chhattisgarh news media & rojgar logo

politics

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सांसदों को लिखा पत्र, संसद के शीतकालीन सत्र में राज्य हित से जुड़े मुद्दों को पुरजोर तरीके से उठाने की अपेक्षा की

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सांसदों को लिखा पत्र, संसद के शीतकालीन सत्र में राज्य हित से जुड़े मुद्दों को पुरजोर तरीके से उठाने की अपेक्षा की

chhattisgarh, News, politics
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी सांसदों को पत्र लिखकर संसद के शीतकालीन सत्र में राज्य हित से जुड़े मुद्दों को पुरजोर तरीके से उठाने की अपेक्षा और आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में लिखा है कि छत्तीसगढ़ राज्य के हित में समय-समय पर अनेक मांगों, समस्याओं, प्रकरणों और सहायता से संबंधित विषय केन्द्र शासन के संज्ञान में लाए गए है। संसद के शीतकालीन सत्र के अवसर पर आप राज्य हित के विषयों पर तथ्यों, आंकड़ों तथा तर्कों के साथ चर्चा करें। मुख्यमंत्री ने इसके लिए सभी सांसदों को पत्र के साथ राज्य हित से संबंधित केन्द्र स्तर पर परिशीलन योग्य प्रकरणों की जानकारी के संकलन की पुस्तिका भी उपलब्ध करायी है। उन्होंने उम्मीद प्रकट की कि इस जानकारी के उपयोग करते हुए सांसदगण राज्य हित के पक्षों को पुरजोर तरीके से यथासमय संसद में उठाएंगे। मुख्यमंत्री द्वारा प्रेषित जानकारी में प्रमुख रूप स
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल मंत्रियों के दल के साथ 14 नवम्बर को जाएंगे दिल्ली, राष्ट्रपति और केन्द्रीय कृषि मंत्री से करेंगे मुलाकात

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल मंत्रियों के दल के साथ 14 नवम्बर को जाएंगे दिल्ली, राष्ट्रपति और केन्द्रीय कृषि मंत्री से करेंगे मुलाकात

chhattisgarh, News, politics
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल कल 14 नवंबर को पूर्वान्ह में अपने मंत्रिमण्डल के सहयोगियों के साथ नई दिल्ली जाएंगे और वहां महामहिम राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर केन्द्र सरकार द्वारा पूर्व वर्ष की भांति इस वर्ष भी केन्द्रीय पूल के लिए छत्तीसगढ़ से चावल का उपार्जन कराने का अनुरोध करेंगे। मुख्यमंत्री और मंत्रियों का दल शाम को केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर से भी मुलाकात कर राज्य के किसानों के हित में सेन्ट्रल पूल में चावल खरीदी का आग्रह करेंगे। मुख्यमंत्री के साथ प्रदेश के स्वास्थ्य एवं पंचायत मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, गृह एवं लोक निर्माण मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री अमरजीत भगत, नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया तथा वन, पर्यावरण एव
ओबीसी आरक्षण के लिए कल छत्तीसगढ़ महाबंद, लेकिन कुछ संगठनों ने समर्थन लिया वापस

ओबीसी आरक्षण के लिए कल छत्तीसगढ़ महाबंद, लेकिन कुछ संगठनों ने समर्थन लिया वापस

chhattisgarh, india, News, politics
रायपुर (एजेंसी) | 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण के पक्ष में कल छत्तीसगढ़ बंद बुलााया गया है. बंद का आह्वान छत्तीसगढ़ आरक्षण मंच की ओर से बुलाया गया है. ओबीसी महासभा की ओर से बुलाए गए इस बंद को एससी, एसटी वर्ग ने समर्थन किया है. लेकिन इस बीच बंद को लेकर दो प्रेस नोट जारी कर दिया गया है. एक बंद के समर्थन में, दूसरा बंद स्थगित किए जाने को लेकर। हालांकि ज्यादातर संगठनों ने यह साफ कर दिया है कि ओबीसी आरक्षण के ख़िलाफ़ कोर्ट जाने वाले सवर्णों के ख़िलाफ़ 13 नवंबर को प्रस्तावित बंद यथावत है। https://youtu.be/Gblq-mbjBbI बंद बुलाने वालों की ओर से जारी किए प्रेस विज्ञप्ति में छत्‍तीसगढ़ ओबीसी महासभा के अध्‍यक्ष सगुनलाल वर्मा ने बताया कि छत्तीसगढ़ पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, जनजाति व अल्पसंख्यक महासंघ के द्वारा 13 नवंबर दिन बुधवार को पिछड़ा वर्ग के 27% आरक्षण के समर्थन में छत्तीसगढ़ महाबंद के आह
ग्रामीणों ने सीएएफ के नए कैंप का किया विरोध, जवानो ने हवाई फायरिंग कर खदेड़ा – दंतेेवाड़ा

ग्रामीणों ने सीएएफ के नए कैंप का किया विरोध, जवानो ने हवाई फायरिंग कर खदेड़ा – दंतेेवाड़ा

chhattisgarh, News, politics
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | जिले के नक्सल प्रभावित गांव पोटाली में फोर्स और आम आदिवासियों के बीच तनाव के हालात हैं। दो दिन पहले यहां सीएएफ (छत्तीसगढ़ आर्म फोर्स) का कैंप खोला गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि यह कैंप उनके खेतों पर खोला गया, इस कैंप की वजह से अब इलाके में फर्जी गिरफ्तारियां होंगी। इसी मुद्दे को लेकर मंगलवार को हजारों ग्रामीण कैंप पहुंच गए। हाथ में तीर, भाले और कुल्हाड़ी लिए ग्रामीण कैंप के अंदर घुसने की कोशिश कर रहे थे। ग्रामीणों को कलेक्टर और एसपी समझाते रहे, लेकिन वह नहीं माने। यह देख जवानों ने हवाई फायरिंग करके उन्हें खदेड़ा कलेक्टर एसपी की भी ग्रामीणों ने नहीं सुनी https://youtu.be/ad_dD4vjwTY मंगलवार को सुबह से ही पोटाली कैंप के पास ग्रामीण जमा होने लगे थे। कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने कहा कि कैम्प खुलने से गांव में ही राशन, स्वास्थ्य सुविधा सहित सरकार की दूसरी योजनाओं का ला
दावा: नई सरकार के गठन के बाद छत्तीसगढ़ में 5 लाख से ज्यादा लोगों को मिला रोजगार

दावा: नई सरकार के गठन के बाद छत्तीसगढ़ में 5 लाख से ज्यादा लोगों को मिला रोजगार

chhattisgarh, News, politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ की सरकार का दावा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में जनवरी से अक्टूबर तक 10 माह में 5 लाख 41 हजार 259 लोगों को रोजगार मिला। इस दावे में कहा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में 5 लाख 10 हजार 117,  शासकीय सेवा के क्षेत्र में 20 हजार 502 और उद्योगों के क्षेत्र में 10 हजार 640 लोगों को रोजगार दिया गया। सरकार ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि ग्रामीण क्षेत्र में छत्तीसगढ़ राज्य आजीविका मिशन के तहत लगभग 2 लाख 29 हजार 374 महिलाओं को रोजगार मिला है। इस तरह दिए गए मौके सरकारी उपयोग में लाए जाने वाले कपड़ों खरीदी प्रदेश के राज्य बुनकर सहकारी संघ के माध्यम से की जा रही हैं। इससे  51 हजार बुनकरों को रोजगार मिलने की बात कही गई है। छत्तीसगढ़ में लगभग 32 प्रतिशत जनसंख्या आदिवासी लोगों की है। आदिवासियों की आय में वृद्धि के उद्देश्य से लघु वनोपजों की खरीदी 3500 महिला समूहों के
Video: भवन का लोकार्पण करने पहुंचे बृजमोहन अग्रवाल को महिलाओं ने रोका, बैरंग लौटे

Video: भवन का लोकार्पण करने पहुंचे बृजमोहन अग्रवाल को महिलाओं ने रोका, बैरंग लौटे

News, politics
रायपुर (एजेंसी) | भाजपा के पूर्व मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल को उनके ही विधानसभा के महिलाओं व बुजुर्गों के विरोध का सामना करना पड़ा। इसका एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें  महिलाओं ने बृजमोहन अग्रवाल को बैरंग लौटा दिया। महिलाओं ने कहा कि हमें आप पर विश्वास नहीं है, इसलिए आप यहां से चले जाइए। जानकारी के मुताबिक, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ब्राह्मण पारा वार्ड में लोकार्पण कार्यक्रम में पहुंचे थे। यहां एक सामाजिक भवन व गार्डन का लोकार्पण करना था, लेकिन महिलाएं भवन के सामने बैठ गईं और कहां कि आप इस भवन का उद्घाटन न करे। https://youtu.be/hsMMd2KSrKQ पूर्व मंत्री ने महिलाओं को समझाया कि यह आपके लिए ही है। आपके बच्चे यहां कंप्यूटर सीखेंगे तो आपको ही फायदा होगा. लेकिन महिलाओं ने उनके बातों पर विश्वास नहीं किया। लाख मिन्नतों के बाद भी सामुदायिक भवन और गार्डन का लोकार्पण करने नहीं द
राम जन्म भूमि अयोध्या: अदालत का फैसला सुन फफककर रोने लगे छत्तीसगढ़ के एकमात्र कारसेवक

राम जन्म भूमि अयोध्या: अदालत का फैसला सुन फफककर रोने लगे छत्तीसगढ़ के एकमात्र कारसेवक

News, politics, special
कोरबा (एजेंसी) | भगवान श्री राम का नाम लेकर कई लोगों ने अपने सियासी करियर में सितारे जोड़ लिए। मगर बहुत से अब भी गुमनामी की जिंदगी ही जी रहे हैं। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के सुदूर गांव में एक ऐसा ही शख्स इन दिनों भीख मांगकर जिंदगी बिता रहा है। इनका नाम है गेसराम चौहान। कोरबा जिले की करतला तहसील के ग्राम चचिया के मूलनिवासी हैं। वे छत्तीसगढ़ के ऐसे एक मात्र व्यक्ति हैं जिन्हें 1990 की कारसेवा के दौरान पेट में गोली लगी थी। उसके बाद 1992 की कारसेवा में भी शामिल हुए और लाठियां खाई। गेसराम उन लोगों में शामिल थे, जिन्होंने विवादित ढांचा गिराकर अयोध्या में राम मंदिर बनाने का आंदोलन किया। रो पड़े, पूछा - सच में मंदिर बनने वाला है क्या? गेसराम को जब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बारे में बताया गया तब 65 साल का यह बुजुर्ग अवाक हो गया। हाथ में पकड़ी लाठी, भिक्षापात्र व झोला गिर पड़ा। भावावेश में वे रोने लग
भगवान राजनीति का विषय नहीं – कांग्रेस, राम मंदिर के फैसले पर टीवी डिबेट में नहीं जाएंगे कांग्रेसी

भगवान राजनीति का विषय नहीं – कांग्रेस, राम मंदिर के फैसले पर टीवी डिबेट में नहीं जाएंगे कांग्रेसी

News, politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में कांग्रेसी राम मंदिर के फैसले पर होने वाली बहस में शामिल नहीं होंगे।  प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि राम मंदिर पर सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिए गए फैसले पर होने वाली किसी भी लाईव टीवी डिबेट में कांग्रेस पार्टी हिस्सा नहीं लेगी। https://youtu.be/F1TDM287va8 उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस पार्टी ही नहीं किसी भी राजनीतिक दल को इस लाईव डिबेट में भाग नहीं लेना चाहिये। मंदिर और भगवान राजनीति का विषय नहीं है। यह धर्म आस्था और विश्वास का विषय है। उसे राजनीति का विषय नहीं बनाना चाहिए। दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी ने इसे न्याय की जीत का फैसला बताया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि सर्वधर्म-समभाव की भाव-भूमि पर अब राष्ट्रीयता की और भारत-भक्
सीएम भूपेश बघेल ने दिल्ली में प्रदर्शन का कार्यक्रम स्थगित किया, अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया

सीएम भूपेश बघेल ने दिल्ली में प्रदर्शन का कार्यक्रम स्थगित किया, अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया

News, politics
रायपुर (एजेंसी) | सीएम भूपेश बघेल ने अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गए फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने सभी को फैसले का सम्मान करने की नसीहत दी है। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार के खिलाफ होने वाले प्रदर्शन को भी स्थगित कर दिया है। उन्होंने सभी से शांति और सद्भाव बनाए रखने की अपील भी की है। मीडिया से बात करते हुए सीएम ने कहा, “सबको इसका इंतजार था, न्यायालय ने जो फैसला किया उसका सब सम्मान करते हैं और सभी से अपील करते हैं शांति व सद्भाव बनाए रखें। जो फैसला आया है उसका सभी सम्मान करें।” अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान है। pic.twitter.com/ZM5ATtxBCR — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) November 9, 2019 वीडियो देखे https://youtu.be/EAzOb-NBEZ8 बता दे सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को अयोध्या में विवादित जमीन पर राम मंदिर निर्माण का फैसला सुनाया। 5 जजों की संविधा
छत्तीसगढ़: राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल बोले केंद्र अगर धान नहीं खरीदेगा तो बंद कर देंगे कोयले की सप्लाई

छत्तीसगढ़: राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल बोले केंद्र अगर धान नहीं खरीदेगा तो बंद कर देंगे कोयले की सप्लाई

chhattisgarh, News, politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार और केंद्र के बीच धान खरीदी को लेकर चल रही सियासत अब और भी गरमाती जा रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के बाद अब प्रदेश के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने भी केंद्र सरकार को आर्थिक नाकेबंदी की चेतावनी दे दी है। मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने शुक्रवार को कहा, अगर किसानों का धान केंद्र ने नहीं खरीदा तो हम कोयले का डिस्पैच बंद कर देंगे। उन्होंने कहा कि कोरबा से कोयला का सबसे ज्यादा डिस्पैच किया जाता है। कोरबा में देश के 11 % कोयले का उत्पादन होता है। केंद्र ने कहा- तय मूल्य से अधिक में धान खरीदी तो नहीं मिलेगा बोनस दरअसल, छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने किसानों को धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपए देने का वादा किया था, लेकिन केंद्र सरकार इसके लिए तैयार नहीं है। केंद्र सरकार ने शर्त रख दी है कि उसकी ओर से तय किए गए मूल्य से अधिक में धान की खरीदी