chhattisgarh news media & rojgar logo

बसपा ने घोषित किए 6 प्रत्याशी; नाराज जोगी बोले, ‘मायावती को शुभकामना’, टूट सकता है गठबंधन

रायपुर (एजेंसी) | जोगी कांग्रेस और बसपा गठबंधन पर होली के बाद अजित जोगी फैला कर सकते है। अटकले लगाई जा रही है कि ये गठबंधन चुनाव के पहले टूट सकता है। सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि लोकसभा चुनाव के लिए बसपा ने छह सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। जबकि इसके बारे में छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जे) को पता ही नहीं है।

प्रत्याशी घोषणा के साथ ही के साथ दोनों पार्टियों का प्रदेश में गठबंधन टूटने की कगार पर पहुंच गया है। वहीं अजीत जोगी ने कहा कि गठबंधन हो या ना हो, लेकिन मायावती को मेरी शुभकामनाएं हैं। उधर, बसपा की ओर से कहा गया है कि जोगी कांग्रेस के साथ उनका गठबंधन जारी रहेगा।

जोगी बोले, ‘गठबंधन हो या ना हो, लेकिन हमारे और मायावती जी के रिश्ते बने रहेंगे’

बसपा की ओर से प्रत्याशियों की घोषणा को लेकर अजीत जोगी ने कहा, आज छह सीटें बसपा ने घोषित की हैं। उन सीटों के बारे में ना तो मुझसे और ना ही प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी से पूछा गया है। लोकसभा में वैसे भी हमारी कोई दिलचस्पी नहीं है, ना तो हमारी लोकसभा चुनाव में कोई तमन्ना है और ना ही कोई संभावना है।

संभावना और दिलचस्पी बीएसपी की है, लेकिन एक बात मैं जरूर कहना चाहूंगा कि हमारा गठबंधन हो या ना हो, लेकिन हमारे और मायावती जी के रिश्ते बने रहेंगे। अजीत जोगी ने कहा, हम उन्हें शुभकामनाएं देंगे, वो प्रधानमंत्री की दावेदार भी हैं और लोग चाहते भी हैं कि वो प्रधानमंत्री बने। इस मुद्दे पर मैं मायावती जी से बात करूंगा और फिर जैसी बात होगी वो किया जाएगा।

बसपा की ओर से ये 6 प्रत्याशी उतरेंगे चुनावी रण में

दरअसल, बसपा ने मंगलवार को प्रदेश की 11 में से 6 सीटों के लिए अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए। पार्टी ने बस्तर सीट से आयतु राम मंडावी, कांकेर से सूबे सिंह ध्रुवे, जांजगीर चांपा से दाउराम रत्नाकर, सरगुजा से माया भगत, रायगढ़ से इन्नोसेंट कुजूर और दुर्ग लोकसभा सीट से गीतांजलि सिंह को उतारा है।

क्या टूट जायेगा जोगी कांग्रेस-बसपा गठबंधन?

इसके बाद से ही दोनों दलों के गठबंधन टूटने की चर्चा शुरू हो गई है। हालांकि विधानसभा चुनाव के दौरान छजकां सुप्रीमो अजीत जोगी ने लोकसभा चुनाव में भी दोनों दलों के बीच गठबंधन की बात कही थी।  साथ ही कहा था कि प्रदेश की सभी 11 सीटों में गठबंधन अपने उम्मीदवार उतारेगा। फिलहाल सभी 6 प्रत्याशी बसपा से ही हैं। हालांकि जोगी ने यह भी कहा है कि, ‘लोकसभा में वैसे भी हमारी कोई दिलचस्पी नहीं है, ना तो हमारी लोकसभा चुनाव में कोई तमन्ना है और ना ही कोई संभावना है।’

हालांकि जिस तरह से बिना आम सहमति के बीएसपी ने तीन सीटों पर प्रत्याशियों के नामों का ऐलान किया, उसके बाद ये बातें साफ हो गई है कि गठबंधन छत्तीसगढ़ में खटाई में पड़ गया है। विधानसभा चुनाव के दौरान दोनों पार्टियों में गठबंधन हुआ था, तब 7 सीटें जीती थीं।

Leave a Reply