chhattisgarh news media & rojgar logo

Tag: bemetara

बेमेतरा हादसा: अनियंत्रित कार तालाब में गिरी, डूबने से एक ही परिवार के 8 लोगों की मौके पर मौत

बेमेतरा हादसा: अनियंत्रित कार तालाब में गिरी, डूबने से एक ही परिवार के 8 लोगों की मौके पर मौत

chhattisgarh, News
बेमेतरा (एजेंसी) | यहां गुरुवार देर रात एक कार के तालाब में गिरने से 8 लोगों की मौके पर मौत हो गई। मृतकों में चार महिलाओं के अलावा एक 6 महीने की बच्ची भी शामिल है। मरने वाले सभी लोग एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, कार बाबा मोहतरा क्षेत्र से बेमेतरा की तरफ आ रही थी। ड्राइवर के नियंत्रण खो देने से कार अनियंत्रित होकर तालाब में चली गई। गहराई अधिक होने के कारण सभी लोग डूब गए। लोगों ने कार बाहर निकाली स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना देते हुए कार को रस्सी से बांधकर निकालने का प्रयास किया। टीआई राजेश मिश्रा भी मौके पर पहुंचे। जेसीबी की मदद से कार को बाहर निकाला गया। आठों लोगों को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। एसपी प्रशांत ठाकुर, कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी ने भी अस्पताल पहुंचकर घटना की जानकारी ली। कलेक्टर ने मृतकों के परिज
कर्ज नहीं चूका पाने से आत्महत्या कर चुके किसान के परिवार को बैंक ने वसूली का नोटिस भेजा

कर्ज नहीं चूका पाने से आत्महत्या कर चुके किसान के परिवार को बैंक ने वसूली का नोटिस भेजा

chhattisgarh
बेमेतरा (एजेंसी) | यह सब तब हो रहा है जब राज्य में सभी किसानों की कर्जमाफी का जोरशोर से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। बेमेतरा में कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या करने के बाद भी किसान के परिवार को राहत नहीं मिल रही है। बकाया राशि चुकाने के लिए बैंक अब भी परिवार को नोटिस पर नोटिस भेज रहा है। दूसरी ओर पीड़ित परिवार आज भी कर्ज माफी के लिए दफ्तरों का चक्कर लगा रहा है। लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। मृतक किसान पर है 4 लाख का क़र्ज़  दरअसल, बीते साल 2018 में 8 अक्टूबर को बालसमुंद गांव निवासी किसान रामअवतार साहू (56) ने पेड़ से लटकर आत्महत्या कर ली थी। रामअवतार ने अपने सुसाइड नोट में स्टेट बैंक के स्थानीय शाखा से  4 लाख रुपए कर्ज का जिक्र किया था। साथ ही पुलिस के एक मामले में फंसाने और अपने परिवार-वालों को परेशान न करने का भी जिक्र था। सुसाइड नोट के मुताबिक लगातार चार साल सूखा पड़ने के कारण वह क
मगरमच्छ ‘गंगाराम’ जो खाता था दाल-चावल, 125 साल बाद मरा तो अंतिम विदाई में रोया पूरा गांव

मगरमच्छ ‘गंगाराम’ जो खाता था दाल-चावल, 125 साल बाद मरा तो अंतिम विदाई में रोया पूरा गांव

chhattisgarh
बेमेतरा (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में एक गांव है बवामोहतरा। यहां तालाब में रहने वाले मगरमच्छ की मौत हुई तो पूरा गांव रो पड़ा। गांव के तालाब में रहने वाले 'गंगाराम' नाम के मगरमच्छ से लोगों काआत्मीय रिश्ता था। लोग गंगाराम को घर से लाकर दाल चावल भी खिलाते थे और वह बड़े चाव से खाता था। मंगलवार को गंगाराम की मौत हो गई, जिसके बाद पूरा गांव उसके अंतिम दर्शन के लिए उमड़ पड़ा। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); मंगलवार सुबह अचानक गंगाराम पानी के ऊपर आ गया। जब मछुआरों ने पास जाकर देखा तो गंगाराम की सांसे थम चुकी थी। जिसके बाद पूरे गांव में मुनादी करवाई गई। गंगाराम का शव तालाब से बाहर निकाला गया। ग्रामीणों ने सजा-धजाकर ट्रैक्टर पर उसकी अंतिम यात्रा निकाली। उसे श्रद्धा सुमन अर्पित करने लोगों का तांता लग गया। दूर-दूर से लोग गंगाराम के अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे। https://ww
मंत्री ने अगरबत्ती जलाकर किया पूजा-पाठ, परिक्रमा करने के बाद EVM में टीका लगाकर किया मतदान, हर कोई मौन होकर देखता रहा

मंत्री ने अगरबत्ती जलाकर किया पूजा-पाठ, परिक्रमा करने के बाद EVM में टीका लगाकर किया मतदान, हर कोई मौन होकर देखता रहा

chhattisgarh
बेमेतरा (एजेंसी) | मतदान केंद्र में पूजा-पाठ करने के मामले में मंत्री दयालदास बघेल बुरे फंस गये हैं। निर्वाचन आयोग ने दयालदास बघेल को नोटिस जारी कर गुरुवार 11 बजे तक जवाब मांगा है। बघेल नवागढ़ विधानसभा के भाजपा प्रत्याशी हैं। तब तक मतदान केंद्र में पहुंचे दूसरे वोटर भी वोट नहीं डाल पाए। यानि वोटिंग भी थमी रही। दरअसल मंगलवार को वोटिंग के पहले बघेल ने अपने गृहग्राम कूरा के मतदान केंद्र में अगरबत्ती जलाकर पूजा-पाठ किया था। उन्होंने मतदान केंद्र की परिक्रमा की और ईवीएम में टीका भी लगाया। फिर इवीएम को बकायदा प्रणाम किया। इसके बाद मतदान केंद्र के बाहर नारियल तोड़ा। इसके बाद उन्होंने वोट डाला। यह सब करते हुए उनके साथ मतदान केंद्र में बड़ी संख्या में समर्थक भी थे। उन्होंने इसका वीडियो रिकार्डिंग भी कराई। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); आज 11 बजे तक जवाब देने के लिए अल्टीम
बाफना ने खोया अपना आपा, मंच पर हुई जमकर तू-तू मैं-मैं

बाफना ने खोया अपना आपा, मंच पर हुई जमकर तू-तू मैं-मैं

politics
बेमेतरा (एजेंसी) | साजा विधानसभा के ग्राम डोगंरतराई में गुरुवार को भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में भाजपा के स्थानीय विधायक एवं संसदीय सचिव लाभचंद बाफना और युवा भाजपा नेता बसंत अग्रवाल मंच पर झगड़ पड़े। इस दरमियान मंच पर दिल्ली से अटल दूत के रूप में पहुंची मैगी पिंकी जोशी एवं प्रदेश के पूर्व मंत्री कृष्ण कुमार बांधी सहित सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे। इस घटना की जहां जमकर चर्चा हो रही है, वही वीडियो वाट्सएप व फेसबुक पर तेजी से वायरल हो रहा है। मंच पर आपस में भिड़े बाफना व बसंत सम्मेलन के दौरान कार्यकर्ताओं की कतार में बैठे भाजपा नेता बसंत अग्रवाल दोपहर करीब 2:30 बजे विधायक बाफना का स्वागत करने मंच पर पहुंचे और माइक लेकर बोलने लगे। यहां नाराज विधायक बाफना ने मंच से उतरने कहा इस पर बसंत ने बाफना से कहा कि आप मुझे अपमानित करके मंच से उतार रहे हैं। मुझे आपका सम्मान करने का अधिकार भी नहीं है।
बेमेतरा की ओटेबंद गोशाला अौर कांजी हाउस में भूख-प्यास से 25 गायों की मौत

बेमेतरा की ओटेबंद गोशाला अौर कांजी हाउस में भूख-प्यास से 25 गायों की मौत

chhattisgarh
बेमेतरा (एजेंसी)| भूख और प्यास के कारण ओटेबंद गोशाला व रजकुड़ी कांजी हाउस में 25 से अधिक गायों की मौत का मामला सामने आया है। ग्रामीणो के मुताबिक यहां चारा-पानी आैर शेड की व्यवस्था नहीं होने से गायों की अकाल मौत हो रही है। गोशाला अवैध है। मंगलवार सुबह 7 गायों की मौत के बाद उनके शवों को गांव के अलग-अलग स्थानों में फेंका गया। गोशाला संचालक के इस कृत्य से ग्रामीणों में खासी नाराजगी है। गोशाला की अध्यक्ष मैनादेवी मांडले व सचिव वर्षा कुर्रे हैं। ग्रामीणों के अनुसार मां प्रवीण करूणा समिति के नाम से भिनपुरी गांव के पास अवैध गोशाला संचालन हो रहा है। यहां व्यवस्था नहीं होने की वजह से गायों को रजकुड़ी पंचायत के कांजी हाउस लाया गया। लेकिन गोशाला संचालक यहां भी व्यवस्था बनाने में नाकाम रहा। नतीजतन गायों की मौत हो रही है। कीचड़ से सराबोर कांजी हाउस का परिसर रजकुड़ी में मवेशियों को खुले में रखा गया है। का