chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: kerala

क्या है सबरीमाला विवाद? पढ़िए भगवान अयप्पा के बारे में वो सब जो आप जानना चाहते है

क्या है सबरीमाला विवाद? पढ़िए भगवान अयप्पा के बारे में वो सब जो आप जानना चाहते है

special
सबरीमाला मंदिर महिला प्रवेश को लेकर लगातार चर्चा का विषय बना हुआ है हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने महिला प्रवेश पर प्रतिबंध को हटाए जाने का फैसला सुनाया तब से कई हिंदूवादी संगठन इसका विरोध कर रहे हैं आइए समझते हैं यह विवाद क्या है? क्यों इसका विरोध हो रहा है? भारत के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है विश्‍व प्रसिद्ध सबरीमाला का मंदिर। यहां हर दिन लाखों लोग दर्शन करने के लिए आते हैं। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर लगा प्रतिबंध हटा दिया है। करीब 800 साल पुराने इस मंदिर में ये मान्यता पिछले काफी समय से चल रही थी कि महिलाओं को मंदिर में प्रवेश ना करने दिया जाए। कौन है भगवान अयप्पा भगवान अयप्पा विष्णु और शिव के पुत्र हैं. यह किस्सा उनके अंदर की शक्तियों के मिलन को दिखाता है न कि दोनों के शारीरिक मिलन को। इनसे सस्तव नामक पुत्र का जन्म का हुआ जिन्हें दक्षिण भारत
सुप्रीम कोर्ट: महिलाओ को मिला सबरीमाला में प्रवेश करने का अधिकार, 800 साल पुराणी प्रथा समाप्त

सुप्रीम कोर्ट: महिलाओ को मिला सबरीमाला में प्रवेश करने का अधिकार, 800 साल पुराणी प्रथा समाप्त

india
नई दिल्ली (एजेंसी) | सुप्रीम कोर्ट ने आज शुक्रवार को केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओ के प्रवेश को लेकर ऐतिहासिक फैसला देते हुए मंदिर में हर उम्र की महिलाओं को प्रवेश करने और पूजा करने की इजाजत दे दी। इससे पहले यहां 10 साल की बच्चियों से लेकर 50 साल तक की महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी थी। यह प्रथा 800 साल से चली आ रही थी। एक याचिका में इस नियम को चुनौती दी गई थी। केरल सरकार भी मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के पक्ष में थी। सबरीमाला मंदिर का संचालन करने वाला त्रावणकोर देवस्वम बोर्ड अब कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर करने की तैयारी में है। महिलाएं पुरुषों से कमतर नहीं -सुप्रीम कोर्ट  चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने शुक्रवार को सुनाए फैसले में कहा, "सभी अनुयायियों को पूजा करने का अधिकार है। लैंगिक आधार पर श्रद्धालुओं से भेदभाव नहीं किया जा सकता। महिलाएं पुरुषों से कमतर नहीं हैं। एक तरफ आप महिलाओ
बाढ़ से तबाह केरल के लिए पीएम मोदी ने 500 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की

बाढ़ से तबाह केरल के लिए पीएम मोदी ने 500 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की

india
केरल (एजेंसी) | केरल में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है, कई इलाकों में हाहाकार है। कई दशकों बाद आई इस बाढ़ की विभीषिका ने अपना विकराल रूप दिखाया है, जिसमें अब तक 324 लोगों की मौत हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल में बाढ़ की विभीषिका की समीक्षा करने के बाद केरल को तत्काल 500 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में बताया कि मोदी ने सभी मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये की सहायता राशि और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपये प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से भी देने की घोषणा की है। कोच्चि में एक उच्च स्तरीय बैठक की समीक्षा के बाद प्रधानमंत्री ने बाढ़ से प्रभावित कुछ क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। बाढ़ की तबाही से जूझ रहे अलुवा-त्रिशुर क्षेत्र के हवाई सर्वेक्षण के दौरान प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल पी सदाशिवम, म
छत्तीसगढ़ सरकार केरल को करेगी 10 करोड़ की मदद, मालगाड़ी से राशन भेजी जाएगी

छत्तीसगढ़ सरकार केरल को करेगी 10 करोड़ की मदद, मालगाड़ी से राशन भेजी जाएगी

chhattisgarh
रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार केरल बाढ़ पीड़ितों को सहायता राशि उपलब्ध करायेगी। केरल बाढ़ पीड़ितों को छत्तीसगढ़ की तरफ से एक रैक चावल और ढ़ाई करोड़ रुपये की सहायता राशि उपलब्ध करायी जायेगी। ये कुल सहायता राशि करीब 10 करोड़ रुपये की होगी। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में सीएम हाउस में शनिवार को बैठक हुई। बैठक में केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए चर्चा की गयी। इस बैठक में सीएम सचिवालय के अलावा सभी विभाग के शीर्ष अधिकारी मौजूद थे। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद जल्द ही छत्तीसगढ़ से चावल भेजने की प्रक्रिया शुरू की जायेगी। सोमवार तक एक मालगाड़ी चावल लेकर छत्तीसगढ़ से रवाना होगी। इससे पहले मुख्यमंत्री रमन सिंह ने केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयनन से फोन पर बात की। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने केरल सरकार को आश्वस्त किया कि प्राकृतिक आपदा की इस घड़ी में छत्तीसगढ़ सरकार उनके साथ खड़ी है। और सरकार उन्ह
मानवता के लिए आगे आये, बाढ़ प्रभावित केरल के लोगो की मदद करने के लिए दान करे

मानवता के लिए आगे आये, बाढ़ प्रभावित केरल के लोगो की मदद करने के लिए दान करे

india
गोंडवाना एक्सप्रेस आप सभी से अपील करता है कि आप भी केरल के लोगो की मदद के लिए आगे आये। केरल () | केरल में बाढ़ के रूप में भंयकर प्राकृतिक आपदा आई हुई है। इस बाढ़ से लाखों की ज़िंदगी प्रभावित हुई है। अबतक करीब 20 हज़ार करोड़ के नुकसान का अनुमान है। केरल को करीब 2000 करोड़ रुपये की तत्काल मदद की ज़रुरत है। केंद्र सरकार ने 500 करोड़ देने की घोषणा की है। लेकिन बाकी की राशि के लिए लोगों को भी आगे आना होगा। कई राज्यों ने अपनी ओर से मदद की पेशकश की है। लेकिन जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमारा-आपका फर्ज है कि मुसीबत की इस घड़ी में केरल के लोगों की मदद करें। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हम थोड़ी सी मदद करके केरलवासियों को ये संदेश दे सकते हैं कि मुसीबत की इस घड़ी में केरल के लोगों के साथ पूरा देश खड़ा है। केरल की मुसीबत से पूरा देश लड़ेगा और उसकी मदद करेगा। केरल के लोगों