chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

Tag: bhupesh baghel

प्रदेश भर में धूमधाम से मनाई गई हरेली, पूजा-पाठ से हुई दिन की शुरुआत, गांव-गांव खो-खो और फुगड़ी जैसे खेलों का हुआ आयोजन

प्रदेश भर में धूमधाम से मनाई गई हरेली, पूजा-पाठ से हुई दिन की शुरुआत, गांव-गांव खो-खो और फुगड़ी जैसे खेलों का हुआ आयोजन

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में गुरुवार को हरेली पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। किसान जहां खेती में उपयोग होने वाले औजारों की पूजा कर रहे हैं, वहीं घरों में छत्तीसगढ़ी पकवान भी बनाए जा रहे हैं। लोग अपने-अपने कुल देवाताओं की पूजा अराधना भी कर रहे हैं। सरकार की ओर से हरेली पर्व को राज्य स्तर पर मनाया जा रहा है। राज्य बनने के बाद पहली बार हरेली को राज्य सरकार एक उत्सव के रूप में मना रही है। इस उत्सव पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने निवास से बैलगाड़ी पर सवार होकर निकलेंगे। राज्य के पहले पारंपरिक त्यौहार हरेली की शुरुआत भूपेश बघेल राजधानी रायपुर में करेंगे, जहां पर वे सीएम हाउस से बैलगाड़ी पर सवार होकर संस्कृति विभाग तक जाएंगे। वहां वे पारंपरिक व्यंजनों का स्वाद लेकर बिलासपुर जाएंगे। इस उत्सव के लिए प्रदेश के सभी मंत्रियों और प्राधिकरणों के अध्यक्षों, उपाध्यक्षों को अलग-अलग जिलों की
भूपेश सरकार की पहल: जाति प्रमाण पत्र सरलीकरण के लिए प्रदेश सरकार ने पांच सदस्यीय समिति बनाई

भूपेश सरकार की पहल: जाति प्रमाण पत्र सरलीकरण के लिए प्रदेश सरकार ने पांच सदस्यीय समिति बनाई

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | जाति प्रमाण पत्र को लेकर आ रही परेशानियों को दूर करने प्रदेश सरकार ने वरिष्ठ विधायक रामपुकार सिंह की अध्यक्षता में 5 सदस्यीय समिति का गठन किया है। अब समिति झारखंड, ओडिशा का दौरा कर वहां जाति प्रमाण-पत्र बनाने की प्रक्रिया का पहले अध्ययन करेगी फिर छत्तीसगढ़ सरकार को सुझाव देगी। समिति में ननकी राम कंवर, पुन्नूलाल मोहले, भुनेश्वर बघेल, मनोज मंडावी सहित अजा/जजा विभाग के सचिव और संचालक भी सदस्य के रूप में रहेंगे। समिति को 3 माह में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है। दरअसल, प्रदेश में बड़ी संख्या में अजा और अजजा वर्ग के लोग निवास करते हैं। लेकिन कई के जाति प्रमाण पत्र न बन पाने की बड़ी वजह भू-अभिलेख का अभाव होता है। ऐसे लोग बड़ी संख्या में है जो अजा अथवा अजजा वर्ग के हैं पर उनके पास मान्य प्रावधानों के अनुरूप आवश्यक अभिलेख नहीं है। यह समिति इस मामले को लेकर अध्यय
प्रदेश कांग्रेस की दो महत्वपूर्ण बैठकें संपन्न, बैठक में तीन प्रस्ताव पारित हुये

प्रदेश कांग्रेस की दो महत्वपूर्ण बैठकें संपन्न, बैठक में तीन प्रस्ताव पारित हुये

politics
रायपुर (एजेंसी) | प्रदेश कांग्रेस की दो महत्वपूर्ण बैठकें प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन में संपन्न हुई। पहली बैठक प्रदेश कार्यकारणी की हुई। दूसरी बैठक जिला एवं ब्लाक कांग्रेस अध्यक्षों, प्रदेश पदाधिकारियों, मोर्चा संगठन प्रकोष्ठ विभाग के अध्यक्षों की हुई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने संबोधन में कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने 6 महिने के कार्यकाल में जनता को राहत देने वाले बड़े फैसले लिये है। हमारे कामों को वित्त आयोग और नीति आयोग ने भी सराहा है। 6 माह में कांग्रेस की सरकार ने ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे कार्यकर्ता को सिर छुपाने की नौबत आये। सरकार के फैसलों को आप जनता के सामने गर्व से बता सकते है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने बैठक को संबोधित करते हुये कहा कि संगठन के एक-एक पदाधिकारी और कार्यकर्ता की जवाबदारी है कि वह कांग्रेस सरकार के द्वारा लिये गये निर्णयों और जनहित के फैसलों क
प्रदेश में पहली बार हरेली त्यौहार को भव्य रूप में किसानों के साथ मनाएगी सरकार, सभी नेतागण होंगे शामिल

प्रदेश में पहली बार हरेली त्यौहार को भव्य रूप में किसानों के साथ मनाएगी सरकार, सभी नेतागण होंगे शामिल

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | राज्य में पहली बार छत्तीसगढ़ के प्रमुख त्यौहार हरेली को भव्य स्तर पर मनाने की तैयारी है। इसकी जिम्मेदारी संस्कृति विभाग को दी गई है। एक अगस्त को हरेली पर जिलों में पारंपरिक गेंड़ी, नारियल फेंक के साथ स्थानीय खेल आयोजित होंगे। सभी प्रभारी मंत्री अपने-अपने जिलों के कार्यक्रमों में शामिल होंगे। इसमें वनाधिकार पट्टों के अलावा अन्य योजनाओं का भी लाभ दिया जाएगा। कृषि प्रधान छत्तीसगढ़ में त्योहारों की शुरुआत हरेली से होती है। इस दिन किसान खेती में उपयोग होने वाले सभी औजारों की पूजा करते हैं। गाय-बैलों की भी पूजा की जाती है। गेंड़ी सहित कई तरह के पारंपरिक खेल भी हरेली के आकर्षण होते हैं। राज्य बनने के बाद से सरकार ने पहली बार हरेली पर शासकीय छुट्टी घोषित की है  राज्य बनने के बाद अब तक कभी हरेली को इतने भव्य रूप में नहीं मनाया गया है। इस बार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हरेली पर छुट
आज सीएम भूपेश की माता का दशगात्र, प्रदेशभर से आएंगे लोग

आज सीएम भूपेश की माता का दशगात्र, प्रदेशभर से आएंगे लोग

chhattisgarh
भिलाई (एजेंसी) | सीएम भूपेश बघेल की मां बिंदेश्वरी बघेल के दशगात्र एवं श्रद्धांजलि कार्यक्रम बुधवार को होगा। कार्यक्रम भिलाई-3 मंगल भवन के सामने ग्राउंड में होगा। इसके लिए विशाल पंडाल तैयार किया जा चुका है। दोनों स्थानों पर एक साथ करीब 10 हजार लोग बैठकर ब्रह्मभोज ग्रहण  कर सकेंगे। कार्यक्रम में श्रद्धांजलि देने सीएम के परिजनों सहित प्रदेश भर से समर्थकों के साथ ही वीआईपी लोगों के जुटने की उम्मीद है। पुलिस ने भी कार्यक्रम स्थल के आसपास आधा दर्जन पार्किंग बनाया है। जहां 10 हजार गाड़ियों को एक साथ रखा जा सकता है। महिलाओं के लिए मंगल भवन में अलग व्यवस्था वहीं महिलाओं के लिए मंगल भवन में अलग व्यवस्था की गई है। मंगल भवन के भीतर के अलावा परिसर में भी पंडाल लगाया गया है। जहां एक साथ चार हजार महिलाओं को बैठाकर भोजन कराने की व्यवस्था की गई है। खाना परोसने का काम परिवार और समाज के लोगों के अलावा प
सीएम बघेल की मां का हुआ अंतिम संस्कार, श्रद्धांजलि देने पहुंचे दिग्विजय और कमलनाथ

सीएम बघेल की मां का हुआ अंतिम संस्कार, श्रद्धांजलि देने पहुंचे दिग्विजय और कमलनाथ

chhattisgarh
भिलाई (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता बिंदेश्वरी देवी का अंतिम संस्कार सोमवार दोपहर को उम्दा रोड स्थित मुक्तिधाम में किया गया। वहां मुख्यमंत्री बघेल ने मुखाग्नि दी। बिंदेश्वरी देवी की अंतिम यात्रा भिलाई सेक्टर 3 स्थित निज निवास से निकली। इसके बाद घाट तक सीएम ने कंधा दिया। जिस दौरान अंतिम यात्रा शुरू हुई सीएम बघेल फूट-फूट कर रोने लगे। इस मौके पर प्रदेश के पूरे मंत्रिमंडल के साथ ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई बड़े नेताओं और हाईकोर्ट के न्यायाधीश व आमजन उनके अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे थे। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और पूर्व सीएम व वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह भी भिलाई में श्रद्धांजलि अर्पित करने पहुंचे। अंतिम यात्रा के दौरान फूट-फूट कर रो पड़े मुख्यमंत्री सीएम की मां बिंदेश्वरी देवी का रविवार को उपचार के दौरान रायपुर के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया था। वह कई दि
CM भूपेश बघेल की माता बिंदेश्वरी देवी के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़, कई विधायक और नेता रहे मौजूद

CM भूपेश बघेल की माता बिंदेश्वरी देवी के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़, कई विधायक और नेता रहे मौजूद

chhattisgarh
भिलाई (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के माता बिंदेश्वरी देवी का पार्थिव शरीर देर रात भिलाई 3 निवास लाया गया। सोमवार को भिलाई 3 मुक्तिधाम में बिंदेश्वरी देवी की माता का अंतिम संस्कार किया जाएगा। बिंदेश्वरी देवी का पार्थिव शरीर भिलाई 3 स्थित आवास में रखा गया है। उनके अंतिम दर्शन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है। आपको बता दे कल शाम मुख्यमंत्री की माता का निधन रामकृष्ण हॉस्पिटल रायपुर में हो गया था। अंतिम दर्शन के लिए नेताओं से लेकर तामाम अन्य लोगों का तांता लगा हुआ है। सीएम से मिलकर लोग संवेदना प्रगट कर रहे हैं। जिसके तहत स्थानीय प्रशासन ने भिलाई-3 स्थित सीएम हाउस में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। लोगों की भीड़ और वीआईपी दौरे के मद्देनज़र सुरक्षा व्यवस्था दुरस्त कर दिए गए है। इस दौरान सीएम भूपेश बघेल सहित प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, गुंडरदेही विधायक कुंवर सिंह निषाद, विधायक देवेंद्र
नहीं रही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता, रामकृष्ण अस्पताल में ली अंतिम सांस, कांग्रेस के सभी कार्यक्रम रद्द

नहीं रही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता, रामकृष्ण अस्पताल में ली अंतिम सांस, कांग्रेस के सभी कार्यक्रम रद्द

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | राजधानी रायपुर में दुखद खबर सामने आई है, जहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मां बिंदेश्वरी बघेल का निधन हो गया है। बिंदेश्वरी बघेल ने राजधानी रायपुर के रामकृष्ण हॉस्पिटल में अंतिम सांसें लीं। उनके निधन के वक्त मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अस्पताल में ही थे। बता दें कि पिछले कई दिनों से वह बीमार चल रही थीं। इस घटना से पूरे प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई है। कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि सीएम भूपेश बघेल मां की तबीयत जानने के लिए रामकृष्ण हॉस्पिटल पहुंचे थे। तभी उनके सामने बिंदेश्वरी बघेल ने अंतिम सांसें लीं। बघेल की मां की मौत की सूचना के बाद उनके परिवार के सभी सदस्य मौके पर पहुंच गए। 29 मई को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मां बिंदेश्वरी बघेल की तबीयत खराब हुई थी https://youtu.be/I4JpjuQhlYA बता दें कि 29 मई को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मां बिंदेश्वरी ब
जन चौपाल: लोगों की समस्याओं से रूबरू हुए मुख्यमंत्री, पैरा मेडिकल तकनीशियनों की भर्ती में जांच के निर्देश

जन चौपाल: लोगों की समस्याओं से रूबरू हुए मुख्यमंत्री, पैरा मेडिकल तकनीशियनों की भर्ती में जांच के निर्देश

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मेडिकल कॉलेज रायपुर में पैरा मेडिकल तकनीशियनों की सीधी भर्ती में गड़बड़ी की जांच के निर्देश दे दिए हैं। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सचिव को  इस संबंध में निर्देश दिए गए हैं। इसको लेकर पैरा मेडिकल तकनीशियन एसोशिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने प्रांताध्यक्ष नरेश साहू के नेतृत्व में मुख्यमंत्री से मुलाकात की और उन्हें भर्ती में अनियमितता के बारे में बताया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को  “जन चौपाल, भेंट-मुलाकात” कार्यक्रम में लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। आप सबसे मिलने का सिलसिला जारी है आपके सुख-दुःख में मेरी भी हिस्सेदारी है।#भेंट_मुलाकात pic.twitter.com/neORjojfER — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) July 3, 2019 आवेदन की स्थिति को लेकर साइट से मोबाइल पर मिलेगा अलर्ट दरअसल, सरकार गठन के बाद पहली बार जन चौपाल के जरिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ल
सीएम बघेल ने किया कौशल विकास के 40 संस्थाओं का पंजीयन निरस्त

सीएम बघेल ने किया कौशल विकास के 40 संस्थाओं का पंजीयन निरस्त

chhattisgarh
रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कौशल विकास परियोजना की समीक्षा बैठक के दौरान अनियमितता बरतने वाले 14 संस्थाओं का वीटीपी पंजीयन और 40 बैचों का प्रशिक्षण निरस्त करने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने सुझाव दिया कि प्राधिकरण द्वारा मोबाइल एप्लीकेशन एप तैयार किया जाए, जिसमें ड्रायवर, क्लीनर सहित इलेक्ट्रॉनिक उपकरण रिपेयर, प्लंबर, रेफ्रिजरेटर मैकेनिक, मेडिकल और नर्सिंंग सहित विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षित युवाओं की जानकारी उनके मोबाइल नंबर सहित जन सामान्य के अवलोकन के लिए उपलब्ध हों। इससे नागरिकों को विभिन्न ट्रेण्ड के प्रशिक्षित युवाओं को खोजने में आसानी होगी और युवाओं को भी रोजगार के अच्छे अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा कि युवाओं को सही मायने में कौशल विकास के माध्यम से प्रशिक्षित कर उन्हें रोजगार व स्व-रोजगार से जोड़ा जाए। मुख्यमंत्री ने राज्य के युवाओं को ऐसे ट्रेड में प्रशिक्षण