chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: jashpur

जशपुर: सरकारी अस्पताल में शाम की ओपीडी का विरोध, चिकित्सकों ने की शुरू की अनिश्चितकालीन हड़ताल

जशपुर: सरकारी अस्पताल में शाम की ओपीडी का विरोध, चिकित्सकों ने की शुरू की अनिश्चितकालीन हड़ताल

chhattisgarh, News
जशपुर | सरकार ने लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के मकसद से शाम के वक्त भी ओपीडी शुरू करवाई। यह योजना खटाई में जाती नजर आ रही है क्योंकि शाम के वक्त डॉक्टर मरीजों से नहीं मिल रहे। शहर में बाकायदा इसके विरोध में अनिश्चितकालीन हड़ताल भी शुरू की दी गई है। इस हड़ताल में जिले के डॉक्टर शामिल हैं। डॉक्टर चाहते हैं कि ओपीडी सुबह 8 से 2 बजे तक तक ही चले। साडा (छत्तीसगढ़ इन सर्विस डॉक्टर्स एसोसिएशन) के सदस्य डॉक्टर यहां 3 जनवरी से हड़ताल पर हैं। इससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। डॉक्टर हड़ताल में रहने के कारण ओपीडी के वक्त में मरीजों से नहीं मिल रहे। जिला अस्पताल के डॉक्टर शाम की ओपीडी में नहीं बैठ रहे हैं। हालांकि यहां शाम के वक्त कोई न कोई डॉक्टर ड्यूटी जरूर करता है। हड़ताल की वजह से जिले के एक सिविल अस्पताल, आठ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और 32 से अधिक
जशपुर महोत्सव-2019 : मुख्यमंत्री ने जशपुर जिले को दी उद्यानिकी महाविद्यालय की सौगत

जशपुर महोत्सव-2019 : मुख्यमंत्री ने जशपुर जिले को दी उद्यानिकी महाविद्यालय की सौगत

chhattisgarh, News, politics, special
जशपुर | मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने जशपुर जिले में उद्यानिकी महाविद्यालय खोलने की घोषणा की है। वें आज जशपुर जिले के कुनकुरी ब्लॉक मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम पंचायत सलियाटोली में आयोजित तीन दिवसीय जशपुर महोत्सव के समापन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की प्राथमिकता राज्य के प्रत्येक व्यक्ति की उन्नति और भलाई है। उन्होंने जशपुर महोत्सव के सफल आयोजन के लिए सभी लोगों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जशपुर जिला प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण है, यहां के लोग मेहनतकश है। यहां के लोगों की तरक्की के लिए सरकार हर संभव प्रयास करेगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विधायक श्री यू.डी.मिंज द्वारा जशपुर में पर्यटन को लेकर लिखी गई पुस्तक जशपुर टूरिज्म का विमोचन भी किया। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आगे कहा कि जशपुर जिले में कटहल, स्ट्रॉबेरी, काजू, लीची, नाशपत्ती और चाय की
छत्तीसगढ़: जशपुर में 100 एकड़ में चाय-कॉफी, कोंडागांव में मक्का व गरियाबंद में 32 करोड़ में लगाएंगे कोदो प्रोसेसिंग सेंटर

छत्तीसगढ़: जशपुर में 100 एकड़ में चाय-कॉफी, कोंडागांव में मक्का व गरियाबंद में 32 करोड़ में लगाएंगे कोदो प्रोसेसिंग सेंटर

chhattisgarh, News, special, tourism
रायपुर (एजेंसी) | पहली बार राज्य के आदिवासी क्षेत्रों की विशेषता को ध्यान में रखकर सरकार ने 2474 करोड़ का प्लान तैयार किया है। इसके अंतर्गत जशपुर में 100 एकड़ में चाय-कॉफी प्रोसेसिंग सेंटर, कोंडागांव में मक्का और सूरजपुर व गरियाबंद में 32 करोड़ खर्च कर कोटो-कुटकी प्रोसेसिंग सेंटर लगाए जाएंगे। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में अनुसूचित जनजाति उपयोजना समिति की बैठक में इसका खाका तैयार कर लिया गया है। इसे केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्रालय को भेजा जाएगा। राज्य के उत्तरी व दक्षिणी हिस्से की जलवायु विविधता के साथ-साथ कई खास किस्म के उत्पादों के लिए भी बेहतर है। जैसे जशपुर में चाय की खेती की जा रही है। जशपुर और बस्तर में काजू का उत्पादन होता है। इसे ध्यान में रखकर इन क्षेत्रों के विकास के लिए प्लान तैयार किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि इन क्षेत्रों में प्रोसेसिंग सेंटर के साथ-साथ ब
मनमोहक है जशपुर का राजपुरी वॉटरफॉल

मनमोहक है जशपुर का राजपुरी वॉटरफॉल

chhattisgarh, News, tourism, Videos
जशपुर जिले में घने जंगलो के बीच में राजपुरी जलप्रपात जिले के उन स्थानों में से एक है जहां लोग सबसे ज्यादा घूमने जाते है। साथ ही यह एक लोकप्रिय पिकनिक स्पॉट है। यहाँ आसपास के आदिवासी गांव एक अलग ही आकर्षण का केंद्र हैं पहाड़ी के दोनों किनारों पर चट्टानी दीवार और हरे जंगलो को देख बहुत शांति और सुखद अनुभव लगता है। जशपुर में कई अन्य स्थानों की तरह, यहां भी कहने के लिए बहुत दिलचस्प कहानियां हैं और कई लोकप्रिय लोककथाएं भी है सुनने के लिए। यह जगह जशपुर मुख्य शहर से 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। वीडियो देखे https://youtu.be/ybA4SByhS-4 राजपुरी झरना तक कैसे पहुंचे सड़क मार्ग से: जशपुर अच्छी तरह से सड़कों और राजमार्गों के एक अच्छे नेटवर्क द्वारा छत्तीसगढ़ के प्रमुख और छोटे शहरों से जुड़ा हुआ है। राष्ट्रीय राजमार्ग 78 (NH-78) जशपुर से गुजरता है। ट्रेन से: निकटतम रेलवे स्टेशन अंबिकापुर र
मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना: तीर्थ दर्शन का 19 दिन पहले बनाया था प्लान, ट्रेन छूटने से 12 घंटे पहले यात्रा रद्द

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना: तीर्थ दर्शन का 19 दिन पहले बनाया था प्लान, ट्रेन छूटने से 12 घंटे पहले यात्रा रद्द

chhattisgarh
रायगढ़ (एजेंसी) | समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों ने वित्तीय स्वीकृति के बिना रायगढ़ और जशपुर के एक हजार लोगों को हरिद्वार, ऋषिकेश और भारत माता घुमाने के लिए कार्यक्रम तय कर दिया। बुधवार को सुबह 10 बजे ट्रेन छूटनी थी। रायगढ़ और जशपुर के डिप्टी डायरेक्टरों को सिर्फ इतना बताया गया कि विषम परिस्थितियों के कारण तीर्थ यात्रा रद्द की गई है। जिस समय यात्रा रद्द होने का संदेश मिला तब जशपुर के 370 लोग पत्थलगांव के एक ढाबे में रुके थे। उन्हें वहां से ही वापस जाना पड़ा। रायगढ़ के भी लोग सुबह रेलवे स्टेशन पहुंचने के लिए पूरी तैयारी कर चुके थे। उन्हें आनन-फानन में संदेश देकर रोकना पड़ा। समाज कल्याण विभाग की ओर से यात्रा की सूचना मिलने के बाद आईआरसीटीसी ने पूरी तैयारी कर ली थी। ऐसे में सवाल कि आखिर बिना स्वीकृति के कार्यक्रम कैसे तय कर दिया था तीर्थ यात्रियों को ले जाने वाली ट्रेन तैयार थी। साथ ही, जहां-
SI की सर्विस रिवॉल्वर से साली ने खुद को मार कर की आत्महत्या, आईजी ने एसआई को किया सस्पेंड

SI की सर्विस रिवॉल्वर से साली ने खुद को मार कर की आत्महत्या, आईजी ने एसआई को किया सस्पेंड

chhattisgarh
जशपुर (एजेंसी) | एक थानेदार की साली ने गुरुवार रात सर्विस रिवॉल्वर से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि थानेदार की साली मानसिक रूप से बीमार थी और कुछ दिन पहले ही स्थिति बिगड़ने उसकी बहन रायपुर से अपने ससुराल ले आई थी। सूचना मिलने पर आला अधिकारियों के साथ ही फोरेंसिक की टीम मौके पर पहुंच गई है। घटना के बाद प्रथम दृष्टया थानेदार की लापरवाही सामने आने के बाद आईजी ने उसे सस्पेंड कर दिया है। घर की अलमारी में ही रखी थी सर्विस रिवॉल्वर जानकारी के मुताबिक, नारायपुर थाने में टीआई सुरेंद्र मानिकपुरी जशपुर स्थित पुलिस लाइन के सरकारी क्वार्टर में रहते हैं। घर में उनके परिवार के साथ उनकी साली वर्षा भी रहती थी। गुरुवार रात एसआई सुरेंद्र किसी काम से बाहर गए हुए थे। घर की अलमारी में उनकी सर्विस रिवॉल्वर रखी थी। इसी दौरान गोली चलने की आवाज आई तो घर के लोग दौड़कर कमरे में पहुंचे। वहां
गडकरी बोले, ‘न्याय योजना में राहुल गांधी 72 हजार देने का वादा कर रहे, पर लाएंगे कहां से, इसकी योजना ही नहीं’

गडकरी बोले, ‘न्याय योजना में राहुल गांधी 72 हजार देने का वादा कर रहे, पर लाएंगे कहां से, इसकी योजना ही नहीं’

politics
  जशपुर (एजेंसी) | केंद्रीय सड़क, परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने न्याय योजना को लेकर राहुल गांधी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आजादी के 70 सालों में कांग्रेस ने 50 साल शासन किया। इस दौरान पं. नेहरू,  इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और फिर सोनिया गांधी के निर्देशन में चल रही मनमोहन सरकार गरीबी हटाओ का नारा देती रही, लेकिन इसे दूर नहीं कर सकी। अब राहुल गांधी गरीबी हटाओ के नारे के साथ आए हैं। केंद्रीय मंत्री गडकरी शुक्रवार को पत्थलगांव में हुई जनसभा में बोल रहे थे। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा प्रत्याशी गोमती साय के समर्थन में शासकीय हाईस्कूल मैदान में हुई सभा में केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा, कांग्रेस प्रत्येक परिवार को 72 हजार रुपए देने की घोषणा कर रही है, लेकिन इसके लिए उनके पास कोई योजना नहीं है। वे इतनी बड़ी रकम लाएंगे कहां से। गडकरी ने राहुल ग
ईवीएम की पहरेदारी कर रहे कांग्रेसी कार्यकर्ता की मौत, ईवीएम में गड़बड़ी और सुरक्षा की राजनीति ने ली जान

ईवीएम की पहरेदारी कर रहे कांग्रेसी कार्यकर्ता की मौत, ईवीएम में गड़बड़ी और सुरक्षा की राजनीति ने ली जान

politics
जशपुर (एजेंसी) | विधानसभा चुनाव के बाद ईवीएम में गड़बड़ी और सुरक्षा की राजनीति ने रविवार को एक कांग्रेस के कार्यकर्ता की जान ले ली। कुनकुरी में स्ट्रांग रूम के बाहर पहरेदारी कर रहे कांग्रेसी कार्यकर्ता पंकज मिंज की तबीयत खराब होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। जानकारी के मुताबिक, दूसरे और अंतिम चरण का मतदान खत्म होने के बाद शहर से 4 किमी दूर राष्ट्रीय राजमार्ग 43 स्थित शासकीय मॉडल हाई सेकेंडरी स्कूल को स्ट्रांग रूम बनाया गया है। इसी के बाहर कांग्रेस के अन्य कार्यकर्ताओं के साथ कलिबा निवासी पंकज मिंज भी पहरेदारी कर रहा था। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); शनिवार को पंकज मिंज की अचानक तबियत बिगड़ने से मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ता उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे और भर्ती कराया। जहां पर उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। माना जा रह
जो गड्ढे चार महीनो से नहीं भरे थे वो चार घंटों में भर गई, क्योंकि सीएम आने वाले है

जो गड्ढे चार महीनो से नहीं भरे थे वो चार घंटों में भर गई, क्योंकि सीएम आने वाले है

chhattisgarh
पत्थलगांव (एजेंसी) | पिछले चार माह से शहर के लोग कीचड़ व धूल से परेशान थे। लोगो की कई कोशिशों व शिकायतों के बाद भी शहर के जानलेवा गड्ढो में मरम्मत का काम नहीं हुआ।लेकिन अब  एनएच विभाग व इसके ठेकेदार चार घंटों में शहर के गड्ढों को भर दिखाया। विभाग की ओर से धूल भरी सड़कों के गड्ढो में डामर डालकर शासन की आंखों में धूल झोंकने का प्रयास किया जा रहा है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अपनी अटल विकास यात्रा के दौरान सभी जिलों के शहर-शहर और गांव-गांव का दौरा कर रहे है। इसी क्रम में वे पत्थलगांव भी पहुंचेंगे। सीएम के आगमन की सूचना मिलते ही एनएच विभाग के अधिकारी व ठेकेदार गड्ढों को भरने में लगे हुए है और मरम्मत के नाम शासकीय राशि का दुरुपयोग हो रहा है। इस काम को लेकर कई प्रकार की चर्चा होते रहीं। लोगो का कहना था कि कई कोशिशों व शिकायतों के बाद भी शहर के जानलेवा गड्ढो में मरम्मत का काम नहीं हुआ। लेकिन आज
तीर्थयात्रा जाने के पात्र नहीं कहकर 22 बुजुर्गों को 70 किमी दूर ले जाकर बस से उतारा

तीर्थयात्रा जाने के पात्र नहीं कहकर 22 बुजुर्गों को 70 किमी दूर ले जाकर बस से उतारा

chhattisgarh
जशपुर (एजेंसी) | पत्थलगांव में मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के अंतर्गत 22 तीर्थयात्रियों को वैष्णो देवी ले जाने के दौरान बीच रास्ते में बस से उतारने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि यात्रा प्रभारी ने करीब 70 किलोमीटर की यात्रा पूरी करने के बाद 22 बुजुर्गों को आधी रात कुनकुरी में यह कहकर बस से उतार दिया कि वे तीर्थयात्रा के पात्र नहीं है। इनमें अधिकांश महिलाएं थीं। देर रात समाजसेवियों की मदद से बुजुर्गों ने किसी तरह कुनकुरी के सामुदायिक भवन में रात गुजारी। सुबह इन्हें घर वापस भेजा गया। बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले जनपद व नगर पंचायत की ओर से यहां के बीपीएल व गरीबी रेखा से ऊपर आने वाले लोगो को मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा में वैष्णो देवी भ्रमण करने ले जाया जा रहा था। इन तीर्थ यात्रा के लिए नगर पंचायत से 62 लोगों ने आवेदन किया था। मंगलवार की शाम लगभग 40 तीर्थयात्रा में शामिल होने क