chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: swami vivekanada

स्वामी विवेकानंद की स्मृति में स्मारक बनाकर बूढ़ापारा स्थित भवन को किया जाएगा संरक्षित, दर्रेकसा के पास स्थित गुफा को भी पर्यटन क्षेत्र बनाया गया

स्वामी विवेकानंद की स्मृति में स्मारक बनाकर बूढ़ापारा स्थित भवन को किया जाएगा संरक्षित, दर्रेकसा के पास स्थित गुफा को भी पर्यटन क्षेत्र बनाया गया

chhattisgarh, News, special, tourism
रायपुर | छत्तीसगढ़ की राजधानी में स्वामी विवेकानंद की याद में राष्ट्रीय स्मारक बनाया जाएगा। यह बातें 30 साल पहले चर्चा में आईं थी, मगर अब यह सच साबित होती दिख रही हैं। अब तक किसी न किसी वजह से स्मारक बनाने का काम रुका ही हुआ था। दरअसल रायपुर में जहां स्वामी विवेकानंद रहे थे, वह स्थान रायबहादुर भूतनाथ डे चेरिटेबल ट्रस्ट  के अधीन है। उचित व्यवस्थापन तय न हो पाने की सूरत में यहां कुछ भी काम अब तक नहीं हो सका था। मगर अब 2 जनवरी को हुए कैबिनेट के फैसले में ट्रस्ट को जमीन और भवन देने के मुद्दे पर निर्णय लिया गया। ट्रस्ट को नगर निगम के पास मौजूद भूमि में स्थान दिया जाएगा। वर्तमान में ट्रस्ट स्कूल भी चला रहा है, इन्हें नया स्कूल भी बनाकर दिया जाएगा ताकि बच्चों की पढ़ाई का नुकसान न हो। मौजूदा स्थिति जिला प्रशासन और ट्रस्ट से मिली जानकारी के मुताबिक ट्रस्ट को जमीन दिए जाने को लेकर हर स्तर पर बात-
रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वामी विवेकानंद जयंती ’राष्ट्रीय युवा दिवस’ पर प्रदेशवासियों को दी बधाई

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वामी विवेकानंद जयंती ’राष्ट्रीय युवा दिवस’ पर प्रदेशवासियों को दी बधाई

chhattisgarh, india, News, special
रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 12 जनवरी को महान दार्शनिक और विख्यात आध्यात्मिक गुरू स्वामी विवेकानंद जी की जयंती ‘राष्ट्रीय युवा दिवस’ पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी है। श्री बघेल ने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि स्वामी जी ने अपने उपदेशों और ओजस्वी व्याख्यानों से देश और दुनिया को संपूर्ण मानव जाति की सेवा का मार्ग दिखाया। यह छत्तीसगढ़ के लिए सम्मान और गर्व की बात है कि स्वामी विवेकानंद ने रायपुर में अपने बचपन का कुछ समय बिताया। राज्य सरकार ने स्वामी जी की अमूल्य यादों को सहेजने और संवारने रायपुर में स्वामी जी के निवास स्थान रायबहादुर भूतनाथ डे चेरिटेबल ट्रस्ट बूढ़ापारा के भवन को स्वामी विवेकानंद स्मारक के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया है। रायपुर के बूढ़ातालाब जो अब विवेकानंद सरोवर के नाम से जाना जाता है, में विवेकानंद जी की ध्यानमग्न मुद्रा में मूर्ति स्