Shadow

Tag: kawardha

किसानों ने मुख्यमंत्री से मांगी इच्छा मृत्यु, धान न बिक पाने की वजह से 48 घंटे से किसानों का विरोध-प्रदर्शन लगातार जारी

किसानों ने मुख्यमंत्री से मांगी इच्छा मृत्यु, धान न बिक पाने की वजह से 48 घंटे से किसानों का विरोध-प्रदर्शन लगातार जारी

chhattisgarh, News
कवर्धा | जिले के किसान कलेक्टोरेट परिसर के सामने धरने पर बैठे हुए हैं। अब बिरकोना इलाके के किसानों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम एक पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की मांग की है। किसानों का कहना है धान न बिक पाने की वजह से वे परेशान हैं, विरोध जताने के बाद भी जिला प्रशासन का कोई अधिकारी उन तक उनकी बात सुनने नहीं आया, ऐसे में सरकार उन्हें इच्छा मृत्यु की इजाज़त दे। किसानों की दलील है कि धान न बिकने की वजह से उनके सामने आर्थिक संकट पैदा हो रहा है। दरअसल सरकारी धान खरीदी 20 फरवरी को बंद हुई, इससे करीब 10 से 15 दिन पहले ही किसानों से धान किसी न किसी कारण से खरीदना बंद कर दिया गया था। अब जिला प्रशासन के अधिकारी किसी न किसी तरह से किसानों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं। गुरुवार को किसानों ने कलेक्टर को भी उनके दफ्तर से निकलने नहीं दिया था। अब किसानों की रात कलेक्टारेट के सामने ही बीत रही है।...
225 साल बाद भी चार मंजिला इस बावली के दो मंजिल पानी में डूबे हुए हैं, राजस्थान की तर्ज पर किया निर्माण

225 साल बाद भी चार मंजिला इस बावली के दो मंजिल पानी में डूबे हुए हैं, राजस्थान की तर्ज पर किया निर्माण

special
कवर्धा (एजेंसी)| रियासत काल में यहां राजस्थान की तर्ज पर बावली बना है। 225 साल बाद भी चार मंजिला इस बावली का दो मंजिला पानी में डूबा हुआ है। इसके बावजूद पानी का प्रभाव इनके कमरों पर नहीं पड़ता। बहुकोणीय आकृति में बने इस बावली में 8 कमरे हैं, जहां रियासती दौर में राजा- रानी विश्राम किया करते थे। स्थानीय लोगों ने इस बावली को कभी सूखते हुए नहीं देखा निर्माण के समय जलस्रोतों का अध्ययन करने के बाद यहां खोदाई कर बावली बनवाया गया था। इसमें आज भी पानी मौजूद है। पुराने समय में बावली के पानी का उपयोग सिंचाई, पेयजल और फव्वारों में किया जाता था। आज भी इसके पानी का उपयोग सिंचाई में होता है। राजमहल के पास मौजूद बावली खंडहर में तब्दील राजमहल के पास एक अन्य बावली मौजूद है, जिसे रानी बावली के नाम से जानते हैं। देखरेख के अभाव में यह बावली उजाड़ हो चुका है। राजघराने के खड्गराज सिंह इस बावली को संरक्षित...
जवानो के साथ मुठभेड़ के दौरान भाग निकले नक्सली, मौके पर मिले खून के धब्बे, भारी मात्रा में सामान छोड़ गए नक्सली

जवानो के साथ मुठभेड़ के दौरान भाग निकले नक्सली, मौके पर मिले खून के धब्बे, भारी मात्रा में सामान छोड़ गए नक्सली

chhattisgarh
कवर्धा (एजेंसी) | जिले के भोरमदेव अभ्यारण्य के ग्राम बकोदा के जंगलों में गुरुवार सुबह पुलिस और नक्सलियों की मुठभेड़ हो गई। जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली घने जंगल का फायदा उठाकर भाग निकले। जवानों को मौके से नक्सलियों द्वारा छोड़ा गया भारी मात्रा में गोला बारूद और अन्य सामान मिले है। वही घटनास्थल पर खून के धब्बे मिले हैं। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि कुछ नक्सली घायल भी हो सकते हैं। जवानों का सर्चिंग ऑपरेशन अभी जारी है। उनके लिए एक बैकअप टीम को रवाना किया गया है। दरअसल भोरमदेव अभ्यारण्य के बकोदा गांव के जंगल में एक घंटे तक जवानो और नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुई। जब नक्सलियों पर जवान भरी पड़ने लगे तो नक्सली भारी मात्रा में अपना सामान छोड़कर भाग गए। जिसके बाद पुलिस ने सर्चिंग ऑपरेशन जारी कर दिया है। एहतियात के तौर पर बैकअप टीम को भी रवाना किया गया है। एक घंटे तक दोनों ओर से होती रही रुक-रुक...
ट्रक से टकराई स्कूल बस, तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल, ट्रक चालक हुआ फरार

ट्रक से टकराई स्कूल बस, तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल, ट्रक चालक हुआ फरार

chhattisgarh
कवर्धा (एजेंसी) | बच्चों को लेकर स्कूल जा रही निजी स्कूल की बस ट्रक से टकरा गई। टक्कर के बाद ट्रक ड्राइवर मौके से फरार हो गया। टक्कर के समय बस में 6 बच्चे सवार थे। इनमें तीन को गंभीर चोटें आई हैं। तीनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); पांडातराई थाना इलाके में संचालित जेबी पब्लिक स्कूल की बस रोज की तरह बुधवार को भी सुबह करीब 9 बजे बच्चों को लेने के लिए ग्राम कारेसरा से होते हुए ग्राम भरेली जा रही थी। तभी सामने से आ रहे ट्रक के साथ बस की टक्कर हो गई। बस में 6 बच्चे सवार थे। इसमें से दो बच्चों के सिर पर चोट लगी है। वहीं एक बच्चे का हाथ फैक्चर हो गया है। दुर्घटना की जानकारी मिलते ही स्कूल प्रशासन ने निजी वाहन से घायल बच्चों को उपचार हेतु कवर्धा के निजी हॉस्पिटल पहुंचाया। जहां घायल बच्चों का उचित उपचार चल रहा है। दुर्घटना के बाद ट्...