chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

जगदलपुर में भाजपा के विकास कार्यों व उपलब्धियों पर प्रधानमंत्री ने भरी हुंकार, कहा, ‘जिन बच्चो के हाथो में कलम होनी चाहिए उन हाथो में नक्सली बन्दूक पकड़ा देते है’

  • युवा छत्तीसगढ़ के सपनों को साकार करने हम प्रतिबध्द: मोदी
  • नक्सलियों को क्रांतिकारी बताने पर जताया रोष, कहा- देश उन्हें कभी माफ नहीं करेगा

रायपुर/जगदलपुर| छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के मद्देनजर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विकास कार्यों और उपलब्धियों की हुंकार भरकर भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में ज्यादा-से-ज्यादा मतदान करने की अपील की। श्री मोदी ने जगदलपुर में भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में हुई विशाल जनसभा को संबोधित किया। अपने लगभग 50 मिनट के भाषण में एक ओर उन्होंने केन्द्र व राज्य सरकार की उपलब्धियों की हुंकार भरी तो दूसरी तरफ नक्सलवाद पर तीखा प्रहार कर कांग्रेस को कठघरे में खड़ा किया।



पीएम मोदी ने हल्बी भाषा में किया अभिवादन 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संबोधन की शुरुआत में बस्तर की जनता का अभिवादन वहां की हल्बी भाषा में किया। उन्होंने माँ दंतेश्वरी से प्रार्थना की और यहां की शांति व समृध्दि के लिए कामना की। उन्होंने बस्तर के सभी प्रत्याशियों को मंच पर अपने पास बुलाकर उन्हें आशीर्वाद देने की अपील की। उन्होंने कहा कि त्यौहार के दिन इतनी संख्या में लोगों का आना यह बताता है कि यह चुनावी सभा नहीं है, यहां विकास की जो रैली चली है वह जन सागर में परिवर्तित हो गई है। मोदी ने कहा कि पाँच राज्यों के चुनाव का शुभारंभ माँ दंतेश्वरी के चरणों से प्रारंभ करने सौभाग्य प्राप्त हुआ है।

पुरुष-स्त्री में भेदभाव नहीं किया: मोदी

मुझे बस्तर आने का बहुत मौका मिला लेकिन मैं खाली हाथ नहीं आया। कोई-न-कोई विकास की योजना लेकर आया हूं। उन्होंने कहा कि बस्तर को मजबूत व समृध्द बनाना है। हमें यहां से बेरोजगारी, भूखमरी और पिछड़ेपन को दूर भगाना है। आजादी के बाद पहले भी चुनाव होते थे, राजनेता आते थे लेकिन उनकी सोच होती थी मेरा-तेरा वाली। इस चुनाव में भी आने वाले नेता का कुनबा बना रहे और अपना पेट भरता रहे। लेकिन हमने मेरी जाति-तेरी जाति नहीं, शहर-गांव नहीं, पुरुष-स्त्री में भेदभाव नहीं किया। इस भेदभाव को दूर कर हम ‘सबका साथ-सबका विकास‘ लेकर चले हैं। उन्होंने कहा कि देश के अंदर मेरा-तेरा वाला चलने वाला नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि अभी मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह विकास की बात बता रहे थे। पैसा पहले भी दिया, योजना पहले भी बनीं लेकिन उस समय सारा कारोबार बिचैलियों के हाथ में होता था। हमने उसे समाप्त कर दिया। अब सही हाथ में सही पैसा पहुंच रहा है। गर्भधारण से अंतिम संस्कार तक भाजपा सरकार हमेशा लोगों के साथ खड़ी रहती है।

जिन बच्चो के हाथो में कलम होनी चाहिए उन हाथो में नक्सली बन्दूक पकड़ा देते है: मोदी 

प्रधानमंत्री मोदी ने नक्सलवाद की चर्चा करते हुए कहा कि  जिन बच्चों के हाथ में कलम होनी चाहिए उनके हाथ में बंदूक पकड़ा देते है। जो माता-पिता के सपनों को बर्बाद कर देते है। यह राक्षसी मनोवृत्ति नहीं है तो और क्या है? अर्बन नक्सली शहरों में रहकर एसी में रहकर, बड़ी-बड़ी गाड़ियों में घूमते है, उनके बच्चे विदेश में पढ़ते हैं। यदि सरकार कार्रवाई करती है तो यह रिमोट से बस्तर में नक्सलियों से हिंसा करवाते हैं। हमें बस्तर को बदलना है, यहां की वादियों को सुरक्षित रखना है। इसलिए यहां केवल कमल ही खिलना चाहिए। वैसे तो कोई और आने वाला नहीं है फिर भी कहीं किसी कोने में आ गया तो वो बस्तर के भविष्य को दाग लगा देगा।




प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा को जिताने के लिए वहां की स्थानीय बोली में जनता से अपील की और कहा कि छत्तीसगढ़ अब 18 साल का हो गया है और 18 साल के बेटे के सपनों को पूरा करने के लिए मां-बाप लग जाते है। अपने सपनों को छोड़ देते हैं। वैसे ही 18 साल में छत्तीसगढ़ के लिए केन्द्र सरकार उसके सपनों को साकार करने में लग जाएगी। हमें अटल जी के सपनों का छत्तीगसढ़ बनाना है। पहले शुरू में छत्तीसगढ़ गलत हाथों में चला गया था लेकिन जनता समझदार निकली, और सत्ता में भाजपा को बैठाया। यहां जो भी विकास हुआ वह आपके आशीर्वाद के कारण सम्भव हो सका है। इस यात्रा को कहीं अटकने नहीं देना है। अब छत्तीगसढ़ की गिनती विकसित राज्यों में होने लगेगी और इसका फल आपको और आपके बच्चों को मिलेगा। 15 साल भाजपा को मिले लेकिन 10 साल विकास के कार्यों को अटकाने का कार्य दिल्ली की सरकार ने किया। इसके बावजूद राज्य को आगे बढ़ाने की कसम हमने नहीं छोड़ी। 10 साल में जो काम नहीं हो पाया, पिछले साढ़े चार साल में वह केन्द्र सरकार ने कर दिखाया । उन्होंने जनता से पूछा कि काम करने वाली सरकार चाहिए कि नहीं? इससे तेज काम करने वाली सरकार चाहिए। 2014 के चुनाव में मैंने कहा था कि अब दिल्ली में ऐसी सरकार आने वाली है कि एक रायपुर का और एक दिल्ली का इंजन मिलकर तेज विकास पर छत्तीसगढ़ को ले जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि यहां का कोना-कोना विकास का पर्याय बन चुका है क्योंकि दोनों सरकारों ने मिलकर काम किया हैै। राजधानी रायपुर में जो सुविधा है वो दंतेवाड़ा व सुकमा में है, यह हमने करके दिखाया है। दलित पीड़ित को कांग्रेस पार्टी अपना खजाना समझती रही है लेकिन इतने साल सरकार में रहकर भी आदिवासी मंत्रालय नहीं बनाया। अटल जी ने नया आदिवासी मंत्रालय बनाया । यह भाजपा की विकास वाली सोच के कारण सम्भव हो पाया है ताकि सभी एक साथ विकसित हों, सब मिलकर देश को आगे बढ़ा पाएंगे।

कांग्रेस ने आदिवासियों का मज़ाक उड़ाया था : मोदी

उन्होंने कहा कि एक बार आदिवासी भाइयों ने अपनी परम्परा के अनुसार मुझे पगड़ी पहनाई, वेशभूषा पहनाई तब कांग्रेसियों ने उसका भी मजाक उड़ाया। यह कांग्रेसी सोच गलत है। प्रधानमंत्री ने बस्तर में बलीराम कश्यप और उनके साथ बिताए समय को याद करते हुए कहा कि आज उनकी आत्मा जहां भी होगी, कह रही होगी कि मैंने जिसे बस्तर घुमाया था और यहां की रोटी खिलाई थी, वह आज प्रधानमंत्री बनकर बस्तर के विकास के लिए कार्य कर रहा है। श्री मोदी जी ने कहा कि वो दिन दूर नहीं जब छत्तीसगढ़ की समृध्दि को बस्तर की समृध्दि से आंका जाएगा। कांग्रेसियों ने बांस को पेड़ की श्रेणी में डाल रखा था और उन्हें विकास से दूर रखा था। हमने कानून में बदलाव कर बांस को पेड़ की श्रेणी से हटाकर पर्यावरण के क्राइटेरिया से अलग किया। हाल ही हुई नक्सली हिंसा की वारदात का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि  लोकतंत्र के चैथे स्तम्भ दूरदर्शन के कैमरामेन को मार दिया गया, उसका क्या कसूर था? हमारे पांच जवानों को मार दिया गया और कांग्रेस पार्टी के नेता उन्हें क्रांतिकारी कहते है। उन्हें देश कभी माफ नहीं करेगा। कांग्रेस का मंत्र है झूठ बोलो, हर जगह बोलो, बार-बार बोलो और हमारा मंत्र है-सबका साथ-सबका विकास।

12 नवंबर को अभूतपूर्व मतदान कर एक संदेश दे। बम बंदूक से समस्या का समाधान नहीं है। हमें शांति और लोकतंत्र के मार्ग पर चलना है।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने माँ दंतेश्वरी को स्मरण करते हुए प्रधानमंत्री के समर्थन में नारे लगवाए। मंच पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री सौदान सिंह, प्रदेश प्रभारी डाॅ. अनिल जैन, बैदूराम कश्यप सहित भाजपा के सभी प्रत्याशी मौजूद रहे। सबने अपने हाथों में कमल थामा और कहा कि हम आप सबसे समर्थन मांग रहे हैं। मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पांच बार बस्तर आ चुके है लेकिन 70 सालों में और कोई प्रधानमंत्री बस्तर नहीं पहुंचा है। मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बस्तर में विकास की गंगा चारों तरफ बह रही है। बस्तर में 15 साल पहले भूख व बीमारी से दर्दनाक मौतें होती थी लेकिन अब भाजपा सरकार की चावल, चना योजना के कारण बस्तर में कोई भूखा नहीं सोता है।

मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में तेंदूपत्ता 2500 रु. प्रति मानक बोरा है। जो देश में केवल छत्तीसगढ़ में ही मिलता है। हमने गरीब आदिवासी भाइयों की पैरों की चिंता कर उनके लिए पनही योजना का सफलतापूर्वक संचालन किया। अब मुम्बई, कोलकाता की तर्ज पर बस्तर में भी बी.पी.ओ. कार्य कर रहे हैं, यह कोई सोच नहीं सकता। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी जी ने इसे सच कर दिखाया। बस्तर नेट के माध्यम से गांव-गांव मोबाइल कनेक्टिविटी पहुंच गई हैं। स्काई योजना से बस्तर के हर घर में फोन पहुंच गया है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना ने हर घर में गैस पहुंचाई है। अब धुंए के कारण कोई बहन व माता बीमार नहीं पड़ेगी। मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने कहा कि बस्तर आने वाले समय में नक्सलवाद से मुक्त होगा और पूरे बस्तर में मांदर की आवाज गूंजेगी, यह पूर्ण विश्वास के साथ मां दंतेश्वरी की कृपा के कारण कह रहा हूँ।



Leave a Reply