Shadow

Tag: gangrel dam

रायपुर : गंगरेल जलाशय के पानी से तालाब भरने का काम शुरू : निस्तारी के लिये 77 गांवों के 107 तालाब भरे जाएंगे

रायपुर : गंगरेल जलाशय के पानी से तालाब भरने का काम शुरू : निस्तारी के लिये 77 गांवों के 107 तालाब भरे जाएंगे

chhattisgarh, Govt Schemes, News, special
रायपुर. छत्तीसगढ़ शासन की पहल पर जिला प्रशासन बलौदाबाजार द्वारा गर्मी के मौसम में जिले के तालाबों में निस्तारी के लिए जल भरने का काम शुरू हो चुका है। इस क्रम में गंगरेल जलाशय से पानी जिले में बीबीसी केनाल के जरिये पहुंच गया है। गौरतलब है कि निस्तारी उपयोग के लिए हर वर्ष जिले के चुनिंदे तालाबों में जलभराव किया जाता है। जिले के 77 गांवों के 107 तालाबों को हर वर्ष की तरह इस साल भी पानी से भरने का लक्ष्य रखा गया है। एसडीएम सुश्री लवीना पाण्डेय एवं कार्यपालन अभियंता जल संसाधन बीपी सिंह ने आज बीबीसी केनाल एवं वितरक नहरों के कई स्थलों का निरीक्षण कर प्रवाहित जल का अवलोकन किया। एसडीएम सुश्री पाण्डेय ने कहा कि पानी बहुत मूल्यवान है। तालाबों तक नहरों के जरिये पानी पहुंचाया जाये। खेतांे में भरते हुए पानी आगे ले जाने से पानी की बहुत बर्बादी होती है। किसी भी सूरत में पानी की बर्बादी नहीं होने चाह...
हादसा : गंगरेल बांध में नाव पलटने से 2 बच्चों की मौत, बच्ची लापता, टिकटॉक पर वीडियो बना रहा था परिवार, छोटी-सी नाव में सवार थे 12 लोग

हादसा : गंगरेल बांध में नाव पलटने से 2 बच्चों की मौत, बच्ची लापता, टिकटॉक पर वीडियो बना रहा था परिवार, छोटी-सी नाव में सवार थे 12 लोग

chhattisgarh, News, special
धमतरी | छत्तीसगढ़ के धमतरी में मंगलवार शाम गंगरेल बांध में नाव डूबने से 2 बच्चों की मौत हो गई, जबकि एक बच्ची लापता है। छोटी-सी नाव में 12 लोग सवार थे। ये लोग बांध के किनारे बंधी मछुआरों की नाव लेकर खुद ही घूमने के लिए निकले थे। घायलों में 2 लोगों की हालत गंभीर है। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, डूबी बच्ची का अभी तक पता नहीं चल सका है। हादसा रूद्री क्षेत्र के कोलियारी-अकलाडोंगरी में हुआ। तेज हवा के कारण आई लहरों से नाव में पानी भरा और पलट गई पुलिस के अनुसार, नारायणपुर से एक परिवार मंगलवार शाम करीब 4 बजे अकलाडोंगरी घूमने आया था। यह सभी लोग वहां गंगरेल बांध के पास पहुंचे और किनारे बंधी मछुआरों की छोटी नाव खोल ली। इस नाव पर परिवार के सभी 12 लोग सवार हो गए और खुद ही चलाते हुए बांध में घूमने लगे। इस दौरान एक युवक मोबाइल लेकर टिकटॉक पर वीडियो बनाने लगा। बताया जा रहा है कि ...
नवरात्रि विशेष: गंगरेल बांध के समीप स्थित है अंगारमोती माता का धाम

नवरात्रि विशेष: गंगरेल बांध के समीप स्थित है अंगारमोती माता का धाम

chhattisgarh, News, tourism, Videos
गंगरेल बांध जिसे आर. एल. बांध ( रविशंकर सागर बांध ) भी कहते है। सागर बांध भारत के छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में स्थित है। यह महानदी नदी के पार बनाया गया है छत्तीसगढ़ में यह सबसे लम्बा बांध है। यह बांध वर्षभर के सिचाई प्रदान करता है जिससे किसान प्रतिवर्ष दो फसलों का उत्पादन कर सकते है और भिलाई स्टील प्लांट और नई राजधानी रायपुर को भी पानी प्रदान करता है। प्लांट में 10 मेगावाट की हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर क्षमता है। यह रायपुर राजधानी से 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। सन् 1978 में जब गंगरेल बांध बनकर तैयार हुआ उस समय अनेक गाँव के साथ अनेक देवी-देवतओं के मंदिर भी जल में समां गए थे, जिनमें से एक माँ अंगारमोती का मंदिर भी था। इसके पश्चात विधि-विधान के साथ देवी की मूर्ति को पूर्व स्थान से हटाकर गंगरेल बांध के समीप स्थापित किया गया है। यहाँ विशाल वृक्ष के नीचे खुले चबूतरे पर उनकी प्राण-प्रति...
धमतरी जिले में महानदी पर बने गंगरेल बांध का गेट खोला गया

धमतरी जिले में महानदी पर बने गंगरेल बांध का गेट खोला गया

chhattisgarh
धमतरी | धमतरी जिले में महानदी पर बने गंगरेल बांध में पानी अब खतरे के निशान के करीब पहुंच गया है। सोमवार सुबह 9 बजे बांध के गेट नंबर 8 को खोला गया। इससे 1213 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। गंगरेल बांध का जलभराव लेवल 348.02 मीटर हो गया है। खतरे के निशान को छूने में अब मात्र 0.68 मीटर ही बचा है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});