Shadow

नौकरी छोड़ इंजीनियर सुजीत लड़ेंगे चुनाव, दंतेवाड़ा उपचुनाव में अजीत जोगी की पार्टी ने दिया टिकट

दंतेवाड़ा (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले दंतेवाड़ा 23 सितंबर को होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए जनता कांग्रेस ने चुनावी मैदान में युवा चेहरे को उतरा है। पार्टी ने अपने प्रत्याशी की घोषणा रविवार को कर दी। इलाके के दुगेली गांव के रहने वाले सुजीत कर्मा को टिकट दिया गया।

संगठन के प्रमुख और प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री रहे अजीत जोगी ने कहा कि क्षेत्र को युवा नेता की जरूरत है लिहाजा पार्टी ने यह नाम तय किया। बीते लोकसभा चुनावों के दौरान नक्सलियों ने इस सीट से विधायक भीमा मंडावी की हत्या कर दी थी। इसके बाद से ही यह सीट खाली है।

सहायक प्राध्यापक की नौकरी छोड़कर उतरे है मैदान में

25 साल के सुजीत राजनीति की पहली पारी शुरू कर रहे हैं। इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद मिली सहायक प्राध्यापक की नौकरी छोड़कर चुनावी मैदान में उतरे हैं।सुजीत ने कहा कि दुगेली जैसे गांव से आगे आया हूं मुझे पता है कि एजूकेशन के क्षेत्र में क्या काम करना है और क्या जरूरी है।

इन नेताओ से होगा मुकालबा

इस सीट पर कांग्रेस ने झीरम हमले में मारे गए नेता महेंद्र कर्मा की पत्नी देवती कर्मा और भाजपा ने हाल ही में आईईडी ब्लास्ट में मारे गए विधायक भीमा मंडावी की पत्नी ओजस्वी को मैदान में उतारा है। सीपीआई से भीमसेन मंडावी, बसपा से केशव नेताम, आम आदमी पार्टी से बल्लू भवानी चुनाव लड़ रहे हैं।

27 सितंबर को होगी मतगणना

23 सितंबर को दंतेवाड़ा के सभी मतदान केंद्रों में मतदान होगा। 27 को वोटों की गिनती होगी।  दंतेवाड़ा उपचुनाव में कुल 1 लाख 88 हजार 263 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इसमें पुरुष 89,747 और महिला 98,876 हैं। यहां कुल 273 मतदान केन्द्र हैं, जिनमें 5 पिंकबूथ स्थापित किए जाएंगे। कुल 256 सेवा मतदाताओं को मतपत्र जारी किए जाएंगे। 2018 में हुए चुनावों में भाजपा के भीमा ने कांग्रेस की तत्कालीन विधायक देवती कर्मा को 2172 वोटों से हराया था। यह बस्तर में भाजपा की एक मात्र जीती हुई सीट थी।

Leave a Reply