chhattisgarh news media & rojgar logo

धुर विरोधी माने जाने वाले अजीत जोगी अब भूपेश बघेल से मिलने जाएंगे, जोगी ने की पहल

रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ की राजनीति में साल 2018 का आखिरी दिन भी यादगार बनने जा रहा है। दरअसल इस दिन एक-दूसरे के धुर-विरोधी माने जाने वाले नेताओं की एक-दूसरे से मुलाकात होने वाली है। इस दिन पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मुलाकात होगी।

सबसे दिलचस्प बात यह है कि बघेल से मुलाकात की पहल खुद अजीत जोगी ने की है।  मुख्यमंत्री बनने के बाद शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रण के बाद भी अजीत जोगी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए थे। वहीं बघेल भी सीएम बनने के पहले तक जोगी को लेकर हमेशा मुखर रहे हैं। हालांकि उन्होंने अजीत जोगी के बयानों पर प्रतिक्रिया बहुत पहले ही बंद कर दी थी।




अंतागढ़ कांड को लेकर अमित जोगी को पार्टी से निष्कासित करने के बाद ये तल्खी और बढ़ गयी। बाद में अजीत जोगी ने कांग्रेस छोड़ दी। लेकिन अचानक अजीत जोगी की ओर से हो रही इस पहल के कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं। तय कार्यक्रम के मुताबिक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ सोमवार को बिलासपुर में अजीत जोगी अपनी पार्टी के अन्य नेताओं के साथ मुलाकात करेंगे।

बघेल से मिलने वालों में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे)-बहुजन समाज पार्टी गठबंधन के विधायक दल के नेता एवं लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह, कोटा विधायक डाॅ. रेणु जोगी, पूर्व विधायक अमित जोगी छत्तीसगढ़ भवन बिलासपुर में दोपहर 1:30 बजे सौजन्य मुलाकात करेंगे।



Leave a Reply