Search Jobs

Our Placements

Breaking News

निर्मला यादव ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की

माओवादियों ने सड़क निर्माण करा रहे ठेकेदार को मौत के घाट उतारा, 6 वाहनों में लगा दी आग

भाजपा के नेता कह रहे हैं रमन सिंह और अमन सिंह को भ्रष्ट और रमन सिंह के जनसंपर्क सचिव राजेश टोप्पो करवा रहे हैं कांग्रेस नेताओं का स्टिंग ऑपरेशनः भूपेश बघेल

राहुल लगातार झूठ बोलकर देश से छल कर रहे : श्रीकांत शर्मा

रमन ने अपने काम गिनाकर कहा, 'अब और बेहतर काम करेंगे', जोबी-खरसिया और आरंग में ली भाजपा की चुनावी सभाएं

सिलेंडर धमाके के बाद शहर में नहीं बिके ऐसे बैलून, मरीन ड्राइव में सादे गुब्बारे ही दिखे

पिछले 3 चुनाव में नक्सल प्रभावित इलाकों में 33 मौतें, इस बार सुरक्षा के चलते हिंसा शून्य

छत्तीसगढ़ की विकास योजना देश के लिए मिशाल है: योगी

दो राज्यों के मुख्यमंत्री रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एन डी तिवारी का निधन

नेशनल न्यूज़ (एजेंसी) | कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एनडी तिवारी का आज गुरुवार को दिल्ली के निजी अस्पताल में निधन हो गया। वे 93 वर्ष के थे। गौरतलब है कि सन 1925 में आज के ही दिन तिवारी का जन्म हुआ था। वे देश के पहले ऐसे नेता थे, जो दो राज्यों के मुख्यमंत्री बने। तिवारी 1976-77, 1984-85, 1988-89 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। 2002-2007 तक वे उत्तराखंड के सीएम रहे। वे 2007 से 2009 तक आंध्र प्रदेश के राज्यपाल रहे। राजीव सरकार में विदेश और वित्त मंत्री भी रहे, बाद में बनाई अपनी पार्टी राजीव गांधी सरकार के दौरान तिवारी 1986-87 तक विदेश मंत्री और 1987-88 तक वित्त मंत्री रहे। 1989 में राजीव गांधी के निधन के बाद एनडी तिवारी को कांग्रेस से प्रधानमंत्री पद का सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा था। लेकिन, 1991 के लोकसभा चुनाव में वे नैनीताल सीट से हार गए। हार की वजह से तिवारी दावेदारी कमजोर हो गई। इन चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद पीवी नरसिम्हा राव प्रधानमंत्री बने। 1994 में तिवारी ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने अर्जुन सिंह के साथ मिलकर तिवारी कांग्रेस बनाई। हालांकि, सोनिया गांधी के राजनीति में उतरने के बाद 1995 में तिवारी और अर्जुन सिंह कांग्रेस में वापस आ गए। 88 साल की उम्र में की दूसरी शादी तिवारी ने 1954 में सुशीला तिवारी से विवाह किया। 1991 में सुशीला का निधन हो गया। 14 मई 2014 को उन्होंने उज्ज्वला तिवारी से 88 साल की आयु में दूसरी शादी की। तिवारी का जन्म नैनीताल के बलौटी गांव में 18 अक्टूबर 1925 को हुआ था। शुरुआती पढ़ाई के बाद वे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी गए, जहां से उन्होंने राजनीति शास्त्र में एमए और फिर एलएलबी की। वह 1947 में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी छात्र संघ के अध्यक्ष चुने गए। 1947 से 1949 तक वे ऑल इंडिया स्टूडेंट कांग्रेस के सचिव रहे।


Posted on 18-10-2018 05:55 PM
Share it

Home  »  News  »  दो राज्यों के मुख्यमंत्री रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एन डी तिवारी का निधन

Recent News

निर्मला यादव ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की
माओवादियों ने सड़क निर्माण करा रहे ठेकेदार को मौत के घाट उतारा, 6 वाहनों में लगा दी आग
भाजपा के नेता कह रहे हैं रमन सिंह और अमन सिंह को भ्रष्ट और रमन सिंह के जनसंपर्क सचिव राजेश टोप्पो करवा रहे हैं कांग्रेस नेताओं का स्टिंग ऑपरेशनः भूपेश बघेल
राहुल लगातार झूठ बोलकर देश से छल कर रहे : श्रीकांत शर्मा
रमन ने अपने काम गिनाकर कहा, 'अब और बेहतर काम करेंगे', जोबी-खरसिया और आरंग में ली भाजपा की चुनावी सभाएं
सिलेंडर धमाके के बाद शहर में नहीं बिके ऐसे बैलून, मरीन ड्राइव में सादे गुब्बारे ही दिखे
पिछले 3 चुनाव में नक्सल प्रभावित इलाकों में 33 मौतें, इस बार सुरक्षा के चलते हिंसा शून्य
छत्तीसगढ़ की विकास योजना देश के लिए मिशाल है: योगी
आपको तय करना है किसानों से 18 प्रतिशत ब्याज वसूलने वाली काँग्रेस चाहिए या 1 रूपये किलों चावल देने वाली भाजपा: सांसद अभिषेक सिंह
कांग्रेस का घोषणा पत्र देखकर कौशिक चकरा गए है: शैलेश नितिन त्रिवेदी

Candidate Corner