chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

भाजपा की 8 घंटे की बैठक में 90 सीटों पर मंथन, हर सीट पर तय हुए 2 से 3 नाम, 20 को आएगी प्रत्याशियों की पहली सूची

रायपुर (एजेंसी) | टिकट तय करने वाली भाजपा की उच्चाधिकार प्राप्त चुनाव समिति ने मंगलवार आधी रात तक बैठक कर प्रदेश की सभी 90 सीटों पर प्रत्याशियों के नामों का पैनल बना लिया। इस सूची को लेकर स्वयं मुख्यमंत्री रमन सिंह, प्रभारी अनिल जैन, राष्ट्रीय सह महामंत्री सौदान सिंह बुधवार को दिल्ली जा रहे हैं। यहां वे अगले दो दिनों तक केंद्रीय चुनाव समिति के साथ मंथन करेंगे।

करीब 9 घंटे से अधिक समय तक चली बैठक में यह भी तय किया गया कि पहले चरण में केवल 18 सीटों के नाम घोषित किए जाएंगे। इससे पहले दोपहर ढाई बजे बैठक शुरू होते ही राष्ट्रीय सह-महामंत्री सौदान सिंह ने बताया कि हाईकमान ने कम से कम दो या तीन नाम भेजने को कहा है। किसी भी सीट के लिए सिंगल नाम नहीं भेजने का आदेश है। इसका उद्देश्य सक्रिय कार्यकर्ताओं की नाराजगी रोकना है।




इसके बाद चुनाव समिति की बैठक का एजेंडा ही बदल गया। चुनाव समिति के समक्ष रविवार को एक ही दिन में 29 जिलों से इकट्ठा की गई पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट रखी गई। इस वजह से अब मुख्यमंत्री रमन सिंह समेत आधा दर्जन मंत्री, प्रदेशाध्यक्ष कौशिक भी दो नामों के पैनल में फंस सकते हैं।

टिकटार्थियों के मेले में कुछ एेसे नेता भी थे जो उन्हें साथ लेकर आए थे। वे उन्हें टिप्स दे रहे थे कि किससे मिलना है और कैसे बात करना है। बाहर मौजूद लोग सौदान सिंह, सरोज पांडेय, डॉ. अनिल जैन, सुभाउ कश्यप  प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक आदि से भी मिलकर लोग समर्थन मांगते रहे।

भाजपा कार्यालय में अंदर बैठक चलती रही तो बाहर विरोध के स्वर भी गूंज रहे थे। कुछ लोग साजा के वर्तमान विधायक लाभचंद बाफना के खिलाफ थे। वे मीडिया के सामने अपना विरोध जाहिर कर रहे थे। वे स्थानीय को उम्मीदवार बनाने की मांग की। उनका आरोप था कि उनका व्यवहार जमीनी कार्यकर्ताओं के साथ सही नहीं है।

जैसे ही यह सूचना पहुंची कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पहुंच रहे थे। दावेदार लाइन लगाकर खड़े होकर कतार में कार्यालय के लिफ्ट तक पहुंच गए। हर कोई मुख्यमंत्री को आवेदन देना चाहता था लेकिन वे मुस्कुराते हुए आगे बढ़ते रहे।



Leave a Reply