chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: dussehra

प्रदेश के सबसे ऊंचे 101 फीट के रावण दहन को देखने उमड़ी भीड़, 50 सालों से जारी है परंपरा

प्रदेश के सबसे ऊंचे 101 फीट के रावण दहन को देखने उमड़ी भीड़, 50 सालों से जारी है परंपरा

chhattisgarh, News, Videos
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में दशहरा महोत्सव सम्पन्न हुआ। यह कार्यक्रम हर बार डब्ल्यूआरएस कॉलोनी मैदान में आयोजित किया जाता है। राज्यपाल अनुसूइया उइके, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधायक कुलदीप जुनेजा, विकास उपाध्याय और महापौर प्रमोद दुबे समेत शहर के हजारों लोग मैदान में मौजूद थे। यहां अतिथियों के संबोधन के बाद रावण दहन का कार्यक्रम हुआ। 101 फीट ऊंची रावण मूर्ति जोरदार धमाके के साथ जली। नीचे खड़े लोग जय श्री राम के नारे लगा रहे थे। मेघनाथ और कुंभकर्ण के विशाल काय पुतले भी जलाए गए। बुराई पर अच्छाई का यह पर्व शहर में इसी अंदाज में पिछले 50 सालों से जारी है। प्रदेशभर के सभी शहरों में मंगलवार की शाम इसी तरह धूम-धाम से रावण दहन किया गया। https://youtu.be/wqxSM-0Us5A 5 हजार मीटर कपड़े और 1 टन कागज से बने थे पुतले यहां 101 फीट का रावण और 85-85 फीट के कुंभकर्ण और मेघनाद के
विजयादशमी विशेष: 600 वर्ष पुराना और 75 दिनों तक मनाया जाता है बस्तर दशहरा, विश्व का सबसे लम्बा चलने वाला पर्व है

विजयादशमी विशेष: 600 वर्ष पुराना और 75 दिनों तक मनाया जाता है बस्तर दशहरा, विश्व का सबसे लम्बा चलने वाला पर्व है

chhattisgarh, News, tourism, Videos
बस्तर का दशहरा अपनी अभूतपूर्व परंपरा व संस्कृति की वजह से विश्व प्रसिद्ध है। यह कोई आम पर्व नहीं है यह विश्व का सबसे लंबी अवधि तक चलने वाला पर्व है। छत्तीसगढ़ के बस्तर में मनाया जाने वाला दशहरा 75 दिन तक मनाया जाता है। बस्तरवासी वगभग 600 साल से यह पर्व मनाते आ रहे हैं। बस्तर ही एकमात्र जगह है जहां दशहरे पर रावण का पुतला दहन नहीं किया जाता। यह पर्व बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी की आराधना से जुड़ा हुआ है। बस्तर के आदिवासियों की अभूतपूर्व भागीदारी का ही प्रतिफल है कि बस्तर दशहरा की राष्ट्रीय पहचान स्थापित हुई। प्रतिवर्ष दशहरा पर्व के लिए परगनिया माझी अपने अपने परगनों से सामग्री जुटाने का प्रयत्न करते थे। सामग्री जुटाने का काम दो तीन महीने पहले से होने लगता था। इसके लिए प्रत्येक तहसील का तहसीलदार सर्वप्रथम बिसाहा पैसा बाँट देता था, जिससे गाँव-गाँव से बकरे सुअर भैंसे चावल दाल तेल नम
डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में रावण दहन पर लन्दन ब्रिज देखने मिला, शहर में 100 से ज्यादा जगहों पर जलाया गया रावण

डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में रावण दहन पर लन्दन ब्रिज देखने मिला, शहर में 100 से ज्यादा जगहों पर जलाया गया रावण

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | असत्य पर सत्य की जीत का पर्व विजयादशमी शुक्रवार को मनाया गया। इस मौके पर राजधानी में 100 से ज्यादा जगहों पर रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतले का दहन किया गया। शहर में रावण दहन का सबसे बड़ा शो खमतराई इलाके के डब्ल्यूआरएस मैदान में हुआ। इसे देखने के लिए लाखों की संख्या में लोग जुटे शाम 7 बजे रावण का दहन होना था लेकिन पौने सात बजे आतिशबाजी की वजह से रावण के पुतले में आग लग गई और वह जलने लगा। इस बीच मेघनाद और कुंभकरण के पुतले का दहन किया गया। डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में रावण दहन  डब्ल्यूआरएस मैदान में शाम 6.30 बजे आतिशबाजी शुरू हुई जो करीब आधे घंटे तक होती रही। इसके बाद कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। रावण दहन से पहले डब्ल्यूआरएस मैदान में मोहक आतिशबाजी की गई। इस बीच लोग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनंद भी लेते रहे। सांस्कृतिक प्रस्तुति के लिए बाहर से कलाकार ब
पुलिस लाइन और थानों में शस्त्रों की पूजा कर बलौदाबाजार पुलिस द्वारा मनाया गया विजयादशमी पर्व

पुलिस लाइन और थानों में शस्त्रों की पूजा कर बलौदाबाजार पुलिस द्वारा मनाया गया विजयादशमी पर्व

chhattisgarh
प्रतीकात्मक फोटो बलौदाबाजार (एजेंसी) | विजयादशमी के पावन अवसर पर आज सुबह 09:00 बजे बलौदा बाजार पुलिस द्वारा पुलिस लाइन में शस्त्र पूजन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। विदित हो कि हर वर्ष विजयादशमी के दिन पुलिस विभाग द्वारा भी शस्त्रों की पूजा की जाती है। साल में एकबार होने वाले शस्त्र पूजन को शौर्य और वीरता का प्रतीक माना जाता है। पूजा में जिले के एसपी सहित, एएसपी, डीएसपी , एसडीओपी, आर आई , टी आई, पुलिस लाइन के सभी अधिकारी कर्मचारियों ने भाग लिया। साथ ही सभी थानों के शस्त्रागार में रखे हथियारों की भी थाना प्रभारियों की मौजूदगी में विधि विधान से पूजा की गई। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हर साल की तरह इस साल भी दशहरे के अवसर पर परम्परागत ढंग से पुलिस लाइन स्थित शस्त्रागार कक्ष में रखे हथियारों को बाहर निकाला गया और उसकी पूर्जा-अर्चना की गई। पूजा होने के बाद हथियारों
अमृतसर ट्रेन हादसे पर PM मोदी और CM रमन सिंह ने शोक व्यक्त किया,

अमृतसर ट्रेन हादसे पर PM मोदी और CM रमन सिंह ने शोक व्यक्त किया,

india
अमृतसर (एजेंसी) | पंजाब के अमृतसर शहर के जोड़ा बाजार में रावण दहन देख रहे लोग शुक्रवार को दो ट्रेनों की चपेट में आ गए। जोड़ा रेलवे फाटक के पास हुए हादसे ने दशहरे की खुशी मातम में बदल दी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पटाखों के शोर में किसी को ट्रेन का हॉर्न सुनाई नहीं दिया और दो ट्रेनें पटरियों पर खड़े लोगों को रौंदते हुए गुजर गईं। मंजर ऐसा था कि किसी का पैर कहीं पड़ा था, तो किसी का सिर कहीं पड़ा था। चश्मदीदों ने कहा कि हादसे के बाद रेल पटरियों के 150 मीटर के दायरे में लाशें बिखरी नजर आ रही थीं। इसे देखकर 1947 के बंटवारे का मंजर याद आ गया। लोगों ने कहा- मदद को नहीं आया प्रशासन चश्मदीदों ने कहा कि मृतक संख्या 200 तक भी जा सकती है। हादसे के बाद प्रशासन तुरंत मदद को नहीं अाया। जिन मांओं ने अपने बच्चे खोए हैं, उनका क्या होगा? एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि हादसे में कई बच्चे और महिलाएं म
दशहरे की खुशियाँ बदली मातम में, अमृतसर में ट्रेन हादसे ने ले ली सैकड़ो जाने

दशहरे की खुशियाँ बदली मातम में, अमृतसर में ट्रेन हादसे ने ले ली सैकड़ो जाने

india
अमृतसर (एजेंसी) | पंजाब के अमृतसर शहर के जोड़ा बाजार में रावण दहन देख रहे लोग शुक्रवार को दो ट्रेनों की चपेट में आ गए। जोड़ा रेलवे फाटक के पास हुए हादसे ने दशहरे की खुशी मातम में बदल दी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पटाखों के शोर में किसी को ट्रेन का हॉर्न सुनाई नहीं दिया और दो ट्रेनें पटरियों पर खड़े लोगों को रौंदते हुए गुजर गईं। मंजर ऐसा था कि किसी का पैर कहीं पड़ा था, तो किसी का सिर कहीं पड़ा था। चश्मदीदों ने कहा कि हादसे के बाद रेल पटरियों के 150 मीटर के दायरे में लाशें बिखरी नजर आ रही थीं। इसे देखकर 1947 के बंटवारे का मंजर याद आ गया। वहाँ मौजूद लोगों के मुताबिक रावण दहन का कार्यक्रम शाम 6 बजे था। जिसमे मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू जो कि चीफ गेस्ट थी देरी से पहुंचीं। इस कारण से कार्यक्रम 7 बजे के बाद शुरू हुआ, तब तक अंधेरा हो चुका था। तक़रीबन 7:12 PM बजे के आसप
रायपुर में दशहरे के एक दिन पहले ही रावण का दहन हो गया

रायपुर में दशहरे के एक दिन पहले ही रावण का दहन हो गया

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | भगवान राम की ननिहाल रायपुर के WRS कॉलोनी में बना छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा रावण दशहरे के एक दिन पहले ही गुरुवार आधी रात लगभग 12:30 AM के बाद अचानक जलकर खाक हो गया। इस दौरान अास-पास मौजूद कई लोग बाल-बाल बच गए। आग लगने के कारणाें का पता नहीं चल सका है, लेकिन माना जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट से पुतले में आग पकड़ ली। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); दरअसल दशहरा उत्सव के एक दिन पहले ट्रायल लिया जा रहा था। उसी दौरान रावण के पुतले में आग लग गई। और अचानक तेज आतिशबाजी के साथ रावण धू-धुकर जल गया। आग लगने के कारण वहां अफरा-तफरी का माहौल हो गया। राजधानी की डब्ल्यूआरएस कॉलोनी में मनाए जाने वाले दशहरा उत्सव की तैयारियां जोरशोर से चल रही थीं। इस दौरान आस-पास लोग रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतलों को देख रहे थे और मैदान में टल रहे थे। अचानक रात करीब 12.30 बजे रावण के पु
देशभर में विजयदशमी की धूम आज, PM मोदी और CM रमन सिंह ने दी बधाई

देशभर में विजयदशमी की धूम आज, PM मोदी और CM रमन सिंह ने दी बधाई

india
नेशनल न्यूज़ (एजेंसी) | असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक दशहरा आज यानि शुक्रवार (19 अक्टूबर) को धूमधाम से मनाया जाएगा। मां दुर्गा की नौ दिनों तक हुई उपासना के बाद शुक्रवार (19 अक्टूबर) को दशहरा का पर्व परंपरागत तरीके से मनाया जाएगा। साल के सबसे महत्‍वपूर्ण त्‍योहारों में एक दुर्गा पूजा का भी इसी के साथ समापन हो होगा। आज देश के कई हिस्सों में रावण दहन होगा। हालांकि, कुछ जगहों पर गुरुवार (18 अक्टूबर) को भी रावण दहन किया गया। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); गुजरात के अहमदाबाद में रावण को गुरुवार ही जलाया गया। इस पावन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर देशवासियों को विजयादशमी की बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर एक शुभकामना वीडियो शेयर किया है। विजयादशमी के शुभ अवसर पर सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई। Vijayadashami greetings to everyone. pic.twitter.com/uts11D1YEl —