chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

विधानसभा के विशेष सत्र के अंतिम दिन, बैलगाड़ी में पहुंचे कांग्रेस के नेता

रायपुर (एजेंसी) | बुधवार को विधानसभा के विशेष सत्र के अंतिम दिन किसानों को बोनस वितरण के लिए लाए गए 2400 करोड़ के अनुपूरक बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह बेहद आक्रामक अंदाज में थे। उन्होंने विपक्ष को करारा जवाब देते हुए दावा कि विधानसभा चुनाव के बाद हम यहां से वहां तक (यानी सत्ता पक्ष से विपक्ष की सीटों तक) बैठेंगे। सीएम ने विपक्ष की ओर इशारा करते हुए कहा कि अगली बार जब हम यहां बैठेंगे तो हमारी संख्या आगे तक बढ़ जाएगी। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि ट्रक के पीछे लिखा होता है फिर मिलेंगे, तो अगली बार हम फिर मिलेंगे।

अगली बार हम 49-50 में नहीं रुक जाएंगे, बल्कि 65 से एक भी सीट कम नहीं लाएंगे। सीएम ने कहा कि गांव, गरीब और किसान हमारी प्राथमिकता रही। नीयत और नियति साफ हो तो पैसों की जरूरत अपने आप पूरी हो जाती है। देश मे ऐसा कोई राज्य नहीं है जिसके पास इतना शानदार प्रोक्योरमेंट सिस्टम है। गरीबी हटाओ के नारे लगाकर कांग्रेसी 60 साल तक देश पर राज करते रहे, लेकिन गरीबी नहीं हटी और बढ़ती चली गई।अन्नदाता प्रसन्न होगा तो नतीजे बेहतर होंगे। विपक्ष घबरा गया है। इस बार 2013 से भी बेहतर नतीजे आएंगे। हमारी सीटें 65 से कम नहीं आएगी। पक्ष-विपक्ष की चर्चा के बाद 2433 करोड़ 78 लाख रुपए के अनुपूरक बजट के साथ ही चार संशोधन विधेयक भी ध्वनिमत से पारित हुआ।




नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने अनुपूरक बजट का विरोध करते हुए कहा कि आदिवासी किसान, महिला सभी वर्ग दुखी है। पत्रकार, वकील, डॉक्टर सभी अपनी सुरक्षा के लिये कानून की मांग कर रहे है। 15 साल में छत्तीसगढ़ में भय पनपा है। सिंहदेव ने स्काई योजना पर सरकार को सदन में घेरा। सिंहदेव ने कहा कि सरकार द्वारा दिया गया मोबाइल फट रहा है। मोबाइल के लिए सरकार के पास पैसा है, लेकिन दर्जनों कर्मचारी संघ जो हड़ताल पर बैठे है उनके लिये पैसा नहीं है। सिंहदेव ने सरकार को घेरते हुए कहा कि परंपरा तोड़कर आपने सत्र बुला लिया। इसका क्या मतलब है कि आप कल को गोली मार देंगे? यह मैं झीरम के संबंध कह रहा था। चुनाव आ गया है। उस बार भी चुनाव आया था। आप कुछ भी करके बच नहीं सकते। आप अनुपूरक लेकर आए हैं। डीजल- पेट्रोल की अनैतिक वसूली की कटौती की बात करते तो कोई बात होती।

अटल की नकल करने के लिए भी अकल चाहिए : चंद्राकर

कांग्रेस विधायकों की बैलगाड़ियां रोकने पर जब भूपेश बघेल ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी लोकसभा में बैलगाड़ी से जा सकते हैं तो हमें क्यों रोका जा रहा है। इस पर संसदीय कार्यमंत्री अजय चंद्राकर बोल गए कि अटलजी की नकल के लिए भी अकल चाहिए। फिर क्या था, यह सुनते ही विपक्ष उन पर टूट पड़ा। बघेल ने कहा कि उनकी श्रद्धांजलि सभा में टेबल ठोक रहे थे। संवेदनशील कार्यक्रम में आपको पूरा देश जान चुका है। अजय ने कांग्रेस विधायकों के गुलाबी गमछे पर फिर तंज कसा। बोले ये लोग डॉ. रेणु जोगी को किनारे करते-करते खुद गुलाबी रंग मे रंग गए। बघेल ने कहा कि ये किसानों का रंग है। अब कुछ नहीं हो सकता। हालांकि डॉ. जोगी शांत भाव से बघेल की बात सुनती रहीं। मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय भी पीछे नहीं रहे। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव को निशाने पर लिया। बोले महाराजा सरगुजा एक दिन बैलगाड़ी की सवारी करने से कोई किसान नहीं हो जाता।

साइकिल बस्ट हो गई : मारकंडेय

सिंहदेव, संतराम, बैज समेत कई विधायकों के साइकिल से आने पर सदन में टोकाटाकी होती रही। उन्हें पुलिस द्वारा रोके जाने के विरोध में संतराम ने नारे लगाने लगे पर किसी ने उनका साथ नहीं दिया। केवल बस्तर के विधायक चिल्लाते रहे। भाजपा विधायक नवीन मारकंडेय ने तंज कसा कि आप लोग साइकिल पर सवार होकर सदन में सत्ता तक पहुंचना चाहते हैं। साइकिल तो बस्ट (पंचर) हो गई है। शिवरतन शर्मा ने कहा कि यूपी में इनके नेता साइकिल पर सवार होकर निकले थे, लेकिन वहां इनके विधायकों की संख्या मंत्री पुन्नूलाल मोहले के बच्चों से भी कम हो गई।



Leave a Reply