chhattisgarh news media & rojgar logo

कैबिनेट का शपथ ग्रहण समारोह ; राहुल का निर्देश-हंगामा करने वालों पर होगी कार्रवाई

रायपुर (एजेंसी) | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के शपथ लेने के बाद अब मंत्रीमंडल का विस्तार किया जाएगा। नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह मंगलवार को पुलिस परेड ग्राउंड में होगा। इसके लिए राजभवन में तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल सोमवार देर शाम तक रायपुर पहुंच जाएंगी। इसके बाद सुबह 11 बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा।

वहीं शपथ ग्रहण समारोह के बाद हंगामे के भी आसार जताए जा रहे हैं। अपने नेता को मंत्रीपद नहीं मिलने से नाराज समर्थक और पार्टी कार्यकर्ता हंगामा कर सकते हैं। इसे देखते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इसमें साफ तौर पर कहा गया कि हंगामा होने पर उसे नियंत्रित रखा जाए और पार्टी विरोधी गतिविधियां पर कार्रवाई की जाए।

दरअसल, प्रदेश में नई सरकार के गठन के साथ ही मंत्रीमंडल गठन को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। चुनाव में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता जीतकर आए हैं। साथ ही कई विधायकों ने भाजपा के दिग्गज मंत्रियों तक काे शिकस्त दी। ऐसे में मंत्रियों के नाम को लेकर सहमति नहीं बन पा रही थी।

इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित वरिष्ठ नेताओं ने दिल्ली पहुंचकर आलाकमान के नेताओं से बात की। राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हुई बैठक के बाद प्रदेश के नेता शनिवार रात ही कैबिनेैट मंत्रियों की सूची लेकर लौटे हैं। हालांकि अभी तक उनके नामों का खुलासा नहीं किया गया है।

शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और प्रभारी सचिव डॉ चंदन यादव सोमवार शाम 7 बजे दिल्ली से रायपुर पहुंचेंगे। मंत्रिमंडल में जातिगत समीकरण और क्षेत्रों का विशेष ध्यान रखा गया है। वहीं पहली बार के विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया है।

मंत्रिमंडल में एससी, एसटी, ओबीसी, सामान्य के अलावा एक अल्पसंख्यक और एक महिला को कैबिनेट में जगह दी जाएगी। इनमें अनिला भेड़िया, मोहम्मद अकबर, उमेश पटेल, धनेंद्र साहू और शिव डहरिया के नाम शामिल हैं। मंत्रियों का नाम गुप्त रखा है। कयास लगाए जा रहे हैं कि मंत्री पद न मिलने से होने वाली नाराजगी दूर करने के लिए ऐसा किया जा रहा है।

वैसे वरिष्ठ विधायकों के समर्थक दबाव बनाने लगे हैं। कोंटा विधायक कवासी लखमा के समर्थकों ने मंत्री बनाने के लिए रविवार को जमकर प्रदर्शन किया। वे लगातार पांचवीं बार विधायक चुने गए हैं। मुख्यमंत्री बघेल के साथ ही 17 दिसंबर को वरिष्ठ नेता टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू पहले ही शपथ ले चुके हैं।

मुख्य सचिव और डीजीपी ने किया समारोह स्थल का निरीक्षण

मुख्य सचिव अजय सिंह और डीजीपी डीएम अवस्थी सोमवार शाम को पुलिस लाइन पहुंचे और शपथ ग्रहण समारोह स्थल का जायजा लिया। उनके साथ में रायपुर कलेक्टर, आईजी, एसपी और पीडब्ल्यूडी के सचिव समेत जिले के कई अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply