Shadow

रायपुर में गरजे अमित शाह; बोले, ‘इस बार ऐसी पटखनी देंगे कि विपक्ष के होश उड़ जाएंगे’

रायपुर (एजेंसी) | लोकसभा चुनाव में कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाने और जीत के लिए ट्रिक्स देने रायपुर आए भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि इस बार चुना में विपक्षियों को ऐसी पटखनी देंगे कि होश उड़ जाएंगे। छग में 10 साल तक भाजपा की सरकार और अगले 5 साल तक डबल इंजन वाली सरकार यानी केंद्र में भी भाजपा की सरकार रही है। इन 15 सालों में छत्तीसगढ़ को बदलने का काम हुआ है।

छग की जनता इन्हें क्यूं लाई थी?

अमित शाह ने इंडोर स्टेडियम में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता इन्हें (कांग्रेस) को क्यों लेकर आई थी? अपना स्वास्थ्य ठीक करने के लिए या खराब करने के लिए? इस सरकार ने आते ही अदले की भावना से आयुष्मान योजना बंद कर दी।

ठंड में छूट रहे हैं पसीने

कांग्रेस पार्टी की सरकार ने किसानों को धान का सही मूल्य देने का वादा किया था। खुले में धान पड़े हैं। भुगतान के लिए रिजर्व बैंक से लोन लेना पड़ रहा है। सरकार ने किसानों के साथ छल किया। पूरा कृषि ऋण माफ करने की बात कही थी। बिजली बिल हाफ करने की बात की। आते ही 400 यूनिट की बात करने लगे। पहले क्यों नहीं बोले। शराबबंदी करने का वचन दिया था। क्या हुआ? बंद हुआ?

पूत के पांव पालने में

शाह ने कहा कि ये सरकार पहले से घोटाले करने की तैयारी में है। पूत के पांव पालने में ही दिखने लगे हैं। पहले रमन सिंह की सरकार थी। इस सरकार को कुछ घोटले करने नहीं थे। इसलिए सीबीआई से डर नहीं था। उनके लिए दरवाजे खुले हुए थे। कांग्रेस पार्टी की सरकार ने आते ही राज्य में सीबीआई के दरवाजे बंद कर दिए। इनकी मंशा साफ जाहिए हो रही है।

हम साबित करेंगे कि छत्तीसगढ़ भाजपा का है

शाह ने कहा कि हम इस चुनाव में साबित कर देंगे छत्तीसगढ़ भाजपा का गढ़ था, है और आगे भी रहेगा। इन दो महीने में घर-घर संदेश फैलाना है। शाह ने कार्यकर्ताओं से कहा कि इस चुनाव के अंदर सूक्ष्म आयोजन का काम करके नक्शा बनाइए। आप ही वो कार्यकर्ता हैं जिसने तीन-तीन बार सरकार बनाई है। मैं और किसपर भरोसा करूं? आप चुनाव लड़े हैं और लड़ाए हैं। जीते और जीताएं हैं।

केवल एक सीट पर सिमट गई थी कांग्रेस 

पिछले दो लोकसभा चुनावों में प्रदेश की 11 सीटों में से 10 पर भाजपा का कब्जा रहा है। गत लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के महज एक लीडर ताम्रध्वज साहू को दुर्ग सीट से सफलता मिली थी। वर्ष 2009 में हुए आम चुनाव में कांग्रेस पार्टी से केवल एक चरणदास महंत को कोरबा सीट से जीत मिली थी। तब वे केंद्र की कांग्रेस सरकार में मंत्री भी रहे थे। इस बार विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद माना जा रहा है कि कांग्रेस भाजपा को कड़ी टक्कर देगी। इसे लेकर भाजपा काफी गंभीर है।

RO-11243/71

Leave a Reply