chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

Tag: Rajnandgaon

राजनांदगाव छत्तीसगढ़ में नक्सली मुठभेड़ जारी, ७ नक्सलियों के मारे जाने की खबर

राजनांदगाव छत्तीसगढ़ में नक्सली मुठभेड़ जारी, ७ नक्सलियों के मारे जाने की खबर

chhattisgarh
राजनांदगाव, विशेष सूत्रों से जारी खबर छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित राजनांदगांव के इलाके में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. सीएएफ, जिला बल और डीआरजी की संयुक्त कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने यहां 7 नक्सली मुठभेड़ में मार गिराए है. यह घटना राजनांदगांव के पथाना बागनदी और बोरतलाव के बीच महाराष्ट्र सीमा से सटे शेरपार और सीतागोटा के बीच हुई है. सुरक्षाबलों को शेरपार और सीतगोटा के बीच घाटियों में नक्सलियों के छिपे होने की सूचना मिली थी. जिसके आधार पर जिला बल, डीआरजी और सीएएफ की एक टीम इस इलाके के लिए रवाना की गई थी. जहां आज सुबह 08.00 से माआवोदियों के साथ मुठभेड़ चल रही है. मुठभेड़ में अभी तक 07 नक्सलियों के शव बरामद किए जा चुके हैं.  कैंप भी ध्वस्त कर दिए हैं. घटना स्थल से सुरक्षाबलों को AK-47, 303 राइफल, 12 बोर बंदूक, सिंगल शाट रायफल सहित और अन्य गोला बारूद बरामद हूआ है. नक्सलियों औ
शर्मनाक: गैंगरेप के आरोपी जेल में, केस दबाने के प्रयास पर ग्रामीणों से पूछताछ शुरू

शर्मनाक: गैंगरेप के आरोपी जेल में, केस दबाने के प्रयास पर ग्रामीणों से पूछताछ शुरू

chhattisgarh
राजनांदगाव (एजेंसी) | डोंगरगांव के चारभाठा में 10 साल की बच्ची से हुए गैंगरेप के मामले में पुलिस ग्रामीणों से पूछताछ कर रही है। मंगलवार को कुछ ग्रामीणों से बयान लिया गया व गांव में हुई मीटिंग के संबंध में पुलिस ने जानकारी जुटाई। अगले दिन भी कुछ ग्रामीणों से मामले में पूछताछ किए जाने की बात पुलिस ने कही है। गैंगरेप की घटना 14 जुलाई से हुई थी, इसके बाद परिजन सीधे थाने नहीं पहुंचे थे। ग्रामीण स्तर पर मामले को सुलझाने के लिए बैठक रखी गई थी। इसे पॉक्सो एक्ट का उल्लंघन माना जाता है। इसे ही ध्यान में रखकर अब पुलिस बैठक रखने वालों सहित बैठक में हुई चर्चाओं की जानकारी जुटा रही है। घटना के बाद मामले को ग्रामीण स्तर पर ही दबाने का प्रयास किया जा रहा था। लेकिन बैठकों में बात नहीं बनी और मामला थाने तक पहुंचा। मामला दबाने के लिए कौन- कौन प्रयासरत थे और बैठकें किन-किन के दबाव में रखी गई थी, इसकी जांच क
बच्चों के परिजन बोले- वे पाल नहीं पा रहे थे, इसलिए मदरसा पढ़ने भेजा

बच्चों के परिजन बोले- वे पाल नहीं पा रहे थे, इसलिए मदरसा पढ़ने भेजा

chhattisgarh
राजनांदगांव (एजेंसी) | गुरुवार को हावड़ा-मुंबई मेल से रेस्क्यू कराए गए 33 बच्चों के मामले में आरपीएफ की लापरवाही भी सामने आई। इतने बच्चे देख आरपीएफ ने कोई पूछताछ नहीं की। मामले में टीटीई ने भी आराम से कह दिया, हम बेवजह किसी यात्री को क्यों परेशान करें। महिला वकीलों ने पूछा तब जब साढ़े नौ सौ किमी की यात्रा पूरी हो चुकी थी। मामले काे मानव तस्करी से भी जोड़कर देखा जा रहा है। बच्चों को सत्यापन के लिए बाल गृह व आश्रय गृह दुर्ग में रखते हुए बाल कल्याण समिति द्वारा अपने संरक्षण में लिया है। 10 बच्चों को दुर्ग बालगृह व 23 बच्चों को बोरसी शेल्टर होम में रखा गया है। मामले में 33 बच्चों को भागलपुर कटिहार जिले से पढ़ाने नंदूरबार (महाराष्ट्र) के मदरसे में ले जाना बताया। कुछ परिजन ने बताया कि वे बच्चे नहीं पाल पा रहे थे, इसलिए मदरसा भेजा। शिक्षक ले जा रहा था ट्रेन से बच्चों को मामले में हाफिज शाकिर ह
तस्करी कर ले जाए जा रहे 38 बच्चे हावड़ा-मुंबई मेल से बरामद, तीन गिरफ्तार

तस्करी कर ले जाए जा रहे 38 बच्चे हावड़ा-मुंबई मेल से बरामद, तीन गिरफ्तार

chhattisgarh
राजनांदगांव (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में ट्रेन के जरिए बच्चों की तस्करी का भंडाफोड़ हुआ है। जीआरपी ने गुरुवार को हावड़ा-मुंबई मेल से 38 बच्चों को बरामद कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी बच्चों को ओडिशा से महाराष्ट्र लेकर जा रहे थे। बरामद बच्चे बिहार और ओडिशा के रहने वाले बताए जा रहे हैं। जीआरपी ने रेलवे स्टेशन पर रिटायर्ड डीजीपी राजीव श्रीवास्तव व महिला वकील के सहयोग से इन बच्चों को बरामद किया है। बरामद किए गए बच्चों की उम्र 5 से 14 वर्ष है। उर्दू पढ़ाने और घुमाने की बात कही, पर नहीं दिखा सका कोई दस्तावेज जानकारी के मुताबिक, रिटायर्ड डीजीपी राजीव श्रीवास्तव को सूचना मिली कि हावड़ा-मुंबई मेल से कुछ लोग बड़ी संख्या में बच्चों को लेकर जा रहे हैं। उन्होंने इसकी जानकारी रायपुर की महिला वकील स्मिता पांडे को बताया। इस पर स्मिता ट्रेन में सवार हुई और एस 2 और एस 4 कोच में सव
सीएम बघेल की नाराजगी के बाद बिजली कटौती की अफवाह फैलाने वाले पर से हटाई गई राजद्रोह की धारा

सीएम बघेल की नाराजगी के बाद बिजली कटौती की अफवाह फैलाने वाले पर से हटाई गई राजद्रोह की धारा

politics
रायपुर (एजेंसी) | राज्य में बिजली कटौती की अफवाह फैलाने वाले के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज कर गिरफ्तारी होने के बाद मुख्यमंत्री बघेल ने नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी का पक्षधर हूं, राजद्रोह की कार्यवाही उचित नहीं है। उन्होंने शुक्रवार को सुबह ही मामले में हस्तक्षेप कर डीजीपी डीएम अवस्थी और फिर बिजली कंपनी के चेयरमैन शैलेद्र शुक्ला से चर्चा कर ये प्रकरण वापस लेने के निर्देश दिए हैं। बिना तथ्य सोशल मीडिया में अफवाह नहीं फैलाना चाहिए - सीएम बघेल सीएम बघेल ने डोंगरगांव निवासी मांगेलाल अग्रवाल के विरुद्ध दायर FIR से राजद्रोह की धारा हटाने के निर्देश दिए और कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सबको है, विचार व्यक्त करने पर राजद्रोह की कार्यवाही उचित नही। पर बिना तथ्य सोशल मीडिया में अफवाह नहीं फैलाना चाहिए। https://youtu.be/bQfQzPbIBc8 मुख्यमंत्री बघेल ने दोनों अफसरों
सात दिन के लिए विशाल मेगा मार्ट में ताला जड़ा, 2 दिन में खुला, कमिश्नर बोले, “किसी की जान ताे नहीं जा रही जो आज ही कार्रवाई करूं, आज संडे है”

सात दिन के लिए विशाल मेगा मार्ट में ताला जड़ा, 2 दिन में खुला, कमिश्नर बोले, “किसी की जान ताे नहीं जा रही जो आज ही कार्रवाई करूं, आज संडे है”

chhattisgarh
राजनांदगाव (एजेंसी) | जिस विशाल मेगा मार्ट मॉल की अव्यवस्था को लोगों के जान का खतरा बताकर निगम प्रशासन ने सात दिन के लिए सील कर दिया था, वह मॉल मापदंड पूरा किए बगैर ही शुरू हो गया है। दो दिन के भीतर ही संचालक ने बगैर किसी स्वीकृति मॉल शुरू कर दिया और अफसर जानकारी के बाद भी इसे अनदेखा कर रहे हैं। इस कदर मनमानी: नियम ताक पर, जांच व शर्तें भी अधूरी  निगम प्रशासन ने जारी नोटिस में मॉल संचालक से कहा था कि वे सात दिन के भीतर मॉल में रोशनदान, एयरकंडीशनर, फॉयर सेफ्टी सिस्टम सहित सफोकेशन के दूर करने की व्यवस्था करें। सात दिन के भीतर ये समस्या दूर करके अपनी रिपोर्ट दें। इसके बाद निगम के अफसर फिर से पहुंचकर जांच करेंगे, सबकुछ ठीक रहा तो मॉल संचालन की अनुमति मिलेगी। लेकिन दो दिन के भीतर ही संचालक ने दोबारा मेगा मार्ट को शुरू कर दिया। मामले में संचालक से बात करने की कोशिश की गई पर संपर्क ही नहीं हो
#Temple बम्लेश्वरी माता मंदिर डोंगरगढ़, राजनांदगाव

#Temple बम्लेश्वरी माता मंदिर डोंगरगढ़, राजनांदगाव

tourism, travel
छत्तीसगढ़ राज्य के राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ में स्थित है मां बम्लेश्वरी का भव्य मंदिर। पहाड़ों से घिरे होने के कारण इसे पहले डोंगरी और अब डोंगरगढ़ के नाम से जाना जाता है। यहां ऊंची चोटी पर विराजित बगलामुखी मां बम्लेश्वरी देवी का मंदिर। छत्तीसगढ़ ही नहीं देश भर के श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केन्द्र बना हुआ है। हजार से ज्यादा सीढिय़ां चढ़कर हर दिन मां के दर्शन के लिए वैसे तो देश के कोने-कोने से श्रद्धालु यहां आते हैं लेकिन नवरात्रि के दौरान अलग ही दृश्य होता है। जो ऊपर नहीं चढ़ पाते उनके लिए मां का एक मंदिर पहाड़ी के नीचे भी है जिसे छोटी बम्लेश्वरी मां के रूप में पूजा जाता है। अब मां के मंदिर में जाने के लिए रोप वे भी लगाया गया है। मंदिर का इतिहास  लगभग ढाई हजार वर्ष पूर्व इसे कामाख्या नगरी के नाम से जाना जाता था। यहाँ राजा वीरसेन का शासन था। वे नि:संतान थे। संतान की कामना के लिए उन्
जनता कांग्रेस को छोड़कर कांग्रेस में प्रवेश करने वाले मेहुल मारू और साथियों ने कांग्रेस के प्रत्याशी भोलाराम को दिया समर्थन

जनता कांग्रेस को छोड़कर कांग्रेस में प्रवेश करने वाले मेहुल मारू और साथियों ने कांग्रेस के प्रत्याशी भोलाराम को दिया समर्थन

politics
राजनांदगांव (एजेंसी) | जोगी कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद शहर जिला अध्यक्ष रहे मेहुल मारू ने गुरुवार को समर्थकों सहित कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी भोलाराम साहू से गेंदाटोला में मिलकर उन्हें समर्थन दिया। मेहुल ने कहा आज से वे और उनके साथी कांग्रेस प्रत्याशी भोलाराम साहू के पक्ष में वार्डों और ग्रामीण क्षेत्रों में प्रचार करेंगे। मेहुल मारू ने जोगी कांग्रेस पर तंज कसते हुए प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी से सवाल किया कि लोकसभा चुनाव में पार्टी ने अपने प्रत्याशियों नहीं उतारा। गठबंधन बसपा से किया है और उनकी पार्टी के नेतागण प्रदेश भर में कांग्रेस का समर्थन कर रहे, जिसका अमित जोगी स्वागत क्यों नहीं कर रहे। समर्थन देने कुबेर वैष्णव, राजेश चौहान, नंदलाल बंदे, दिनेश विश्वकर्मा, अभय झा, खिलेश बंजारे, निहाल नकवी, कृष्णा भारती, निखिल सागर, चंद्रकांत पटेल, अरविंद साहू, आदि उपस्थित रहे।
55 बच्चों के भविष्य से किया खिलवाड़ तत्कालीन संकुल समन्वयक हुए सस्पेंड

55 बच्चों के भविष्य से किया खिलवाड़ तत्कालीन संकुल समन्वयक हुए सस्पेंड

chhattisgarh
राजनांदगाव (एजेंसी) | जवाहर नवोदय विद्यालय की प्रवेश परीक्षा से 55 बच्चों को वंचित करने व भविष्य से खिलवाड़ करने के मामले में डीईओ जीके मरकाम ने मोहला ब्लॉक के तत्कालीन संकुल समन्वयक चंद्रमणि वाल्दे को सस्पेंड कर दिया है। चंद्रमणि वर्तमान में मरकाटोला माध्यमिक शाला में पदस्थ हैं। संकुल समन्वयक रहते हुए उक्त शिक्षक ने 55 बच्चों को नवोदय की प्रवेश परीक्षा में बिठाने के लिए पंजीयन किया था। लेकिन उस शिक्षक की लापरवाही के चलते बच्चे परीक्षा से वंचित रह गए। इस खबर के बाद डीईओ ने शिक्षक को सस्पेंड कर दिया है। पंजीयन की पहले चरण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई थी पर कक्षा पांचवीं से संबंधित जानकारी को उक्त शिक्षक ने अपडेट नहीं किया। इस वजह से बच्चों के पास प्रवेश पत्र नहीं आया। यानी की जरूरी रिकॉर्ड के अभाव में बच्चों का पंजीयन ही रद्द हो गया। पालकों ने जब इसकी शिकायत की तो बीईओ ने डीईओ तक सूचना पहु
पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में महिला माओवादी ढेर, मौके से एक कार्बाइन गन बरामद

पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में महिला माओवादी ढेर, मौके से एक कार्बाइन गन बरामद

chhattisgarh
राजनांदगांव (एजेंसी) | सर्चिंग ऑपरेशन के दौरान मंगलवार को भावे के जंगल में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में एक महिला वर्दीधारी नक्सली ढेर हो गई। महिला नक्सली के पास से कार्बाइन गन बरामद हुई है। मुठभेड़ अभी जारी है। लोकसभा चुनाव का बिगुल बजते ही नक्सलियों ने उत्पात मचाना शुरू कर दिया है। इधर चुनाव को देखते हुए रूटीन सर्चिंग भी तेज कर दी गई है। मंगलवार को आईटीअीपी, बीएसएफ और जिला पुलिस बल की संयुक्त टीम भावे के जंगल में सर्चिंग पर निकली थी। सर्चिंग के दौरान नक्सलियों से सामना हो गया। बताया जा रहा है कि इलाके में अभी काफी महिला नक्सली मौजूद हैं। रह-रहकर फायरिंग हो रही है। जवान नक्सलियों का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। दंतेवाड़ा में आईईडी ब्लास्ट में एक जवान शहीद सोमवार शाम 4 बजे के करीब दंतेवाड़ा के अरनपुर और कोंडापारा के बीच सर्चिंग पर निकले जवान आईईडी के चपेट में आ गए। इसके बाद करीब 2