Search Jobs

Our Placements

Breaking News

स्काई मोबाइल योजना: 6 लाख मोबाइल का क्या होगा, 3 दिन में बताएंगे सीएस

मुख्यमंत्री ने सोनाखान की लीज पर रोक के साथ-साथ डीएमएफ फंड के ढाई हजार करोड़ के काम पर भी लगाई रोक

जोगी कांग्रेस के पांच नेताओं की होगी कांग्रेस में घर वापसी

भाजपा-कांग्रेस आमने सामने: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कसा तंज 'अनुशासित पार्टी की कलई खुल गई है', शिवरतन शर्मा की नसीहत, 'अपना घर संभालें'

जोगी कांग्रेस ने अपनी पार्टी के दो नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया

लोकसभा चुनाव में भाजपा की योजनाओं के खिलाफ आक्रामक प्रचार करेंगे कांग्रेसी

हार के बाद के बाद हुई प्रदेश पदाशिकारियो की बैठक, भाजपाई बोले, 'कांग्रेसी घोषणा पत्र में दम हमें अपने कार्यकर्ताओं ने भी वोट नहीं दिए'

लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का नया पीसीसी चीफ संभावित

दो राज्यों के मुख्यमंत्री रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एन डी तिवारी का निधन

नेशनल न्यूज़ (एजेंसी) | कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एनडी तिवारी का आज गुरुवार को दिल्ली के निजी अस्पताल में निधन हो गया। वे 93 वर्ष के थे। गौरतलब है कि सन 1925 में आज के ही दिन तिवारी का जन्म हुआ था। वे देश के पहले ऐसे नेता थे, जो दो राज्यों के मुख्यमंत्री बने। तिवारी 1976-77, 1984-85, 1988-89 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। 2002-2007 तक वे उत्तराखंड के सीएम रहे। वे 2007 से 2009 तक आंध्र प्रदेश के राज्यपाल रहे। राजीव सरकार में विदेश और वित्त मंत्री भी रहे, बाद में बनाई अपनी पार्टी राजीव गांधी सरकार के दौरान तिवारी 1986-87 तक विदेश मंत्री और 1987-88 तक वित्त मंत्री रहे। 1989 में राजीव गांधी के निधन के बाद एनडी तिवारी को कांग्रेस से प्रधानमंत्री पद का सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा था। लेकिन, 1991 के लोकसभा चुनाव में वे नैनीताल सीट से हार गए। हार की वजह से तिवारी दावेदारी कमजोर हो गई। इन चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद पीवी नरसिम्हा राव प्रधानमंत्री बने। 1994 में तिवारी ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने अर्जुन सिंह के साथ मिलकर तिवारी कांग्रेस बनाई। हालांकि, सोनिया गांधी के राजनीति में उतरने के बाद 1995 में तिवारी और अर्जुन सिंह कांग्रेस में वापस आ गए। 88 साल की उम्र में की दूसरी शादी तिवारी ने 1954 में सुशीला तिवारी से विवाह किया। 1991 में सुशीला का निधन हो गया। 14 मई 2014 को उन्होंने उज्ज्वला तिवारी से 88 साल की आयु में दूसरी शादी की। तिवारी का जन्म नैनीताल के बलौटी गांव में 18 अक्टूबर 1925 को हुआ था। शुरुआती पढ़ाई के बाद वे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी गए, जहां से उन्होंने राजनीति शास्त्र में एमए और फिर एलएलबी की। वह 1947 में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी छात्र संघ के अध्यक्ष चुने गए। 1947 से 1949 तक वे ऑल इंडिया स्टूडेंट कांग्रेस के सचिव रहे।


Posted on 18-10-2018 05:55 PM
Share it

Home  »  News  »  दो राज्यों के मुख्यमंत्री रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एन डी तिवारी का निधन

Recent News

स्काई मोबाइल योजना: 6 लाख मोबाइल का क्या होगा, 3 दिन में बताएंगे सीएस
मुख्यमंत्री ने सोनाखान की लीज पर रोक के साथ-साथ डीएमएफ फंड के ढाई हजार करोड़ के काम पर भी लगाई रोक
जोगी कांग्रेस के पांच नेताओं की होगी कांग्रेस में घर वापसी
भाजपा-कांग्रेस आमने सामने: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कसा तंज 'अनुशासित पार्टी की कलई खुल गई है', शिवरतन शर्मा की नसीहत, 'अपना घर संभालें'
जोगी कांग्रेस ने अपनी पार्टी के दो नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया
लोकसभा चुनाव में भाजपा की योजनाओं के खिलाफ आक्रामक प्रचार करेंगे कांग्रेसी
हार के बाद के बाद हुई प्रदेश पदाशिकारियो की बैठक, भाजपाई बोले, 'कांग्रेसी घोषणा पत्र में दम हमें अपने कार्यकर्ताओं ने भी वोट नहीं दिए'
लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का नया पीसीसी चीफ संभावित
सीएम बघेल बोले, 'रमन ये क्यों भूल जाते हैं कि उन्हाेंने हमारी भी सुरक्षा हटाई थी'
चुनाव खर्च का हिसाब नहीं देने वाले 132 प्रत्याशियों को नोटिस

Candidate Corner