chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: ravindra chaubey

विधानसभा में उठा एनीकट के निर्माण में हुई गड़बड़ियों की जाँच की मांग

विधानसभा में उठा एनीकट के निर्माण में हुई गड़बड़ियों की जाँच की मांग

politics
रायपुर (एजेंसी) | राज्य में एनीटक निर्माण में हुई गड़बड़ी का मुद्दा दूसरे दिन भी गुरुवार को विधानसभा सदन में छाया रहा। बजट सत्र के दौरान चर्चा में कांग्रेस विधायक संतराम नेताम के एक बार फिर से मामला उठाए जाने के बाद जल संसाधन मंत्री रविंद्र चौबे ने अब इसकी जांच का ऐलान कर दिया है। एनीकट कैसे बनते थे, कैसे टूटे, ठेके कैसे दिए, सब जांच का विषय दरअसल कांग्रेस विधायक संतराम नेताम ने बजट सत्र के दौरान गुरुवार को सदन में केशकाल विधानसभा क्षेत्र में एनीकट, स्टॉपडेम और चेकडेम के निर्माण में गड़बड़ी का मामला उठाया था।जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा- पिछली सरकार में एनीकट कैसे बनते थे? टूट-फूट कैसे होते थे? ठेके कैसे दिया जाते थे? यह तो सब जांच का विषय है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); जिसके बाद संतराम नेताम ने सवाल किया कि क्या गड़बड़ी की जांच कराई जाएगी? जिसके जवाब मे
कृषि मंत्री रविंद्र चौबे बोले, ‘बीज खराब होने पर कंपनियों के खिलाफ होगी एफआईआर’

कृषि मंत्री रविंद्र चौबे बोले, ‘बीज खराब होने पर कंपनियों के खिलाफ होगी एफआईआर’

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | कृृषि एवं जलसंसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे ने महानदी भवन में विभागीय योजनाओं  की समीक्षा बैठक में कहा कि बीज उत्पादक कंपनियों के बीज खराब होने पर संबंधित फर्मों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया जाएगी। कृषि योजनाओं का मैदानी क्षेत्रों में क्रियान्वयन दिखना चाहिए। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); चौबे ने कृषि लागत कम करने के तौर तरीकों पर विशेष बल देते हुए कहा कि किसानों को उन्नत और प्रमाणित बीज मिलने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए। धान, दलहन, तिलहन के प्रमाणित बीजों का पूर्वानुमान कर भण्डारण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कृृषि विश्वविद्यालय के कुलपति को नए कृषि महाविद्यालय खोलने के लिए प्रस्ताव तैयार करने भी कहा। बैठक में कुलपति ने बायो टेक्नालॉजी विभाग द्वारा धान, दलहन, तिलहन एवं फलदार पौधों में किए जा रहे अनुसंधान की जानकारी दी। मंडी बोर्ड को सब्जी उत्पादकों