chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

छत्तीसगढ़ विधानसभा सत्र: विधायक भीमा की हत्या, हिरासत में मौत पर हंगामे के आसार

रायपुर (एजेंसी) | मानसून सत्र में भाजपा दंतेवाड़ा विधायक भीमा मंडावी की नक्सल हत्या, हिरासत में मौतों से लेकर छह महीनों में वित्तीय स्थिति गड़बड़ाने पर राज्य सरकार को घेरेगी। हालांकि बदले में कांग्रेस अपनी उपलब्धियों के साथ-साथ पिछली सरकार में हुए घोटालों को सामने लाएगी। सत्र के लिए भाजपा व जनता कांग्रेस गठबंधन के साथ-साथ सत्ता पक्ष के विधायकों ने भी तैयारी कर ली है।

नक्सल और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भाजपा स्थगन प्रस्ताव लाने की तैयारी में है। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया शुक्रवार को विधायक दल के साथ बैठक करेंगे। मानसून सत्र की शुरुआत शुक्रवार को होगी। इसके बाद दो दिन छुट्टी है। सोमवार से शुक्रवार के बीच पांच दिन की कार्यवाही होगी। इन पांच दिनों में प्रश्नकाल के साथ-साथ शून्यकाल में जबर्दस्त हंगामे के आसार हैं।

नक्सल हमले में भाजपा विधायक मंडावी की मौत पर भाजपा स्थगन ला सकती है। इसके अलावा हिरासत में मौत के मामले में भी भाजपा काम रोककर चर्चा कराने की मांग कर सकती है। इसके अलावा पिछले छह महीनों में वित्तीय कमी के कारण प्रदेशभर में काम अटकने, प्रशासनिक अराजकता, किसानों की कर्ज माफी नहीं होने के मुद्दे को भी प्रमुखता से उठाएगी। जनता कांग्रेस और बसपा के विधायक भी किसान व कानून व्यवस्था से लेकर अन्य मुद्दों पर सरकार को घेरेंगे।

इधर, कांग्रेस के विधायकों ने भी ऐसे मुद्दे उठाने की तैयारी की है, जिससे पिछली सरकार में हुई गड़बड़ियां सामने आ सके। धान खरीदी, केरोसिन के मुद्दों पर केंद्र सरकार से मदद नहीं मिलने को लेकर भी कांग्रेसी सदन में भाजपा पर दबाव बनाने की कोशिश करेंगे।

केशव चंद्रा बोले- अविश्वास प्रस्ताव लाने का यह समय नहीं

जोगी कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव को लेकर एक राय नहीं बन पा रही है। अविश्वास प्रस्ताव लाने के जोगी कांग्रेस के दावे को खारिज करते हुए जैजैपुर विधायक केशव चंद्रा ने कहा कि इस संबंध में मुझसे किसी की कोई चर्चा नहीं हुई है। जहां तक बात अविश्वास प्रस्ताव की है। यह समय अविश्वास प्रस्ताव लाने का नहीं है। दूसरी तरफ, जोगी कांग्रेस के खैरागढ़ विधायक देवव्रत सिंह ने भी कहा कि अभी तक अधिकृत तौर पर अविश्वास प्रस्ताव के संबंध में कोई जानकारी नहीं आई है। मैंने भी समाचार पत्रों में ही पढ़ा है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक का कहना है कि विधायक दल की बैठक में फैसला होगा।

आज केवल श्रद्धांजलि

पहले दिन विधायक भीमा मंडावी के निधन के उल्लेख के बाद श्रद्धांजलि दी जाएगी। श्रद्धांजलि के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित की जा सकती है।

अपने विधायकों के सवालों पर भी घिर सकते हैं मंत्री

मंत्रियों को अपने विधायकों के सवालों का भी जवाब देना पड़ेगा। कांग्रेस विधायकों ने ही 600 से ज्यादा सवाल लगाए हैं।

रमन बोले-सदन में बताएंगे 6 माह में लाेग कितने परेशान

मानसून सत्र से पहले पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि इस छोटे सत्र में कांग्रेस सरकार काे हम बताएंगे कि 6 महीने की सरकार में जनता किस तरह से परेशान है। समाज के अलग-अलग वर्गों में जो गुस्सा है, उसकी झलक विधानसभा में देखने को मिलेगी।

उन्होंने कहा कि हम विधायक भीमा मंडावी की हत्या, किसानों की ऋणमाफी,  अटार्नी जनरल (महाधिवक्ता) की नियुक्ति, रेत नीति, शराब बंदी में वादाखिलाफी, खाद-बीज की कमी, पुलिस हिरासत में अब तक 3 व्यक्तियों की मौत, आर्थिक अराजकता, स्कूली छात्रों से शिक्षकों के छेड़छाड़, तीर्थयात्रा में भ्रष्टाचार, अमानक दवाई एवं दवाई खरीदी में भ्रष्टाचार का मुद्दा प्रमुखता से सदन उठाएंगे।, स्मार्ट कार्ड योजना, आयुष्मान योजना, प्रदेश में अघोषित बिजली कटौती, बिजली हाफ, बेरोजगारी और बुनकरों को धागा नहीं मिलने का मुद्दा प्रमुखता से सदन उठाएंगे। विपक्ष के पास अनेक मुद्दे हैं जिस पर हम सरकार को घेरने के लिए पूरी तैयारी में है।

Leave a Reply