Shadow

Tag: cg housing

मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया : शहरी गरीब परिवारों के लिए आवास की उपलब्धता सरकार की प्राथमिकता

मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया : शहरी गरीब परिवारों के लिए आवास की उपलब्धता सरकार की प्राथमिकता

chhattisgarh, News
रायपुर. नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने शहरी क्षेत्रों में निवासरत गरीब परिवारों के पात्र हितग्राहियों को प्राथमिकता से आवास उपलब्ध कराने अधिकारियों को निर्देशित किया है। डॉ. डहरिया ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप नगरीय निकायों में रहने वाले गरीब परिवार को ‘मोर जमीन, मोर मकान’, ‘मोर आवास, मोर चिन्हारी’ और ‘स्वास्थने झुग्गी बस्ती पुनर्विकास’ जैसी अनेक योजनाओं के तहत सस्ते दर पर मकान उपलब्ध कराया जा रहा है। शासन द्वारा संचालित इन योजनाओं के तहत  गरीब परिवारों के लिए 76 हजार से अधिक मकानों का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है, वहीं दो लाख 47 हजार से अधिक  मकानों का निर्माण कार्य जारी है। मंत्री डॉ. डहरिया ने बताया कि मोर जमीन, मोर मकान योजना के तहत हितग्राही को स्वयं की भूमि पर अधिकतम् 30 वर्गमीटर तक आवास निर्माण के लिए शासन द्वारा चार किश्तों में दो...
राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल : कम मूल्य के आवासीय मकान और फ्लैट के पंजीयन शुल्क में 2 प्रतिशत की छूट से छोटे व मध्यम वर्गीय परिवारों को मिलेगी राहत

राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल : कम मूल्य के आवासीय मकान और फ्लैट के पंजीयन शुल्क में 2 प्रतिशत की छूट से छोटे व मध्यम वर्गीय परिवारों को मिलेगी राहत

chhattisgarh, Govt Schemes, News
राजस्व एवं वाणिज्यकर (पंजीयन) मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशन में  राज्य शासन के वाणिज्यकर (पंजीयन) विभाग ने 75 लाख से कम अथवा बराबर है, के आवासीय मकानों और फ्लैट्स के विक्रय अभिलेखों पर पंजीयन शुल्क की वर्तमान दर (संपत्ति के गाईडलाईन मूल्य का 4 प्रतिशत) में 2 प्रतिशत की छूट अब 31 मार्च 2021 तक के लिए बढ़ा दिया गया है। इससे छोटे व मध्यम वर्ग के परिवारों को राहत मिलेगी। श्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि कोरोना महामारी के समय हमारी सरकार प्रदेश के लोगों को हर क्षेत्र में बेहतर बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराने के लिये भरपूर प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि 22 मई को प्रदेश में जमीनों की खरीदी-बिक्री के लिए 2019-20 की शासकीय गाईड लाईन दरें ही 31 मार्च 2021 तक के लिये लागू होने की अधिसूचना जारी की जा चुकी है। इन दोनों ही प्रकार की छूट मिलने से छोटे और मध...
अवासीय कॉलोनी की मंजूरी मिलेगी 140 दिन के भीतर,शुरू हुआ सीजी आवास सिंगल विंडो प्रोग्राम

अवासीय कॉलोनी की मंजूरी मिलेगी 140 दिन के भीतर,शुरू हुआ सीजी आवास सिंगल विंडो प्रोग्राम

chhattisgarh, News, politics, special
रायपुर. छत्तीसगढ़ में अब आवासीय कॉलोनी से जुड़े दस्तावेजी काम 140 दिनों के भीतर किए जा सकेंगे। सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विधानसभा परिसर स्थित कार्यालय में आवासीय कॉलोनियों की स्वीकृति के लिए आवास एवं पर्यावरण विभाग द्वारा विकसित सीजीअवास एकल खिड़की प्रणाली की शुरुआत की। इसकी मदद  से अब कॉलोनियों के लिए भू-व्यपवर्तन (डायवर्सन) प्रमाण पत्र, अनुमोदित अभिन्यास (अप्रूव्ड ले आउट)  , कॉलोनी विकास की अनुज्ञा (लायसेंस)  एक ही काउंटर से लिए जा सकेंगे।एक दिसम्बर से इसका ट्रायल होगा और 15 दिसम्बर से आवेदक इसमें आवेदन कर सकेंगे। सरकार का दावा है कि अब आवासीय कॉलोनी के अनुमोदन की प्रक्रिया में तेजी आएगी और यह प्रक्रिया सरल हो जाएगी। एकल खिड़की में समस्त दस्तावेज जमा होने के 100 से अधिकतम 140 दिन के भीतर लायसेंस जारी हो जाएगा। पहले आवासीय कॉलोनी के विकास की अनुज्ञा लेने में डेढ़ से दो साल का ...
हाउसिंग बोर्ड की 4 कॉलोनियों में नहीं बिक रहे घर, अब 20 % घटाई कीमत, 10 से 35 लाख रुपए तक मिलेंगे

हाउसिंग बोर्ड की 4 कॉलोनियों में नहीं बिक रहे घर, अब 20 % घटाई कीमत, 10 से 35 लाख रुपए तक मिलेंगे

chhattisgarh, News
रायगढ़. गृह निर्माण मंडल ने खाली पड़े ईडब्ल्यूएस, एलआईजी और एमआईजी मकान और फ्लैट्स की कीमत 20 प्रतिशत तक घटाने का फैसला किया था। शहर के साथ खरसिया, धरमजयगढ़, पुसौर जैसे इलाकों के भी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के मकानों के दाम भी घटाए गए हैं। शहर में कोतरा रोड, अतरमुड़ा, सर्किट हाऊस, जूटमिल, कबीर चौक जैसे इलाकाें के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनियों में अलग-अलग कैटेगरी के मकान खाली हैं। इन मकानों में छूट मिलेगी हाउसिंग बोर्ड के कोतरा रोड स्थित अटल विहार में फ्लैट में एलआईजी, एमआईजी फ्लैट, अतरमुड़ा स्थित अटल विहार में एमआईजी मकान, सर्किट हाऊस स्थित भवानी शंकर षड़ंगी कॉलोनी में एमआईजी और एचआईजी मकान एवं कबीर चौक स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में ईडब्ल्यूएस में 20% की छूट दी जाएगी। इसमें एमआईजी, एचआईजी और एलआईजी मकान 25-35 लाख रुपए के बीच के हैं। ईडब्ल्यूएस मकान भी 10-15 लाख रुपए के हैं। रियल इस्टेट मंदी का ...