खुशियाँ बदली मातम में, अमृतसर में ट्रेन हादसे ने ले ली सैकड़ो जाने

दशहरे की खुशियाँ बदली मातम में, अमृतसर में ट्रेन हादसे ने ले ली सैकड़ो जाने

india
अमृतसर (एजेंसी) | पंजाब के अमृतसर शहर के जोड़ा बाजार में रावण दहन देख रहे लोग शुक्रवार को दो ट्रेनों की चपेट में आ गए। जोड़ा रेलवे फाटक के पास हुए हादसे ने दशहरे की खुशी मातम में बदल दी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पटाखों के शोर में किसी को ट्रेन का हॉर्न सुनाई नहीं दिया और दो ट्रेनें पटरियों पर खड़े लोगों को रौंदते हुए गुजर गईं। मंजर ऐसा था कि किसी का पैर कहीं पड़ा था, तो किसी का सिर कहीं पड़ा था। चश्मदीदों ने कहा कि हादसे के बाद रेल पटरियों के 150 मीटर के दायरे में लाशें बिखरी नजर आ रही थीं। इसे देखकर 1947 के बंटवारे का मंजर याद आ गया। वहाँ मौजूद लोगों के मुताबिक रावण दहन का कार्यक्रम शाम 6 बजे था। जिसमे मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू जो कि चीफ गेस्ट थी देरी से पहुंचीं। इस कारण से कार्यक्रम 7 बजे के बाद शुरू हुआ, तब तक अंधेरा हो चुका था। तक़रीबन 7:12 PM बजे के आसप