chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: india

छत्तीसगढ़ में लागू नहीं होगी नागरिकता बिल(CAB) 2019 – सीएम भूपेश बघेल

छत्तीसगढ़ में लागू नहीं होगी नागरिकता बिल(CAB) 2019 – सीएम भूपेश बघेल

chhattisgarh, india, News, politics
रायपुर (एजेंसी) | नागरिकता संशोधन बिल (सीएबी) के लागू होने के बाद कई राज्यों के मुख्यमंत्री ने इसको लेकर विरोध जताया है। वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सीएबी को लेकर जो कांग्रेस ने स्टैंड लिया है, हम भी उसी के साथ खड़े हैं। वहीं पासपोर्ट पर कमल का निशान छापे जाने का लेकर मुख्यमंत्री ने इसे भाजपा का गिरता हुआ स्तर बताया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शुक्रवार को दिल्ली रवाना होने से पहले रायपुर एयरपोर्ट पर मीडिया से बात कर रहे थे। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने ट्वीट कर कहा था- राज्य में लागू नहीं होने देंगे सीएबी I would get in touch with Shri @BhupeshBaghel ji to ensure that we do not permit this assault on our Constitutional values and that Chhattisgarh does not allow implementation of #CAB.#CABBill2019 — TS Singh Deo (@TS_SinghDeo) December 12, 2019 दरअसल, प्रदेश
गुवाहाटी : प्रदर्शनकारियों ने कर्फ्यू तोड़ा, सड़क पर उतरे हजारों लोग फ़ायरिंग में 3 लोग की मौत, 11 घायल

गुवाहाटी : प्रदर्शनकारियों ने कर्फ्यू तोड़ा, सड़क पर उतरे हजारों लोग फ़ायरिंग में 3 लोग की मौत, 11 घायल

india, News, politics
गुवाहाटी | असम, मणिपुर, त्रिपुरा, मिजोरम, अरुणाचल और मेघालय में चौथे दिन भी नागरिकता संशोधन बिल (कैब) के विरोध में उग्र आंदोलन जारी रहा। असम की राजधानी गुवाहाटी में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने फायरिंग की, इसमें तीन लोगों मारे गए। राष्ट्रपति ने बिल को मंजूरी दी राज्य के कई जिलों में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लागू था, लेकिन राजधानी में ही प्रदर्शनकारियों ने कर्फ्यू तोड़ा। इसी तरह के हालात करीब-करीब पूरे राज्य में रहे। प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के गृह जिले डिब्रूगढ़ के छाबुआ में रेलवे स्टेशन के अलावा भाजपा विधायक का घर फूंक दिया। इसी बीच, देर रात राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नागरिकता संशोधन बिल पर दस्तखत कर दिए। अब यह कानून बन गया है। मोदी ने की शांति बनाए रखने की अपील आंदोलन की बागडोर मंगलवार को नॉर्थ ईस्ट स्टूडेंट ऑर्गनाइजेशन (नेसो) संभाल रहा है। इसे 30 छात्
राज्यसभा से पास नागरिकता संशोधन बिल (CAB) 2019 पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर हुए, मिली मंजूरी

राज्यसभा से पास नागरिकता संशोधन बिल (CAB) 2019 पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर हुए, मिली मंजूरी

chhattisgarh, india, News, politics
नई दिल्ली (एजेंसी) |  राज्यसभा से पास नागरिकता संशोधन बिल (CAB) पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर हो चुके है, ग़ौरतलब है नागरिकता संशोधन बिल बुधवार को राज्यसभा में पास हो गया था । विधेयक के पक्ष में 125, जबकि विरोध में 105 वोट पड़े। करीब 8 घंटे चली बहस का जवाब देते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा- यह विधेयक ऐतिहासिक भूल को सुधारने के लिए लाया गया। लोकसभा में यह बिल सोमवार को पास हो चुका है। निचले सदन में विधेयक पर 14 घंटे तक बहस के बाद रात 12.04 बजे वोटिंग हुई थी। बिल के पक्ष में 311 और विरोध में 80 वोट पड़े थे। राज्यसभा में किसने बिल का समर्थन किया, किसने विरोध बिल के समर्थन में बिल के विरोध में भाजपा 83 कांग्रेस 46 अन्ना द्रमुक 11 टीएमसी 13 बीजेडी 7 सपा 9 जेडीयू 6 वामदल 6 अकाली दल 3 डीएमके 5 नॉमिनेटेड 4 टीआरएस 6 बसपा 4
नागरिकता संशोधन बिल: लोकसभा से पास, राज्यसभा में कल पेश होगा; उच्च सदन में बिल के समर्थन में बहुमत से 7 सांसद ज्यादा

नागरिकता संशोधन बिल: लोकसभा से पास, राज्यसभा में कल पेश होगा; उच्च सदन में बिल के समर्थन में बहुमत से 7 सांसद ज्यादा

chhattisgarh, india, News, politics
नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन बिल सोमवार रात लोकसभा में पास हो गया। रात 12.04 बजे हुई वोटिंग में बिल के पक्ष में 311 और विपक्ष में 80 वोट पड़े। इस पर करीब 14 घंटे तक बहस हुई। विपक्षी दलों ने बिल को धर्म के आधार पर भेदभाव करने वाला बताया। गृह मंत्री अमित शाह ने जवाब में कहा कि यह बिल यातनाओं से मुक्ति का दस्तावेज है और भारतीय मुस्लिमों का इससे कोई लेना-देना नहीं है। शाह ने कहा कि यह बिल केवल 3 देशों से प्रताड़ित होकर भारत आए अल्पसंख्यकों के लिए है और इन देशों में मुस्लिम अल्पसंख्यक नहीं हैं, क्योंकि वहां का राष्ट्रीय धर्म ही इस्लाम है। विधेयक राज्यसभा में कल पेश होगा। कांग्रेस समेत 11 विपक्षी दलों ने बिल को धार्मिक आधार पर भेदभाव करने वाला बताया। एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बिल की कॉपी भी फाड़ दी। हालांकि, इसे सदन की कार्यवाही से बाहर निकाल दिया गया। राज्यसभा का गणित राज्यस
उन्नाव दुष्कर्म केस: 90% जली पीड़िता वेंटिलेटर पर, डॉक्टरों ने कहा, जीवन प्रत्याशा न्यूनतम

उन्नाव दुष्कर्म केस: 90% जली पीड़िता वेंटिलेटर पर, डॉक्टरों ने कहा, जीवन प्रत्याशा न्यूनतम

india, News
लखनऊ (एजेंसी) | उत्तर प्रदेश के उन्नाव में जमानत पर छूटे सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों ने पीड़ित लड़की को जला दिया था। इसके बाद गुरुवार को उसे इलाज के लिए लखनऊ से दिल्ली लाया गया। राजधानी के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती पीड़ित की हालत बेहद नाजुक है, उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है। शुक्रवार को अस्पताल के सुपरिंटेंडेंट डॉक्टर सुनील गुप्ता ने कहा कि हमारी ओर से हर संभव कोशिश की जा रही है, लेकिन उसके बचने की संभावना बहुत कम है। वह 90% जल चुकी है। पीड़ित को जिंदा जलाने के बाद आरोपी मौके से भाग गए। इस घटना के प्रत्यक्षदर्शी रविन्द्र ने बताया था कि पीड़ित दूर से दौड़ती आ रही थी। वह चीख रही थी बचाओ-बचाओ। मैंने उसकी आवाज सुनकर पूछा भी कि तुम कौन हो? उसके पूरे शरीर में आग लगी हुई थी। उसे देखकर मैं डर गया। मुझे लगा कि कोई भूत है। मैं घर से डंडा और कुल्हाड़ी लेकर उसके सामने गया। फिर उसने अपने पिता का
आरएसएस पर तीखा हमला – ‘काली टोपी, खाकी पैंट और ड्रम बजाना भारतीय संस्कृति नहीं’ – सीएम भूपेश बघेल

आरएसएस पर तीखा हमला – ‘काली टोपी, खाकी पैंट और ड्रम बजाना भारतीय संस्कृति नहीं’ – सीएम भूपेश बघेल

chhattisgarh, india, News, politics
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्रीय खाद्य मंत्री राम विलास पासवान आैर कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने सेंट्रल पूल में छत्तीसगढ़ से 32 लाख मीट्रिक टन चावल लेने का आग्रह किया है। इस दौरान उन्होंने बायो एथेनाल के विक्रय को बढ़ावा केन्द्र से सहयोग की बात कही। केन्द्र के निर्णय के अनुसार जो राज्य सरकार समर्थन मूल्य पर धान खरीदी पर बोनस देगा। उनसे सेन्ट्रल पूल में चावल नहीं लिया जाएगा। इससे पहले इसको शिथिल कर सेन्ट्रल पूल में छत्तीसगढ़ से चावल लिया गया। इसे देखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने वर्ष 2019-20 में सेन्ट्रल पूल में प्रधानमंत्री से प्रावधान को शिथिल कर सेन्ट्रल पूल में छत्तीसगढ़ से 32 लाख मीट्रिक टन चावल लेने का आग्रह किया गया है। वहीं, भूपेश बघेल ने केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मिलकर वर्ष 2019-20 में उपार्जित अतिरिक्त धा