chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

पीएम मोदी से मिले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कई मामलों में केंद्र से सहयोग करने की अपील की

नई दिल्ली (एजेंसी) | प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को नीति आयोग की बैठक से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले। उन्हें जीत की बधाई देने के साथ ही छत्तीसगढ़ के विकास के लिए केंद्रीय सहयोग की भी अपील की। बघेल ने प्रदेश के 70 लाख आदिवासियों और 58 लाख गरीब परिवारों से जुड़े लंबित मामलों के निराकरण का अनुरोध किया।

सीएम बघेल ने प्रधानमंत्री से कहा कि प्रदेश में किसानों के हितों को ध्यान रखते हुए छत्तीसगढ़ शासन ने किसानों से 2500 रू प्रति क्विटंल समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की हैं । इससे राज्य में अतिरिक्त धान का उपार्जन हुआ हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि किसानों के हित को देखते हुए सार्वजनिक प्रणाली की आवश्यकता के अतिरिक्त चावल को केंद्रीय पूल में लेने की स्वीकृति प्रदान करें। राज्य के हर घर में नल कनेक्शन के माध्यम से पेयजल की व्यवस्था करने की योजना के संबंध में मुख्यमंत्री ने आग्रह किया कि इसके लिए केंद्र सरकार को शत प्रतिशत अनुदान देना चाहिए।

मुलाकात के दौरान वन अधिकारों की मान्यता का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय वन अधिनियम, 1927 में प्रस्तावित संशोधनों में अनेक खामियां हैं, जिससे वन क्षेत्रों में निवासरत आदिवासियों के हितों का संरक्षण नहीं किया गया है। बघेल ने इसमें संशोधन पर जोर दिया।

सीएम बघेल ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से देश के लघु और सीमांत किसानों को लाभान्वित करने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना शुरू की गई है। इस योजना के हितग्राहियों में अनुसूचित जनजाति और अन्य परंपरागत वन निवासी (वन अधिकारों की मान्यता) अधिनियम, 2006 के तहत वन अधिकार प्राप्त किसानों को शामिल नहीं किया गया है। उन्होंने इस योजना के तहत उन किसानों को शामिल करते हुए 12,000 प्रतिवर्ष सम्मान निधि देने की मांग की।


मुख्यमंत्री बघेल नई दिल्ली में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अध्यक्षता में निति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की पांचवीं बैठक में भी शामिल हुए। उन्होंने ट्वीट करके कहा, “मुझे खुशी है कि इस महत्वपूर्ण बैठक में छत्तीसगढ़ की ‘नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी’ की परिकल्पना को अन्य सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी सराहा।”

Leave a Reply