Shadow

Tag: rajim punni mela

राजिम माघी पुन्नी मेला : आदिवासियों के विकास के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण: डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम

राजिम माघी पुन्नी मेला : आदिवासियों के विकास के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण: डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम

chhattisgarh, News, tourism
आदिमजाति, अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने राजिम माघी पुन्नी मेला के 11वें दिन आज राजिम में विशाल आदिवासी सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि आदिवासी समाज को विकास की मुख्यधारा में आने के लिए शिक्षा को अपनाना होगा। शिक्षा के बगैर कोई भी समाज विकास नहीं कर सकता। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अगुवाई में हमारी सरकार स्थानीय संस्कृति और रीति-रिवाजों को सहेजने का काम कर रही है। समाज में जो कमियां है उसे शिक्षा से ही दूर किया जा सकता है। उन्होंने आदिवासियों को सामूहिक वनाधिकार पत्र के लिए मांग करने का सुझाव दिया। डॉ. टेकाम ने कहा कि हमारी सरकार ने आदिवासियों के हित के लिए समर्थन मूल्य पर 8 लघु वनोपजों की खरीद को बढ़ाकर 22 कर दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि शराबबंदी की ओर सरकार धीरे-धीरे आगे बढ़ रही है। शराबबंदी के लिए समाज को भी आगे आना होगा। उन्होंने विश्व...
राजिम माघी पुन्नी मेला 2020 : विदेश में भी लोगो को आकर्षित कर रहा है, सोशलमीडिया से दुनियाभर के लोग बन रहे है गवाह

राजिम माघी पुन्नी मेला 2020 : विदेश में भी लोगो को आकर्षित कर रहा है, सोशलमीडिया से दुनियाभर के लोग बन रहे है गवाह

chhattisgarh, News, special
गरियाबंद. जिला अपने प्राकृतिक, धार्मिक एवं ऐतिहासिक स्थलों के लिये प्रदेश ही नही देश के पर्यटन मानचित्र पर एक अलग स्थान रखता है। यह वनांचल अपने सुरम्य वादियों, पर्वत, झरना, नदियों को अपने आप में समेटे हुये है। यहां पर पवित्र धार्मिक नगरी राजिम है, वहीं जतमई और घटारानी जैसे दो महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल भी पर्यटकों को बरबस अपनी ओर आकर्षित करता है। जतमई धाम स्थल गरियाबंद जिले में रायपुर से 85 किमी की दूरी पर स्थित है। जंगल के  बीच खूबसूरत स्थलों के बीच है यह जतमई मंदिर। जतमई मां की पत्थर की मूर्ति गर्भगृह के अंदर रखा गया है। राजिम में इन दिनों राजिम माघी पुन्नी मेला की धूम है। यहां पर विदेशी सैलानी भी पहुंच रहे हैं। यह मेला  महाशिवरात्रि तक चलेगा। जिले के पर्यटन स्थल भी सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। यहां के पर्यटन स्थल घने जंगलों से ढंकी है और यहां कल-कल बहते पानी की आवाज सुनना ...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कल शाम महानदी की महाआरती में हुए शामिल, राजिम माघी पुन्नी मेला का शुभारंभ हुआ

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कल शाम महानदी की महाआरती में हुए शामिल, राजिम माघी पुन्नी मेला का शुभारंभ हुआ

chhattisgarh, News, special
राजिम। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राजिम माघी पुन्नी मेला के शुभारंभ अवसर पर महानदी की महाआरती में शामिल हुए। महाआरती में धर्मस्व मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, वाणिज्य कर मंत्री श्री कवासी लखमा, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडि़या, अभनपुर विधायक श्री धनेन्द्र साहू, राजिम विधायक श्री अमितेष शुक्ल, सिहावा विधायक लक्ष्मी धु्रव, पूर्व सांसद महासमुंद चन्दूलाल साहू के अलावा साधु-संत और बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने भगवान राजीव लोचन की पूजा-अर्चना कर प्रदेश की खुशहाली की कामना की मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज राजिम के भगवान राजीव लोचन मंदिर में पूजा-अर्चना कर प्रदेश की खुशहाली की कामना की। इस दौरान उनके साथ धर्मस्व मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, वाणिज्य कर मंत्री श्री कवासी लखमा, महिला एवं बाल ...
राजिम माघी मेला विशेष: दर्शन कीजिए राजिम स्थित भव्य राजीव लोचन मंदिर

राजिम माघी मेला विशेष: दर्शन कीजिए राजिम स्थित भव्य राजीव लोचन मंदिर

chhattisgarh, News, special, tourism
छत्तीसगढ़ के प्रयाग शहर राजिम में स्थित है भगवान राजीव लोचन का भव्य मंदिर। राजधानी रायपुर से दूर गरियाबंद जिले के राजिम शहर में महानदी के संगम के किनारे स्थित मंदिर में प्रतिवर्ष माघ मास में पुन्नी मेले का भी आयोजन होता है। राजिम को प्रयागराज जैसे प्रयाग स्थल के रूप में माना जाता है, यह पैरी  नदी, सोढ़ुर नदी और महानदी नदी का संगम है। यही कारण है कि इस संगम स्थान में अस्थि विसर्जन  और पिंडदान, श्राद्ध और पूजा में किया जाता है। यहाँ कई ऐतिहासिक हिन्दू मंदिर है। मंदिर का इतिहास राजीवलोचन मंदिर यहां सभी मंदिरों से प्राचीन है। नल वंशी विलासतुंग के राजीवलोचन मंदिर अभिलेख के आधार पर इस मंदिर को 8 वीं शताब्दी का कहा गया है। इस अभिलेख में महाराजा विलासतुंग द्वारा विष्णु के मंदिर के निर्माण करने का वर्णन है। वीडियो देखे https://youtu.be/--TZz3KX8NE धार्मिक जनश्रुति   एक मान्यता के अन...
मुख्यमंत्री ने राजिम माघी पुन्नी मेले की प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं, आज शाम 7 बजे मुख्य मंच राजिम से करेंगे मेला का शुभारंभ

मुख्यमंत्री ने राजिम माघी पुन्नी मेले की प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं, आज शाम 7 बजे मुख्य मंच राजिम से करेंगे मेला का शुभारंभ

chhattisgarh, entertainment, News, special
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 9 फरवरी से राजिम में प्रारंभ हो रहे माघी पुन्नी मेला और शिवरीनारायण मेले की प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। श्री बघेल ने कहा है कि राजिम में महानदी, पैरी और सोंढूर नदियों के पवित्र त्रिवेणी संगम में सदियों से इस मेले का आयोजन हो रहा है। छत्तीसगढ़ ही नहीं आसपास के राज्यों के लोग भी बड़ी संख्या में श्रद्धा के साथ इस मेले में शामिल होते हैं। राज्य सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ की गौरवशाली सांस्कृतिक परम्पराओं को संरक्षित और संवर्धित करने के प्रयासों के तहत राजिम माघी पुन्नी मेले को उसके प्राचीन मूल स्वरूप में फिर से आयोजित किया जा रहा है। माघ पूर्णिमा पर शिवरीनारायण में महानदी, शिवनाथ और जोंक नदी के पावन संगम पर शुरू होने वाले मेले में भी लोग बड़ी श्रद्धा और आस्था के साथ शामिल होते है। श्री बघेल ने महानदी के तट पर सिरपुर में कल से प्रारंभ हो रहे सिरपुर म...
राजिम माघी पुन्नी मेला कल 9 फरवरी से, तैयारी अंतिम चरण पर, धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू ने किया मेला क्षेत्र का निरीक्षण

राजिम माघी पुन्नी मेला कल 9 फरवरी से, तैयारी अंतिम चरण पर, धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू ने किया मेला क्षेत्र का निरीक्षण

chhattisgarh, News, special
राजिम। देश दुनिया में अपनी अलग पहचान बनाने वाले राजिम माघी पुन्नी मेला 9 फरवरी से शुरू हो रहा हैं। मेले की तैयारी अंतिम चरण पर है। धर्मस्व मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू लगातार मेला क्षेत्र का भ्रमण कर तैयारियों का जायजा ले रहे हैं। उन्होेनें मौसम को ध्याान में रखते हुए वाटर प्रुफ पंडाल लगाने के निर्देश दिए है। राजिम माघी पुन्नी मेला के तहत त्रिवेणी संगम पर रेत की अस्थायी सड़कों का निर्माण एवं राजिम को अन्य शहरों एवं गांवों से जोड़ने वाली सड़कों के मरम्मत का कार्य लगभग पूर्णता की ओर है। जल संसाधन विभाग द्वारा विशेष पर्व स्नान के लिए कुण्ड निर्माण एवं नदी में पानी छोड़ने की तैयारी की गई है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा मेला क्षेत्र में पेयजल की व्यवस्था तथा अस्थायी शौचालय बनाए गए है। धर्मस्व मंत्री ने निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य विभाग को मेला क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं की ...
राजिम माघी पुन्नी मेला 9 फरवरी से तैयारियां जोरो पर, अलग-अलग विभागों को सौंपी गई जिम्मेदारी

राजिम माघी पुन्नी मेला 9 फरवरी से तैयारियां जोरो पर, अलग-अलग विभागों को सौंपी गई जिम्मेदारी

chhattisgarh, india, News, special
राजिम माघी पुन्नी मेला शुरू होने में सिर्फ पांच दिन रह गए हैं। महानदी, पैरी और सोंढूर नदी के संगम पर माघ पूर्णिमा 9 फरवरी से शुरू होकर महाशिवरात्रि 21 फरवरी तक चलने वाली इस मेले की तैयारी जोरो पर हैं। धर्मस्व मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने मेला समिति की बैठक लेकर राजिम पुन्नी मेले को उसके मूल स्वरूप में मेले के रूप में पूरी भव्यता के साथ आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। श्री साहू ने मेला स्थल का निरीक्षण कर सभी आवश्यक तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए विभिन्न विभागों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौपी  है। उन्होंने मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को राजिम लोचन भगवान के दर्शन तथा मेला भ्रमण के दौरान किसी प्रकार की दिक्कत नही हो, इसके लिए पुख्ता इन्तजाम करने के निर्देश दिए है। उन्होंने मेला अवधि के दौरान आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों के संबंध में भी गरियाबंद जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन सह...
रायपुर : राजिम माघी पुन्नी मेला 9 फरवरी से धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू ने की तैयारियों की समीक्षा, स्थल का निरीक्षण भी किया

रायपुर : राजिम माघी पुन्नी मेला 9 फरवरी से धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू ने की तैयारियों की समीक्षा, स्थल का निरीक्षण भी किया

chhattisgarh, News, special, tourism
रायपुर। धार्मिक न्यास और धर्मस्व मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने आज अपने रायपुर स्थित निवास कार्यालय में राजिम माघी पुन्नी मेला समिति की बैठक लेकर मेला की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने राजिम त्रिवेणी में हर साल माघ पूर्णिमा से शुरू होकर महाशिवरात्रि तक चलने वाले धार्मिक आयोजन को मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप उसके मूल स्वरूप में मेला के रूप में पूरी भव्यता के साथ आयोजित करने मेला समिति को निर्देश दिए। राजिम माघी पुन्नी मेला का शुभारंभ 9 फरवरी से शुरू होकर 21 फरवरी तक चलेगा। बैठक मेें मेला के शुभारंभ और समापन तथा मेला अवधि में आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की रूपरेखा पर विस्तार से चर्चा हुई। धर्मस्व मंत्री ने कहा कि मेला से संबंधित पिछले अनुभवों के आधार पर मेला और बेहतर कैसे किया जा सकता है, यदि पिछले आयोजन में कोई कमी या समस्या रही हो, उसे ठीक किया जाए। उन्हो...
राजिम माघी पुन्नी मेला : आस्था, आध्यात्म और संस्कृति का संगम

राजिम माघी पुन्नी मेला : आस्था, आध्यात्म और संस्कृति का संगम

chhattisgarh, News, special
छत्तीसगढ़ के प्रयागराज के नाम से प्रसिद्ध राजिम का विशेष धार्मिक, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक महत्व है। प्राचीन काल से ही राजिम मेला लोगों की आस्था, श्रद्धा और विश्वास का केन्द्र रहा है। राजधानी रायपुर से मात्र 45 किलोमीटर दूर राजिम में प्रतिवर्ष फरवरी-मार्च में माघ पूर्णिमा से महाशिवरात्रि तक लगभग पन्द्रह दिन ‘माघी पुन्नी मेला लगता है। ऐसी मान्यता है कि हिन्दू धर्म के चार धामों में से एक जगन्नाथपुरी की यात्रा तब तक पूरी नहीं होती जब तक श्रद्धालु राजिम की यात्रा नहीं ंकर लेते हैं। भगवान श्री राजीव लोचन जी का मंदिर भी राजिम की प्रसिद्धी का एक प्रमुख कारण है। पुरातात्विक प्रमाणों के अनुसार यह मंदिर आठवीं-नवमीं शताब्दी का है। यह मंदिर चतुर्भुजी आकार का है जो भगवान विष्णु को समर्पित है। काले पत्थर से बनी चतुर्भुजीय विष्णु की प्रतिमा दर्शनीय है। इसके अलावा त्रिवेणी संगम स्थल पर कुलेश्वर महादेव क...
राजिम माघी पुन्नी मेला की तैयारी शुरू, केन्द्रीय समिति की बैठक 17 जनवरी को राजिम में

राजिम माघी पुन्नी मेला की तैयारी शुरू, केन्द्रीय समिति की बैठक 17 जनवरी को राजिम में

chhattisgarh, News, special
गरियाबंद | राजिम माघी पुन्नी मेला की तैयारी शुरू हो गई है। धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू 17 जनवरी को मेला आयोजन की तैयारियों के संबंध में केन्द्रीय समिति की बैठक लेंगे। यह बैठक सांस्कृतिक भवन राजिम में शाम 5 बजे होगी। बैठक में रायपुर संभाग के कमिश्नर, रायपुर, गरियाबंद एवं धमतरी जिले के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक, प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल, संचालक संस्कृति एवं पुरातत्व, मुख्य वन संरक्षक और लोक निर्माण, जल संसाधन तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के प्रमुख अभियंता उपस्थित रहेंगे। राजिम माघी पुन्नी मेला वर्ष 2020 के आयोजन की तैयारियाँ  के संबंध में केन्द्रीय समिति की बैठक शुक्रवार 17 जनवरी 2020 को सायं 5 बजे सांस्कृतिक भवन राजिम में आयोजित की गई है। समिति के अध्यक्ष तथा प्रदेश के धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, गृह व लोक निर्माण मंत्री और गरियाबंद जिले के प्रभारी म...