chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

कांग्रेस को छोड़ कर गोंगपा ने किया सपा से गठबंधन, गोंगपा अध्यक्ष मरकाम होंगे CM का चेहरा, सभी 90 सीटों में लड़ेंगे चुनाव

रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ की गोंडवाना गणतंत्र पाटी (गोंगपा) ने विधानसभा चुनावों के पहले आखिरी समय में कांग्रेस का हाथ छोड़कर समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ गठबंधन कर लिया है। इसकी घोषणा शुक्रवार को बिलासपुर में प्रेस कांफ्रेंस करके की गई है। गठबंधन के बाद पार्टियों ने तय किया कि  छत्तीसगढ़ की सभी 90 सीटों में से 20 में समाजवादी पार्टी और 70 में गोंगपा चुनाव लड़ेगी। साथ ही दोनों पार्टियों ने यह भी निर्णय लिया है कि इस गठबंधन के सीएम पद का चेहरा गोंगपा के अध्यक्ष हीरा सिंह मरकाम होंगे।




आपको बता दे इससे पहले गोंगपा के जनता कांग्रेस के साथ जाने की चर्चा चल रही थी। इससे पहले गोंगपा के कांग्रेस के साथ गठबंधन की भी चर्चा थी। एक कार्यक्रम के दौरान हीरा सिंह मरकाम ने राहुल गांधी के साथ मंच भी साझा किया था और ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि दोनों पार्टियों में सहमति बन सकती है।

कांग्रेस से नहीं बनी बात

गोंगपा नेताआें का कहना है कि कांग्रेस की आेर बातचीत का प्रस्ताव तो आया है। इसके लिए दिल्ली में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दीपक बावरिया दिल्ली में गोंगपा के हीरासिंह आैर श्याम सिंह मरकाम से मुलाकात किए थे। बातचीत के बाद गोंगपा नेताआें ने अपना एजेंडा राहुल गांधी के पास भेज दिया है। आगे क्या होगा अभी तय नहीं है। वैसे भी अब अखिलेश जी के साथ बातचीत के बाद ही कुछ तय होगा।

यहां इतनी सीटें

पहले गोंगपा के सुप्रीमों हीरासिंह मरकाम ने बताया था कि वे छत्तीसगढ़ में समाजवादी पार्टी के साथ चुनाव लड़ रहे हैं। यदि कांग्रेस बातचीत करना चाहे तो तैयार हैं। लेकिन बातचीत से पहले उन्हें अपना एजेंडा बताना होगा। मरकाम का कहना है कि मध्यप्रदेश में सपा 50 सीटों पर आैर गोंगपा 70 सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं। जबकि छत्तीसगढ़ में समाजवादी पार्टी के साथ चुनाव लड़ रहे हैं। वे 30 सीट में चुनाव लड़ने की बात कर रहे हैं लेकिन अभी सपा के 10 सीट पर चुनाव लड़ने की सहमति बनी है। जबकि गोंगपा 40 सीट पर चुनाव लड़ेगी।

लेकिन अब निर्णय लिया गया कि सपा 20 सीटों पर और गोंगपा 70 सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़ा करेगी। संभवतः 17 के बाद सपा और गोंगपा के नेता बताएंगे कि कहां-कहां उनके नेता हैं।



Leave a Reply