chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: gujarat

गुजरात हाई कोर्ट का आदेश: ‘मै तुझे देख लूंगा।’ कहना धमकी नहीं

गुजरात हाई कोर्ट का आदेश: ‘मै तुझे देख लूंगा।’ कहना धमकी नहीं

india
अहमदाबाद (एजेंसी) | झगड़े के दौरान 'मैं तुझे देख लूंगा' कहना धमकी नहीं है। गुजरात हाईकोर्ट ने इस वाक्य को आपराधिक धमकी मानने से इनकार करते हुए कहा कि धमकी वह होती है, जिससे किसी के दिमाग में कोई डर पैदा हो। हाईकोर्ट ने गुरुवार को एक वकील के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करते हुए यह फैसला सुनाया। साबरकांठा के वकील मोहम्मद मोहसिन छालोतिया मई 2017 में लॉकअप में बंद मुवक्किल से मिलने गए थे। पुलिस ने उन्हें मिलने से रोक दिया। बहस होने पर गुस्साए वकील ने पुलिसकर्मियों को देख लेने और हाईकोर्ट में घसीटने की धमकी दी थी। इस पर पुलिस ने वकील के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने और ऑफिसर को ड्यूटी से रोकने का मामला दर्ज कर लिया। वकील तभी से जेल में हैं। धमकी उसे कहते हैं, जिससे पीड़ित के दिमाग में कोई डर पैदा हो जाए: हाई कोर्ट उन्होंने एफआईआर को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। जस्टिस एएस सुपैया ने फैसले में कह
8 साल से कुत्ते के नाम पर राशन लेता रहा परिवार, महिला ने पूछा, ‘कालू कुत्ते का नाम राशन कार्ड में लिख सकते हो तो मेरा क्यों नहीं?’ तब हुआ मामले का खुलासा

8 साल से कुत्ते के नाम पर राशन लेता रहा परिवार, महिला ने पूछा, ‘कालू कुत्ते का नाम राशन कार्ड में लिख सकते हो तो मेरा क्यों नहीं?’ तब हुआ मामले का खुलासा

india
गुजरात (एजेंसी) | गुजरात में पालनपुर जिले के जेतवास गांव में एक परिवार आठ साल तक कुत्ते के नाम पर सरकारी राशन लेता रहा। मामले का खुलासा तब हुआ, जब कालू नाम के कुत्ते की मौत हो गई और परिवार नई बहू का नाम जुड़वाने के लिए तहसीलदार कार्यालय पहुंच गया। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); दरअसल, परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। कुछ समय पहले घर में नई बहू मुगलीबेन परमार आई है। जिसका नाम राशन कार्ड में दर्ज करवाने के लिए परिवार के सदस्य तहसीलदार कार्यालय के चक्कर लगा रहे थे। लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हो रही थी। परिवार की परेशानी देखकर मुगलीबेन खुद तहसीलदार कार्यालय पहुंच गई। यहां उसने कर्मचारियों से कहा कि कालू कुत्ते का नाम राशन कार्ड में लिख सकते हो तो मेरा क्यों नहीं? यह सुनते ही दफ्तर में खलबली मच गई। इसके बाद तहसीलदार कार्यालय के कर्मचारियों ने स्थिति को भांपते हुए तुर
अंतरिक्ष से भी दिखाई देती है स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, अमेरिकी सैटेलाइट ने जारी की तस्वीर

अंतरिक्ष से भी दिखाई देती है स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, अमेरिकी सैटेलाइट ने जारी की तस्वीर

india
नेशनल न्यूज़ (एजेंसी) | गुजरात के अहमदाबाद में नर्मदा नदी के किनारे बनी दुनिया की सबसे ऊंची सरदार पटेल की प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी अंतरिक्ष से भी साफ दिखाई देती है। अमेरिका के कमर्शियल सैटेलाइट नेटवर्क- प्लैनेट ने शुक्रवार को 182 मीटर (597 फीट) ऊंची प्रतिमा की अंतरिक्ष से ली गई एक फोटो ट्वीट की। तस्वीर 15 नवंबर को खींची गई थी। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की फोटो जारी करने वाली अमेरिकी कंपनी स्काईलैब है। 2017 में इसरो ने एक साथ 104 सैटेलाइट लॉन्च करने का कीर्तिमान बनाया था। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); इसी के साथ स्टैच्यू ऑफ यूनिटी उन कुछ मानव निर्मित संरचनाओं में से है, जो पृथ्वी के ऊपर से भी दिखाई देते हैं। दुबई के तट पर बना पाम आइलैंड, मिस्र का ग्रेट पिरामिड ऑफ गीजा समेत दो अन्य मानव निर्मित संरचनाएं हैं जो अंतरिक्ष से दिखाई देती हैं। इसरो से सैटेलाइट लॉन्च करवा चु
आखिर ऐसा क्या हुआ कि यूपी-बिहार के लोग गुजरात छोड़ने को मज़बूर हो गए

आखिर ऐसा क्या हुआ कि यूपी-बिहार के लोग गुजरात छोड़ने को मज़बूर हो गए

india
नेशनल न्यूज़ (एजेंसी) | गुजरात में बिहार से आए एक मज़दूर अभियुक्त की गिरफ़्तारी के बाद ये मुद्दा अब 'गुजराती बनाम बाहरी' में तब्दील हो गया है। अभी इस इलाक़े में क़रीब सवा लाख बाहरी लोग रहते हैं। अब तक बाहरी लोगों पर हमले की 18 घटनाएं हो चुकी हैं जिसके चलते बाहरी लोग अपना घर छोड़कर जा रहे हैं। हिम्मतनगर के शक्तिनगर इलाके में किराए के मकानों में बड़ी तादाद में बाहरी लोग रहते थे अब यहां कई घरों में ताला पड़ा है। साबरकांठा ज़िले में एक ग़ैर-गुजराती को 14 महीने की बच्ची के बलात्कार के मामले में गिरफ्तार किया गया है। इसके बाद वहां स्थानीय लोगों में उत्तर भारत से आकर रह रहे लोगों के लिए ग़ुस्सा बढ़ रहा है। ज़िले के हिम्मतनगर में रह रहे बाहरी मज़दूरों को शहर छोड़ने की धमकियां दी जा रही हैं। इस घटना ने ग़ैर-गुजरातियों के लिए हालात मुश्किल कर दिए हैं। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).pu