chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

बीजेपी बोली, ‘आखिर किस बात का डर है।’, भूपेश का करारा जवाब, ‘इनके प्रिय कल्लूरी को पदस्थ किया, तब भी इनको तकलीफ हो रही थी’

रायपुर (एजेंसी) | मंगलवार रात 21 पुलिस इंस्पेक्टरों के तबादले पर बीजेपी ने बुधवार को सुबह भूपेश सरकार पर तंज कसा था कि आखिर किस बात का डर है। इस ट्वीट पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने करारा प्रहार करते हुए कहा कि कल्लूरी को पदस्थ किया तब भी इनको तकलीफ हो रही थी, अब अधिकारियों का ट्रांसफर करना कौन सी सजा हो जाती है।

अधिकारी को ट्रांसफर करना कोई सजा है क्या ? इसे वो सजा मानते है बदलापुर मानते है तो इनकी दिमागी हालात पर तरस खाता हूं। भूपेश बघेल ने यह बयान छत्तीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता संघ के सम्मान समारोह में दिया है। दरअसल प्रदेश बीजेपी ने ट्वीट कर 21 थाना प्रभारियों के किए गए तबादलों पर भूपेश सरकार पर तंज कसते हुए सवाल किया था।

बीजेपी ने कहा था कि भूपेश सरकार ने पहले डर कर सीबीआई को प्रदेश से बैन कर दिया, अब सीडीकांड की जांच में लगे पुलिस वालों को भी हटाने में लगे हैं। आखिर इतना डर किस बात का है भई। बता दें कि पुलिस महानिरीक्षक डीएम अवस्थी के हस्ताक्षर से जारी इस आदेश में उन तमाम पुलिस निरीक्षकों के तबादले कर दिए गए थे, जिनकी भूमिका कथित सेक्स सीडी कांड मामले के दौरान थी।

त्रिवेदी बोले- बदलापुर के आरोप शोभा नहीं देते क्योंकि… 

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पूछा है कि पुलिस विभाग के सामान्य स्थानांतरणों तक में बदलापुर की राजनीति का आरोप लगाने वाली भाजपा बताए कि आईएएस शिव अनंत तायल के सिर्फ यह है पूछना कि स्वतंत्रता संग्राम में दीनदयाल उपाध्याय का क्या योगदान है। भाजपा सरकार को बर्दाशत नहीं हुआ था। एक योग्य आईएएस अधिकारी को जो यंत्रणा दी गई उसे पूरा प्रदेश जानता है।

भाजपा द्वारा स्थानांरणों में भी राजनीति करना दूषित और गलत मानसिकता का जीता जागता सबूत है। इसी दूषित और गलत मानसिकता के कारण भाजपा को जनता ने 15 सीटों तक सीमित कर दिया। त्रिवेदी ने कहा है कि ऐसी भाजपा के मुंह से बदलापुर के झूठे निराधार आरोप शोभा नहीं देते है।

पीसीसी अध्यक्ष के सीडी लहराने मात्र पर जुर्म दर्ज करवाने वाली भाजपा के नेता अपने ही मंत्रियों की अश्लील सीडी बनाने में लगे थे। भाजपा का शीर्ष नेतृत्व इस अश्लील वीडियो के बारे में सिर्फ जानता ही नहीं था बल्कि सीडी बनवाने से लेकर बंटवाने तक में तत्कालीन मुख्यमंत्री निवास की भूमिका थी।

Leave a Reply