chhattisgarh news media & rojgar logo

राहुल गाँधी छत्तीसगढ़ दौरा टला, 5 सदस्यीय कमेंटी करेगी छत्तीसगढ़ में चुनाव का संचालन

रायपुर (एजेंसी) | कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी अब छत्तीसगढ़ के चुनावी दौरे पर नहीं आएंगे। पहले वे 12 अक्टूबर को राजनांदगाव आने वाले थे। अचानक दौरा रद्द करने के पीछे की वजह सीटों की सौदेबाज़ी का वीडियो बताया जा रहा है। राहुल गाँधी ने कांग्रेस के नेताओ को अलग-अलग दिल्ली बुलाकर फटकार लगाई थी। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनावो के तारीखों की घोषणा हो चुकी है और अभी तक छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी के नाम सामने नहीं लाया है। इसीलिए अब कमेटी चुनाव का संचालन करेगी।

5 सदस्यीय कमेटी का गठन होगा

सीडी कांड के बाद से राहुल छत्तीसगढ़ के सभी मामलों की खुद ही निगरानी कर रहे हैं। इसी सिलसिले में सोमवार को राहुल गांधी आैर महामंत्री प्रशासन मोतीलाल वोरा के बीच हुई बैठक के बाद एक नई समिति बनाने पर सहमति बनी है।चुनाव संचालन के लिए 5 सदस्यीय कमेटी बनाने जा रहा है। एक-दो दिन इसकी औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी। दो सीटों की कथित सौदेबाजी से नाराज प्रदेश के नेताओं को संतुष्ट करने के लिए कांग्रेस नेतृत्व ने यह फैसला किया है। इस फैसले को पीसीसी चीफ भूपेश बघेल का प्रभाव कम करने वाला माना जा रहा है। सीडी कांड में अपनी ही पार्टी के नेताओं को कमजोर करने जैसा संदेश लोगों के बीच गया है। कमेटी में पीसीसी चीफ भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, डॉ. चरणदास महंत, ताम्रध्यज साहू, अरविंद नेताम और कमला मनहर को रखा गया है।




समझा जा रहा है कि 3 दिन पहले दिल्ली में राहुल गांधी के साथ प्रदेश के नेताओं की मीटिंग के बाद यह फैसला हुआ है। उस दिन राहुल ने नेताओं से अलग-अलग बात कर सीडी कांड पर उनकी राय जानी थी। तभी से यह बात प्रचारित हो रही थी कि पीसीसी में बड़ा बदलाव संभावित है। राहुल ने किसी नेता पर कार्र‌वाई तो नहीं की लेकिन पूरे चुनाव संचालन के लिए वरिष्ठ नेताओं की कमेटी बनाकर मैसेज जरूर दे दिया है।

कांग्रेस ने संकेत दिए है कि राहुल गांधी अब दशहरे के बाद छत्तीसगढ़ दौरे पर आएंगे। इसके पहले राहुल गांधी नवरात्र में प्रदेश दौरे पर आने वाले थे लेकिन राजस्थान आैर मध्यप्रदेश के बिजी शेडयूल के कारण राहुल गांधी का संभावित दौरा टल गया है।

12 को प्रत्याशियों के नाम पर लगेगी मुहर 

10 अक्टूबर को भुवनेश्वर कलिता की अध्यक्षता वाली स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक दिल्ली होगी। इसमें प्रदेश चुनाव कमेटी द्वारा भेजी गई नामों की सूची का स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा तैयार की गई सूची से मिलान करने के बाद नई सूची तैयार की जाएगी। यह सूची केंद्रीय चुनाव समिति को भेजी जाएगी। जिस पर 12 अक्टूबर को होने वाली केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक में निर्णय लिया जाएगा इसके बाद प्रत्याशियों के नामों पर मुहर लगेगी। बताया गया है कि एआईसीसी पहले चरण के प्रत्याशियों के नामों की घोषणा पहले करेगी इसके बाद अन्य प्रत्याशियों के नाम घोषित करेगी।



Leave a Reply