chhattisgarh news media & rojgar logo

special

जनसम्पर्क संचालनालय में कार्यरत मनोज हेड़ाऊ का निधन, शोक की लहर – श्रद्धांजलि

जनसम्पर्क संचालनालय में कार्यरत मनोज हेड़ाऊ का निधन, शोक की लहर – श्रद्धांजलि

chhattisgarh, News, special
रायपुर जनसम्पर्क संचालनालय में स्टेनो के पद पर कार्यरत 48 वर्षीय मनोज हेड़ाऊ नहीं रहे | शनिवार को उनका निधन हो गया | बताया जाता है कि कुछ माह से वो किडनी की बीमारी से ग्रसित थे | लगातार इलाज के चलते उन्हें कुछ दिनों तक स्वास्थ लाभ भी हुआ | लेकिन कुछ दिनों से उनका स्वास्थ लगातार गिरता रहा | मिलनसार और कामकाज के मामले में काफी सक्रिय मनोज हेड़ाऊ सहकर्मियों के बीच काफी लोकप्रिय थे | रायपुर के कबीरनगर स्थित शमशान घाट में रविवार की सुबह 10 बजे उनका अंतिम संस्कार होगा | मनोज हेड़ाऊ अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए है | जनसम्पर्क संचालनालय के समस्त स्टाफ ने उनके निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है | डायरेक्टर जनसंपर्क तारण सिन्हा ने उनके कार्यकाल को यादगार बताते हुए कहा कि दुःख की इस घडी में पूरा विभाग उनके परिवार के साथ है |  उन्होंने दिवंगत आत्मा के प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त की | न्यूज टुडे छत
रावत नाच महोत्सव 2019: रनिंग शील्ड की उम्र हुई 34 साल, पुरस्कार की राशि 183 रुपए से बढ़कर 1.37 लाख तक पहुंच गई

रावत नाच महोत्सव 2019: रनिंग शील्ड की उम्र हुई 34 साल, पुरस्कार की राशि 183 रुपए से बढ़कर 1.37 लाख तक पहुंच गई

chhattisgarh, entertainment, News, special
बिलासपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में सबसे बड़ा रावत नाच महोत्सव बिलासपुर में होता है। सामाजिक एकजुटता का परिचय देने वाला महोत्सव 42वां वर्ष पूरा करने जा रहा है। उसी तरह इस महोत्सव में जीते जाने वाली शील्ड की भी कहानी है। जिस तरह महोत्सव का वर्ष बढ़ता जा रहा है, वैसे ही शील्ड की उम्र भी बढ़ रही है। रावत नाच महोत्सव के प्रथम, द्वितीय और तृतीय शील्ड की उम्र 34 साल हो गई है। वहीं प्रथम, द्वितीय और तृतीय विजेताओं की 183 रुपए की पुरस्कार राशि से शुरू हुए महोत्सव की पुरस्कार राशि आज 1 लाख 37 हजार 438 रुपए हो गई है। तीन से 40 हुई रनिंग शील्ड मेंटेनेंस में होते हैं 20 हजार खर्च https://youtu.be/FNAJx8nuBUc रावत नाच महोत्सव समिति के संयोजक डॉ. कालीचरण यादव ने बताया कि 1978 में सिटी कोतवाली में तीन शील्ड और प्रथम पुरस्कार 101, द्वितीय 51 और तृतीय 31 रुपए के साथ महोत्सव की शुरुआत हुई थी। इसके बाद 19
रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने नेहरूजी की जयंती – बाल दिवस की बधाई दी

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने नेहरूजी की जयंती – बाल दिवस की बधाई दी

chhattisgarh, News, special
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों विशेषकर बच्चों को को बाल दिवस की बधाई दी है। उन्होने अपने बधाई संदेश में कहा है कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को बच्चे बहुत प्रिय थे, वे बच्चों को देश का भावी निर्माता मानते थे। बच्चे भी पंडित नेहरू से बहुत स्नेह रखते थे और उन्हें चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे। इसी स्नेह और प्रेम के कारण हर वर्ष हम पंडित जवाहर लाल नहरू के जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाते हैं। श्री बघेल ने कहा कि बाल दिवस बच्चों के लिए समर्पित दिन है। इस दिन को भावी पीढ़ी और राष्ट्र के भविष्य निर्माण के रूप में लें। सभी लोग बच्चों के पोषण, शिक्षा, विकास और चरित्र निर्माण के लिए सोचें और आवश्यक कदम उठाएं। श्री बघेल ने कहा कि बच्चों में कुपोषण विश्व की एक बड़ी समस्या है। कमजोर नींव पर मजबूत इमारत खड़ी नहीं हो सकती। कमजोर और कुपोषित बच्चों से हम विकसित राष
खिल उठेगा प्रभु श्री राम जी का ननिहाल, कौशल्या मंदिर को सुसज्जित करने विधायक द्वय ने मुख्यमंत्री को सौंपा 1.10-1.10 लाख रूपए का चेक

खिल उठेगा प्रभु श्री राम जी का ननिहाल, कौशल्या मंदिर को सुसज्जित करने विधायक द्वय ने मुख्यमंत्री को सौंपा 1.10-1.10 लाख रूपए का चेक

chhattisgarh, News, special, tourism
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को आज उनके निवास कार्यालय में आयोजित जनचौपाल भेंट मुलाकात कार्यक्रम में रायपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री विकास उपाध्याय और भिलाई के विधायक तथा महापौर श्री देवेन्द्र यादव ने चंदखुरी स्थित कौशल्या माता मंदिर को बेहतर ढ़ंग से व्यवस्थित करने और निर्माण कार्य के लिए 1.10-1.10 लाख रूपए का चेक सौंपा। इस अवसर पर वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर और रायपुर उत्तर के विधायक श्री कुलदीप जुनेजा भी उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि राजधानी रायपुर से करीब 27 किमी दूरी पर आरंग विकासखंड के ग्राम चंद्रखुरी में माता कौशल्या का मंदिर है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की माता कौशल्या का यह मंदिर पूरे भारत में एक मात्र होने के कारण प्रसिद्ध है। छत्तीसगढ़ को भगवान राम का ननिहाल माना जाता है। यह क्षेत्र रामवनगमन पथ में होने के कारण उनके यहां वनवास काल में आने की जनश्रुति मिलती है।
नेशनल ट्राइबल फेस्टिवल 2019: पहला ट्राइबल फेस्टिवल रायपुर में, आठ राज्यों के 2500 आदिवासी देंगे प्रस्तुति

नेशनल ट्राइबल फेस्टिवल 2019: पहला ट्राइबल फेस्टिवल रायपुर में, आठ राज्यों के 2500 आदिवासी देंगे प्रस्तुति

chhattisgarh, News, special
रायगढ़ (एजेंसी) | पहली बार राज्य में नेशनल ट्राइबल डांस फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। यहां देश के लगभग सभी राज्यों से आदिवासी नृतक दल के कलाकार प्रस्तुति देने पहुंचेंगे। रायगढ़ जिले से भी पंथी, कर्मा और महोत्सव के तय कैटेगरी विवाह, फसल कटाई, परंपरागत त्योहारों पर निर्धारित कार्यक्रमों की तैयारी कर रहे हैं। आदिवासी विभाग पहले ब्लॉक स्तर पर कलाकारों की प्रस्तुतियों के आधार पर चयन करेगी। इसके बाद जिला और फिर संभाग स्तर पर चयन प्रक्रिया होगी। छत्तीसगढ़ के साथ ही एमपी, झारखंड, यूपी, बिहार, असम, कर्नाटक, केरल के कलाकार होंगे शामिल https://www.youtube.com/watch?v=vQwBfa6N6Js इन सब में बेहतर कलाकारों को नेशनल ट्राइबल फेस्टिवल में प्रस्तुति देने का मौका मिलेगा। इसमें छत्तीसगढ़ के अलावा झारखंड, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, कर्नाटक, केरल, दक्षिण भारत के ढाई हजार से ज्यादा कलाकार हिस
राम जन्म भूमि अयोध्या: अदालत का फैसला सुन फफककर रोने लगे छत्तीसगढ़ के एकमात्र कारसेवक

राम जन्म भूमि अयोध्या: अदालत का फैसला सुन फफककर रोने लगे छत्तीसगढ़ के एकमात्र कारसेवक

News, politics, special
कोरबा (एजेंसी) | भगवान श्री राम का नाम लेकर कई लोगों ने अपने सियासी करियर में सितारे जोड़ लिए। मगर बहुत से अब भी गुमनामी की जिंदगी ही जी रहे हैं। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के सुदूर गांव में एक ऐसा ही शख्स इन दिनों भीख मांगकर जिंदगी बिता रहा है। इनका नाम है गेसराम चौहान। कोरबा जिले की करतला तहसील के ग्राम चचिया के मूलनिवासी हैं। वे छत्तीसगढ़ के ऐसे एक मात्र व्यक्ति हैं जिन्हें 1990 की कारसेवा के दौरान पेट में गोली लगी थी। उसके बाद 1992 की कारसेवा में भी शामिल हुए और लाठियां खाई। गेसराम उन लोगों में शामिल थे, जिन्होंने विवादित ढांचा गिराकर अयोध्या में राम मंदिर बनाने का आंदोलन किया। रो पड़े, पूछा - सच में मंदिर बनने वाला है क्या? गेसराम को जब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बारे में बताया गया तब 65 साल का यह बुजुर्ग अवाक हो गया। हाथ में पकड़ी लाठी, भिक्षापात्र व झोला गिर पड़ा। भावावेश में वे रोने लग
छत्तीसगढ़: जशपुर में 100 एकड़ में चाय-कॉफी, कोंडागांव में मक्का व गरियाबंद में 32 करोड़ में लगाएंगे कोदो प्रोसेसिंग सेंटर

छत्तीसगढ़: जशपुर में 100 एकड़ में चाय-कॉफी, कोंडागांव में मक्का व गरियाबंद में 32 करोड़ में लगाएंगे कोदो प्रोसेसिंग सेंटर

chhattisgarh, News, special, tourism
रायपुर (एजेंसी) | पहली बार राज्य के आदिवासी क्षेत्रों की विशेषता को ध्यान में रखकर सरकार ने 2474 करोड़ का प्लान तैयार किया है। इसके अंतर्गत जशपुर में 100 एकड़ में चाय-कॉफी प्रोसेसिंग सेंटर, कोंडागांव में मक्का और सूरजपुर व गरियाबंद में 32 करोड़ खर्च कर कोटो-कुटकी प्रोसेसिंग सेंटर लगाए जाएंगे। मुख्य सचिव सुनील कुजूर की अध्यक्षता में अनुसूचित जनजाति उपयोजना समिति की बैठक में इसका खाका तैयार कर लिया गया है। इसे केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्रालय को भेजा जाएगा। राज्य के उत्तरी व दक्षिणी हिस्से की जलवायु विविधता के साथ-साथ कई खास किस्म के उत्पादों के लिए भी बेहतर है। जैसे जशपुर में चाय की खेती की जा रही है। जशपुर और बस्तर में काजू का उत्पादन होता है। इसे ध्यान में रखकर इन क्षेत्रों के विकास के लिए प्लान तैयार किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि इन क्षेत्रों में प्रोसेसिंग सेंटर के साथ-साथ ब
बालोद – सीताफल से आईसक्रीम, बेल व अम्बाड़ी से शरबत तैयार कर आर्थिक स्थिति मजबूत करें

बालोद – सीताफल से आईसक्रीम, बेल व अम्बाड़ी से शरबत तैयार कर आर्थिक स्थिति मजबूत करें

chhattisgarh, News, special
कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने कहा कि सीताफल से आईसक्रीम, बेल व अमारी (अम्बाड़ी) से शरबत तैयार व विक्रय कर आर्थिक-सामाजिक स्थिति मजबूत किया जा सकता है। श्रीमती साहू विगत दिनों जनपद पंचायत बालोद के परिसर में सीताफल से आईसक्रीम, बेल व अमारी (अम्बाड़ी) से शरबत बनाने आयोजित प्रशिक्षण में जिले के कृषक अभिरूचि समूहों की सदस्यों को सम्बोधित कर रही थी। प्रशिक्षण में जिले के सीता मैय्या महिला कृषक अभिरूचि समूह कोटागॉव विकासखण्ड डौण्डी, सौभाग्य महिला कृषक अभिरूचि समूह पेटेचुवा विकासखण्ड डौण्डी और ज्योति महिला कृषक अभिरूचि समूह पेटेचुवा विकासखण्ड डौण्डी को प्रशिक्षण दिया गया। कलेक्टर ने कहा कि कृषि विभाग के अंतर्गत अनेक योजनाए संचालित है, जिसका लाभ उठाकर अधिक आमदनी प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने कहा कि स्थानीय रूप से उपलब्ध प्राकृतिक संसाधनों विशेषकर कृषि, वानिकी, जैविक उत्पादों के उपार्जन, प्र
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को दीपावली की बधाई और शुभकामनाएं दी, पूरे प्रदेश में गौठान दिवस के रूप में मनाया जाएगा गोवर्धन पूजा का त्यौहार

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को दीपावली की बधाई और शुभकामनाएं दी, पूरे प्रदेश में गौठान दिवस के रूप में मनाया जाएगा गोवर्धन पूजा का त्यौहार

chhattisgarh, News, special
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को दीपावली की बधाई और शुभकामनाएं दी है। उन्होने अपने बधाई संदेश में कहा है कि दीपावली का त्यौहार सबके जीवन में स्वास्थ्य, खुशहाली और समृद्धि लाए। श्री बघेल ने कहा कि त्यौहार हमारी संस्कृति का अभिन्न अंग हैं। यह आपसी भाई-चारे, सौहार्द और मेलजोल बढ़ाने के अवसर होते हैं जो जीवन में नई उमंग और स्फूर्ती लेकर आते हैं। धन तेरस से लेकर भाई-दूज तक दीपोत्सव 5 दिनों तक उमंग और उत्साह मनाया जाता है। उन्होंने कामना की है कि रोशनी के इस त्यौहार से सबके जीवन के अंधेरे दूर हों और खुशहाली का प्रकाश सभी का घर-आंगन आलोकित करे। मुख्यमंत्री ने अपने बधाई संदेश में कहा है कि - आवव, सब्बो-मन जुर-मिल के गढ़बो नवा छत्तीसगढ़, मोरो डहर ले एक दीया आपके जिनगी मा उजियार बर। श्री बघेल ने कहा कि राज्य सरकार ने गौठानों और गोधन के संरक्षण और संवर्धन के उद्देश्य से गोवर्धन पूजा को
रायपुर : ’गोेबर और मिट्टी के दीये से दीवाली‘ वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल : मात्र दो ही दिन में 3 लाख से अधिक लोगों ने देखा

रायपुर : ’गोेबर और मिट्टी के दीये से दीवाली‘ वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल : मात्र दो ही दिन में 3 लाख से अधिक लोगों ने देखा

chhattisgarh, News, special, Videos
रायपुर. दीपावली के अवसर पर इस बार अपने घरों को गोबर और मिट्टी से बने दीपक से रौशन करने वाला वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। मात्र दो ही दिन में इस वीडियो को 3 लाख से भी अधिक लोगों ने बउव छत्तीसगढ़ के ऑफीशियल फेसबुक पेज में देखा और देखने वालों की यह संख्या लगातार तेजी से बढ़ रही है। इसे एक लाख 35 हजार लोगों ने लाईक किया और पांच हजार से अधिक लोगों ने शेयर किया है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों से इस दीपावली में छत्तीसगढ़ के कुम्हारों, हस्तशिल्पियों, बुनकरों और अन्य कारीगरों द्वारा बनाए गए दीयों, वस्त्र, सजावट की वस्तुएं उपहार एवं अन्य सामग्री का अधिक से अधिक क्रय करने की अपील की है ताकि लोगों के इस छोटे से प्रयास से राज्य में इन व्यवसायों से जुडे लाखों लोगों के जीवन में दीपावली की खुशियां बिखर सके। https://www.youtube.com/watch?v=d5ot0JTu0KA राज्य सरकार के