Shadow

प्रदेश के नए सीएम भूपेश बघेल के निर्देश, ‘पूरे प्रदेश में मेरे लिए कोई भी एंबुलेंस न रोकी जाए’

रायपुर (एजेंसी) | नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपनी सुरक्षा को रिव्यू करते हुए तय किया है कि राजधानी या प्रदेश में कहीं भी उनके दौरे के समय उनके काफिले के लिए किसी भी एंबुलेंस को न रोका जाए। ऐसी घटना सामने आने पर जिला प्रशासन से जवाब तलब किया जाएगा। बघेल ने सुरक्षा दस्ते से परहेज करते हुए कारकेड से 4 गाड़ियां कम करने के निर्देश दिए हैं। अब सीएम सुरक्षा में 13 नहीं, 9 गाड़ियां ही चलेंगी।

बता दे कि सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से सुरक्षा एजेंसियों ने भूपेश बघेल की के लिए नई सुरक्षा केटेगरी तय नहीं की है।फिलहाल उन्हें सीएम सुरक्षा के रुप आवश्यक प्रोटेक्शन दिया गया है। जल्द ही प्रोटेक्शन रिव्यू ग्रुप बैठक कर सीएम के साथ नए मंत्रियों की सुरक्षा भी तय कर देगा। तब तक मुख्यमंत्री बघेल ने अपने लिए सामान्य सुरक्षा रखने कहा है।




इसके पहले पूर्व सीएम रमन सिंह को राज्य के साथ सीआरपीएफ और एनएसजी के ब्लैक कैट कमांडों की सुरक्षा ली थी। डॉ. सिंह के काफिले में 13 गाडियों के साथ कुल दो दर्जन से अधिक जवान तैनात रहते थे। मुख्यमंत्री बघेल ने फिलहाल इन सबसे परहेज करने का फैसला किया है। बघेल को सादगी पसंद नेता के रुप में जाना जाता है।

उसी के अनुरूप उन्होंने अपनी सुरक्षा दस्त में जवानों के साथ गाड़ियों की संख्या भी कम करने कहा है। अब उनकी सुरक्षा में सिर्फ 9 गाड़ियां होंगी। यानि एनएसजी और सीआरपीएफ के वाहन नहीं होंगे। बघेल ने यह भी कहा है कि राजधानी या प्रदेश में कहीं भी दौरे के समय उनके काफिले के लिए ट्रैफिक न रोका जाए। एंबुलेंस के लिए उनके कारकेड को भी रोकने से परहेज न किया जाए। बघेल ने विभागों और संगठन के नेताओं से भी कहा कि विज्ञापनों के आडंबर में भी कमी की जाए।

मुख्यमंत्री सचिवालय में लोकल छत्तीसगढ़ी टच

सीएम बघेल ने अपने सचिवालय के लिए नए अफसरों की नियुक्ति में छत्तीसगढिय़ा टच दिया है। ताकि जनसामान्य को निकटता का अहसास दिया जा सके। सीएम ने बिलासपुर में जन्में गौरव द्विवेदी को अपना सचिव, कुरुद में पले बढ़े टामन सिंह  सोनवानी और बिलासपुर के तारण प्रकाश सिन्हा को संचालक जनसंपर्क बनाया है। सीएम ने अपने अफसरों से कहा है कि वे सभी जनसामान्य से मिलने से परहेज न करें। वहीं यह भी कहा कि उनसे मिलने से भी किसी को न रोका जाए।



RO-11243/71

Leave a Reply