chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: bhupesh baghel

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ‘परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर के आयाम’ पर करेंगे बात, 27 से 29 जनवरी लोकवाणी के जरिये

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ‘परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर के आयाम’ पर करेंगे बात, 27 से 29 जनवरी लोकवाणी के जरिये

chhattisgarh, Govt Schemes, News
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी की 7वीं कड़ी का प्रसारण आगामी 9 फरवरी को होगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लोकवाणी में इस बार ‘परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर के आयाम, विषय पर प्रदेशवासियों से बात करेंगे। लोकवाणी का प्रसारण छत्तीसगढ़ स्थित आकाशवाणी के सभी केन्द्रों, एफ.एम. रेडियो और क्षेत्रीय न्यूज चैनलों से सुबह 10.30 से 10.55 बजे तक होगा। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने समाज के हर वर्ग की भावनाओं और सुझावों से अवगत होने तथा अपने विचार साझा करने के लिए लोकवाणी रेडियोवार्ता प्रारंभ की है। लोकवाणी में इस बार का विषय ‘परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर के आयाम’ रखा गया है। इस संबंध में कोई भी व्यक्ति आकाशवाणी रायपुर के दूरभाष नम्बर 0771-2430501, 2430502, 2430503 पर  27, 28 एवं 29 जनवरी को अपरान्ह 3 से 4 बजे के बीच फोन करके अपने सवाल रिकार्ड करा सकते हैं।
सरकार का फैसला: मदनवाड़ा नक्सली हमले की न्यायिक जांच होगी, 11 साल पहले एसपी समेत 29 जवान शहीद हुए थे

सरकार का फैसला: मदनवाड़ा नक्सली हमले की न्यायिक जांच होगी, 11 साल पहले एसपी समेत 29 जवान शहीद हुए थे

chhattisgarh, News
राजनांदगांव | जिले में 12 जुलाई सन 2009 में मदनवाड़ा में हुए नक्सली हमले की जांच होगी। इसके लिए राज्य सरकार ने रविवार को जस्टिस शम्भूनाथ श्रीवास्तव की अध्यक्षता में न्यायिक जांच आयोग का गठन कर दिया है। जस्टिस शंभूनाथ श्रीवास्तव छत्तीसगढ़ में प्रमुख लोकायुक्त रह चुके हैं। इस फैसले के बाद प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा- हमले में एसपी वीके चौबे समेत 29 पुलिस कर्मियों की शहादत के मामले में साजिश उजागर होनी चाहिए। सितंबर 2019 में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर में शहीद विनोद चौबे की प्रतिमा के अनावरण के दौरान इसकी घोषणा की थी। इस कार्यक्रम में शहीद आईपीएस विनोद कुमार चौबे की पत्नी रंजना चौबे और कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री को जांच की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा था। 11 सालों में थाना स्तर और विभागीय स्तर पर ही इस घटना की जांच की गई थी,
गौरी-गौरा पूजा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को चाबुक मारने की रस्म निभाने वाले बुजुर्ग का निधन, सीएम भूपेश ने शोक प्रकट किया

गौरी-गौरा पूजा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को चाबुक मारने की रस्म निभाने वाले बुजुर्ग का निधन, सीएम भूपेश ने शोक प्रकट किया

chhattisgarh, News
रायपुर / भिलाई। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार की सुबह एक भावानात्मक पोस्ट सोशल मीडिया पर साझा की। इस पोस्ट में उन्होंने जानकारी दी कि जंजगिरी गांव के रहने वाले भरोसा राम ठाकुर का निधन हो चुका है। भरोसा राम वही शख्स हैं जो हर साल दिवाली के अगले दिन होने वाली पूजा के दौरान मुख्यमंत्री को सोंटा (चाबुक) मारते थे। उनसे मेरे वर्षों पुराने आत्मीय संबंध रहे हैं, वे हमारे सम्मानीय बुजुर्ग थे। उनका निधन मेरे लिए पारिवारिक क्षति है। मैं ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति एवं परिवारजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना करता हूँ। ॐ शांति: — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) January 19, 2020 सीएम भूपेश ने लिखा-  मैं प्रत्येक वर्ष दीपावली के दूसरे दिन ग्राम जंजगिरी में आयोजित गौरी गौरा पूजा कार्यक्रम में हिस्सा लेता हूँ, जहां परंपरा अनुसार सभी विघ्नों के नाश तथा मंगल कामना के लिए भर
छत्तीसगढ़ के बजट 2020 में प्रदेश भर से जन-भागीदारी की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अपील

छत्तीसगढ़ के बजट 2020 में प्रदेश भर से जन-भागीदारी की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अपील

business, chhattisgarh, Govt Schemes, News
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश भर से जनता को छत्तीसगढ़ के बजट में भागीदारी एवं सुझाव देने की अपील की है, गौरतलब है भूपेश सरकार का ये दूसरा वित्तीय छत्तीसगढ़ का बजट होगा और प्रदेश सरकार के कार्यो की सरहाना चारो तरफ हो रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्विटर के द्वारा ट्वीट करके जनभागीदारी की अपील की है और सुझाव देने हेतु व्हाट्सप्प एवं ईमेल की जानकारी भी दी है। हम चाहते हैं कि आपकी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिये बनाये जाने वाले बजट में आपकी भागीदारी हो। कृपया अपने सुझाव देकर अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। आप अपने सुझाव निम्न माध्यमों से भेज सकते हैं:- ई-मेल- bhagidaribudget2020@gmail.com व्हाट्सएप्प- 7440413604#JanBhagidariBudget pic.twitter.com/wLvxPBgycs — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) January 18, 2020
रायपुर : कुपोषण के जाल से बाहर आई बिंदिया, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से आया परिर्वतन

रायपुर : कुपोषण के जाल से बाहर आई बिंदिया, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से आया परिर्वतन

chhattisgarh, Govt Schemes, News, special
दुर्ग। एकीकृत बाल विकास परियोजना दुर्ग (शहरी) के परिक्षेत्र-बोरसी अंतर्गत वार्ड क्रं.-48 उत्कल नगर दुर्ग अंतर्गत पिता श्री लिंगराज एवं माता श्रीमती सरिता के घर तीन साल पहले 8 अक्टूबर को दूसरी संतान के रूप में एक स्वस्थ बालिका ने बिंदिया जन्म लिया। माता-पिता पुत्री के जन्म से प्रसन्न थे। लेकिन निम्न आय वर्ग से संबंधित होने के कारण जीविकोपार्जन हेतु बच्ची को उसके 5 वर्षीय बड़े भाई के साथ घर पर छोड़ कर जाने लगे, जिसके कारण बच्ची धीरे-धीरे कुपोषण का शिकार होंने लगी। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के द्वारा राज्य सरकार की महत्वकांक्षी योजना मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान अंतर्गत दुर्ग जिले में सुपोषण अभियान का शुभारंभ गांधी जयंती के दिन हुआ। योजना अंतर्गत कुपोषित बच्चों एवं एनीमिक महिलाओं को क्रमशः कुपोषण एवं एनीमिया मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया। इसी योजना अंतर्गत बच्ची कुमारी बिंदिया को भी शामिल
छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजधानी रायपुर के इंडोर स्टेडियम में सीएए, एनआरसी और एनपीए मुद्दों पर केंद्र सरकार को साधा निशाना

छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजधानी रायपुर के इंडोर स्टेडियम में सीएए, एनआरसी और एनपीए मुद्दों पर केंद्र सरकार को साधा निशाना

chhattisgarh, india, News, politics
रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सीएए, एनआरसी और एनपीए को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठी सरकार लोगों को ताेड़ने का काम कर रही है। पिछला 5 साल मोदी का समय था। ये जो 7 महीने बीते हैं अमित शाह के हैं। दोनों मिलकर हिंदुस्तान के लोगों को अंग्रेजी सिखा रहे हैं। अमित शाह और मोदी के बीच मनमुटाव हो चुका है, जिससे देश पिस रहा है। एक कुछ और कहता है, दूसरा कुछ और। ऐसे में समझ नहीं आ रहा है कि किस पर भराेसा करें। मुख्यमंत्री बघेल शुक्रवार को नवनिर्वाचित पार्षदों के सम्मान समारोह में बोल रहे थे। पुलवामा हमले का जवाब अभी तक नहीं मिला, कहा जा रहा है डीएसपी देेवेंद्र सिंह घटना के समय वहीं पदस्थ था राजधानी के इंडोर स्टेडियम में हो रहे कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, लोकसभा चुनाव के समय पुलवामा की घटना घटी थी। उस वक्त भी सवाल कि
वरिष्ठ विधायक कांग्रेस नेता श्री सत्यनारायण शर्मा को जन्मदिन के उपलक्ष पर मुख्यमंत्री ने शुभकामनाएं दी

वरिष्ठ विधायक कांग्रेस नेता श्री सत्यनारायण शर्मा को जन्मदिन के उपलक्ष पर मुख्यमंत्री ने शुभकामनाएं दी

chhattisgarh, News, special
रायपुर। आज 17 जनवरी 2020 को वरिष्ठ विधायक कांग्रेस नेता श्री सत्यनारायण शर्मा के जन्मदिन के उपलक्ष पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुभकामनाएं और बधाई दी. मुख्यमंत्री ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट के माध्यम से बधाई दी. हम सबके सम्मानीय नेता श्री सत्यनारायण शर्मा जी के जन्मदिवस के अवसर पर मैं उन्हें ढेर सारी शुभकामनाएं एवं बधाई देता हूँ। ईश्वर उन्हें स्वस्थ एवं दीर्घायु रखे और वे ऐसे ही हम सबका मार्गदर्शन करते रहें। @stnrnsharma — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) January 17, 2020 श्री सत्यनारायण शर्मा जी का जीवन परिचय भारत के प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी, प्रतिष्ठित संपादक और लेखक पद्मभूषण पं. झाबरमल शर्मा के प्रपौत्र और श्री जगदीष प्रसाद शर्मा के पुत्र के रूप में 17 जनवरी सन् 1943 को जन्मे श्री सत्यनारायण शर्मा को जन सेवा एवं समाज से जुड़ाव का पाठ दरअसल विरासत से ही मिला है
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल – ISRO द्वारा वर्ष 2020 के पहले मिशन संचार उपग्रह GSAT-30 के सफलता पूर्वक प्रक्षेपण पर वैज्ञानिकों को बधाई

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल – ISRO द्वारा वर्ष 2020 के पहले मिशन संचार उपग्रह GSAT-30 के सफलता पूर्वक प्रक्षेपण पर वैज्ञानिकों को बधाई

chhattisgarh, india, News, special
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसरो (आईएसआरओ) द्वारा वर्ष 2020 के पहले मिशन संचार उपग्रह जीसैट-30 के सफलता पूर्वक प्रक्षेपण पर वैज्ञानिकों एवं उनकी पूरी टीम को शुभकामनाएं दी है। यह सैटेलाइट टेलीविजन अपलिंकिंग, डिजिटल सैटेलाइट खबर संग्रहण (डीएसएनजी), डीटीएच सैटेलाइट टीवी प्रसारण तथा टेली कम्युनिकेशन के क्षेत्र में विभिन्न कार्य करेगी । संचार उपग्रह जीसैट-30 को इसरो द्वारा शुक्रवार सुबह 2.35 बजे फ्रेंच गुआना के कौरू स्थित स्पेस सेन्टर युरोपियन रॉकेट एरियन 5-वीटी 252 से लॉन्च किया गया। ISRO द्वारा वर्ष 2020 के पहले मिशन संचार उपग्रह #GSAT-30 के सफलता पूर्वक प्रक्षेपण पर वैज्ञानिकों एवं उनकी पूरी टीम को ढेरों शुभकामनाएं एवं बधाई।🇮🇳 https://t.co/gIkmSeaDlf — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) January 17, 2020
खेलो इंडिया 2020 : छत्तीसगढ़ को चार पदक, मुख्यमंत्री और खेल मंत्री ने दी बधाई, विजेताओं को खेल दिवस पर किया जायेगा सम्मानित

खेलो इंडिया 2020 : छत्तीसगढ़ को चार पदक, मुख्यमंत्री और खेल मंत्री ने दी बधाई, विजेताओं को खेल दिवस पर किया जायेगा सम्मानित

chhattisgarh, News, sports
गुहावटी। असम में आयोजित खेलो इंडिया प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों ने अपने बेहतर खेल प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुये चार पदक अपने नाम करने में कामयाब रहे हैं। खिलाड़ियों के इस उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और खेल मंत्री श्री उमेश पटेल ने बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। खेलो इंडिया प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ से 13 खेलों में 102 खिलाड़ियों के दल ने भाग लिया है। 17 व 21 वर्ष आयु वर्ग के बालिका कबड्डी खेल प्रतियोगिता में कांस्य पदक प्राप्त हुआ है, वहीं जूडो में अनमोल को 80 किलो ग्राम वजन वर्ग में कांस्य पदक व भारोत्तोलन में ज्ञानेश्वरी यादव को 45 किलोग्राम वजन वर्ग में रजत पदक प्राप्त हुआ है। ज्ञानेश्वरी ने 61 किलो स्नेच व 76 किलो जर्क कुल 137 किलोग्राम वजन उठाकर राज्य के लिए ये उपलब्धि अर्जित की। खेलो इंडिया के पदक विजेता को मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप व्यक्तिगत खेलो में
छत्तीसगढ़ की दो बहादुर बच्चियों को 25 जनवरी 2020 राष्ट्रपति कोविंद द्वारा राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा

छत्तीसगढ़ की दो बहादुर बच्चियों को 25 जनवरी 2020 राष्ट्रपति कोविंद द्वारा राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा

chhattisgarh, News, special
रायपुर। अपनी जान की परवाह किए बगैर दूसरों की जान बचने वाली छत्तीसगढ़ की दो बहादुर बच्चियों को २५ जनवरी २०२० को नई दिल्ली में राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार 2019 से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा नवाजा जाएगा। छत्तीसगढ़ राज्य बल कल्याण परिषद ने अदम्य सहस का परिचय देने के लिए धमतरी जिले की भामेश्वरी निर्मलकर और सरगुजा जिले की कांति सिंह को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित करने की सिफारिश की थी। भामेश्वरी ने गहरे पानी से बच्चियों को निकाला ही नहीं होश में भी ले आई धमतरी जिले के कानीडबरी गांव में 12 साल की भामेश्वरी (पिता श्री जगदीश नेमलकर) ने गांव की दो बच्चियों को तालाब में डूबने से बचाया। गौरतलब है कि, कक्षा सातवीं की छात्रा भामेश्वरी को खुद तैरना ही नहीं आता था, फिर भी 17 अगस्त 2019 को गांव की दो बच्ची सोनम और चांदनी तालाब में डूबने से बचाया। जब दोनों बच्चे डूबने लगे उसी वक्त भामे