chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

मोदी के दावे बेबुनियाद – कांग्रेस

रायपुर (एजेंसी) | प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने प्रधानमंत्री मोदी के बिलासपुर में दिए गए वक्तव्य पर पलटवार करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी का यह दावा ही बेबुनियाद है कि भाजपा ही नक्सलवाद को समाप्त कर सकती है? 15 वर्षों की छत्तीसगढ़ की राज्य सरकार और लगभग 5 वर्षों की केंद्र की भाजपा सरकार के कार्यकाल में नक्सलवाद का दायरा और घटनाएं दोनों बढ़ी है। छत्तीसगढ़ के बस्तर में 1,00,000 फोर्स लगाने के बाद भी नक्सलवादी घटनाओं को रोकने में विफल डबल इंजन की सरकार के वादे सर्वथा जुमला साबित हुए हैं।

सच्चाई यह है कि भाजपा सरकार नक्सली गतिविधियों को बनाए रखना चाहती है और इसे जड़ से खत्म करने की उनकी कोई रुचि नहीं है। भाजपा सरकार के कार्यकाल में ही छत्तीसगढ़ के बस्तर, झीरम नक्सली कांड में 25 मई 2013 को कांग्रेस की प्रथम पंक्ति के दो दर्जन शीर्ष नेताओं की शहादत हुई है। नोटबंदी के बाद अभी तक 1030 नक्सलवादी वारदात हुई है और 114 जवानों की मौतें हुई है। विगत 2 सप्ताह में बस्तर में हुई नक्सली घटनाओं में 15 से अधिक जवान शहीद हो गए। इसके बाद भी प्रधानमंत्री पीएम मोदी का नक्सलवाद को समाप्त करने का दावा करना किसी शिगूफा से कम नहीं है।




प्रधानमंत्री मोदी जी गरीबों और विकास की केवल बातें करते हैं, किंतु यह नहीं बताते कि छत्तीसगढ़ में राज्य के गठन के समय 37 प्रतिशत गरीबी थी, वह बढ़कर 44 प्रतिशत कैसे हो गई? 15 वर्षों के विकास की गति यह है, कि आज छत्तीसगढ़ का 18 प्रतिशत गरीब झुग्गी झोपड़ियों में रहता है, जो देश का पहला राज्य है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी सरकार के कार्यकाल में गांव-गरीबों के हकों के साथ कुठाराघात किया गया है। देश को जात-पात में बांटने तथा धर्मों को आपस में लड़ाने का कार्य किया गया है। सबका साथ सबका विकास के नाम पर देश में आपसी भाईचारे, प्रेम और सद्भाव को समाप्त करने की दिशा को बढ़ावा दिया गया है। यही कारण है, कि आज भारतीय जनता पार्टी की विश्वसनीयता में कमी आई हैं और साख गिरी है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने कहा है कि सबसे पहले देश के प्रधानमंत्री को यह समझना जरूरी है कि जमानत पर रिहा होना अपराधी होने का पैमाना नहीं है, यह एक संवैधानिक प्रक्रिया है जिसका ईमानदारी से कांग्रेस पार्टी पालन करती है। मां-बेटे और परिवार पर सर्वथा कटाक्ष करने वाले पीएम मोदी आखिर स्व. लखीराम अग्रवाल परिवार को समर्थन देने और आशीर्वाद देने ही तो आए थे। यदि उन्हें इतनी ही परिवारवाद से घृणा है, तो अपनी पार्टी में ही सबसे ज्यादा फैले परिवारवाद तथा छत्तीसगढ़ के मुखिया के परिवारवाद को समाप्त करने का अभियान क्यों नहीं चलाते हैं?



RO No - 11069/ 14
CM Bhupesh Bhagel Mandi ko Maar

Leave a Reply