chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

छत्तीसगढ़ की बेटी प्रियंका बिस्सा राष्ट्रपति से सम्मानित होंगी

24 सितंबर को राष्ट्रपति भवन में होगा सम्मान

Priyanka Bissa

भारत के राष्ट्रपति माननीय रामनाथ कोविंद के हाथों कु॰ प्रियंका बिस्सा को राष्ट्रपति भवन नई दिल्ली में राष्ट्र की सर्वश्रेष्ठ स्वयंसेवक राष्ट्रीय सेवा योजना 2017-18 के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा । देश में भारत सरकार द्वारा युवाओं को दिए जाने वाला यह सर्वोच्च पुरस्कार है ।

प्रियंका बिस्सा सामाजिक कार्यों अर्थात विकलांगता सुधार, बाल एवं महिला शिक्षा, महिला सशक्तीकरण, युवा नेतृत्व, स्वच्छता एवं व्यक्तिगत स्वच्छता, लैंगिक संवेदनशीलता और लैंगिक समानता के क्षेत्र में 10 वर्ष से काम कर रही हैं। एनएसएस (राष्ट्रीय सेवा योजना) भारत सरकार में 5 वर्ष से है और वर्तमान में उन्हें विश्वविद्यालय स्टेट एनएसएस एडवाइजरी सदस्य भी बनाया गया है। प्रियंका राज्य सरकार द्वारा एक लाख स्वयंसेवकों में सर्वश्रेष्ठ एनएसएस कैडेट 2017 से भी सम्मानित हुई है।

priyanka bissa

“छत्तीसगढ़ की बेटी” के नाम से पहचाने जाने वाली प्रियंका बिस्सा , डिग्री गर्ल्स कॉलेज रायपुर की सर्वश्रेष्ठ छात्रा एवं पंडित रविशंकर शुक्ला विश्वविद्यालय की राजनीति शास्त्र शोधकर्ता अपने देश, अपने राज्य का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोशन कर रही है।

हाल ही में वह भारत – चीन के अंतर्राष्ट्रीय संबंधों को मजबूत करने के लिए भारत सरकार द्वारा भारतीय युवा राजदूत बनीं और  चीन में भारत का प्रतिनिधित्व बहुत सरहानिय रूप में किया ।

 यह राष्ट्रीय पुरस्कार 24 सितंबर , राष्ट्रीय सेवा योजना स्थापना दिवस पर राष्ट्रपति भवन नई दिल्ली में दिया जाएगा । राज्य एनएसएस अधिकारी डॉ समरेंद्र सिंह , कुलपति के एल वर्मा , समन्वयक सुश्री नीता बाजपाई एवं कार्यक्रम अधिकारी डॉ वासु वर्मा प्रियंका की इस उपलब्धि से बहुत गौरवान्वित है और उज्जवल भविष्य के साथ शुभकामनाएं दी है।

priyanka bissa

इससे पहले प्रियंका ने भारत की पहली युवा संसद में भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय पुरस्कार भी जीता है, जिसमें सैनिटरी पैड डिस्पेंसर मशीन स्थापित करना शामिल था, जो CG 2018 के राज्य के बजट में भी शामिल किया गया। उल्लेखनीय है की प्रियंका बिस्सा ने 11,550 से अधिक व्यक्तियों को पंजीकृत कर भारत का पहला रक्त परीक्षण कार्ड भी दिया है।

Leave a Reply