Search Jobs

Our Placements

Breaking News

स्काई मोबाइल योजना: 6 लाख मोबाइल का क्या होगा, 3 दिन में बताएंगे सीएस

मुख्यमंत्री ने सोनाखान की लीज पर रोक के साथ-साथ डीएमएफ फंड के ढाई हजार करोड़ के काम पर भी लगाई रोक

जोगी कांग्रेस के पांच नेताओं की होगी कांग्रेस में घर वापसी

भाजपा-कांग्रेस आमने सामने: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कसा तंज 'अनुशासित पार्टी की कलई खुल गई है', शिवरतन शर्मा की नसीहत, 'अपना घर संभालें'

जोगी कांग्रेस ने अपनी पार्टी के दो नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया

लोकसभा चुनाव में भाजपा की योजनाओं के खिलाफ आक्रामक प्रचार करेंगे कांग्रेसी

हार के बाद के बाद हुई प्रदेश पदाशिकारियो की बैठक, भाजपाई बोले, 'कांग्रेसी घोषणा पत्र में दम हमें अपने कार्यकर्ताओं ने भी वोट नहीं दिए'

लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का नया पीसीसी चीफ संभावित

छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल मुख्यमंत्री बने, टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने मंत्री पद की शपथ ली

रायपुर (एजेंसी) | भूपेश बघेल ने सोमवार को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। बघेल के अलावा टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने मंत्री पद की शपथ ली। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई अन्य दलों के नेता मंच पर मौजूद रहे। बघेल ने मंच पर मौजूद मनमोहन सिंह, मोती लाल वोरा और पीएल पुनिया के पैर छुए। शपथ से कुछ घंटे पहले ही बारिश के चलते समारोह स्थल बदल दिया गया था। पहले शपथ ग्रहण साइंस कॉलेज मैदान में होना था। बाद में यह बलवीर सिंह जुनेजा इनडोर स्टेडियम में हुआ। ये नेता भी रहे मौजूद शपथ ग्रहण में कांग्रेस से पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत, नारायण सामी,  सचिन पायलट, राज बब्बर, जतिन प्रसाद, नवीन जिंदल, राजीव शुक्ला, आनंद शर्मा, गुरुदास कामत, मोहसीना किदवई, प्रमोद तिवारी, नवजोत सिंह सिद्धू मौजूद थे। इनके अलावा लोकतांत्रिक जनता दल के शरद यादव और नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला, झारखंड विकास मोर्चा के प्रमुख बाबूलाल मरांडी आदि मौजूद थे। भूपेश के चयन के 3 बड़े कारण छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को मजबूती देने में योगदान। राहुल ने जो भी जिम्मा सौंपा, बघेल उस पर खरे उतरे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर पिछले 5 साल में कांग्रेस को मजबूती दी। बघेल ने बोल्ड स्टैंड लिया और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी को पार्टी से बाहर किया। संगठन को एकजुट बनाए रखा। भाजपा सरकार के खिलाफ आक्रामक रहे। भाजपा नेताओं के साथ कभी मंच साझा नहीं किया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से हाथ नहीं मिलाया। विधानसभा में विपक्ष की मजबूत तस्वीर पेश की। जोगी कैबिनेट में मंत्री रह चुके हैं बघेल 23 अगस्त 1961 को जन्मे बघेल 80 के दशक में यूथ कांग्रेस से राजनीति में आए। 2000 में जब छत्तीसगढ़ अलग राज्य बना तो वह पाटन सीट से विधायक थे। जोगी सरकार में उन्हें कैबिनेट में शामिल किया गया। 2003 में कांग्रेस के सत्ता से बाहर होने पर बघेल को विपक्ष का उपनेता बनाया गया। 2013 में झीरम घाटी हमले के बाद कांग्रेस को एक बार फिर से खड़ा करने में बघेल ने अहम भूमिका निभाई। 2014 में उन्हें प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। हालांकि, वे सीडी कांड की वजह से भी सुर्खियों में रहे। सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है।


Posted on 17-12-2018 07:54 PM
Share it

Home  »  News  »  छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल मुख्यमंत्री बने, टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने मंत्री पद की शपथ ली

Recent News

स्काई मोबाइल योजना: 6 लाख मोबाइल का क्या होगा, 3 दिन में बताएंगे सीएस
मुख्यमंत्री ने सोनाखान की लीज पर रोक के साथ-साथ डीएमएफ फंड के ढाई हजार करोड़ के काम पर भी लगाई रोक
जोगी कांग्रेस के पांच नेताओं की होगी कांग्रेस में घर वापसी
भाजपा-कांग्रेस आमने सामने: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कसा तंज 'अनुशासित पार्टी की कलई खुल गई है', शिवरतन शर्मा की नसीहत, 'अपना घर संभालें'
जोगी कांग्रेस ने अपनी पार्टी के दो नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया
लोकसभा चुनाव में भाजपा की योजनाओं के खिलाफ आक्रामक प्रचार करेंगे कांग्रेसी
हार के बाद के बाद हुई प्रदेश पदाशिकारियो की बैठक, भाजपाई बोले, 'कांग्रेसी घोषणा पत्र में दम हमें अपने कार्यकर्ताओं ने भी वोट नहीं दिए'
लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का नया पीसीसी चीफ संभावित
सीएम बघेल बोले, 'रमन ये क्यों भूल जाते हैं कि उन्हाेंने हमारी भी सुरक्षा हटाई थी'
चुनाव खर्च का हिसाब नहीं देने वाले 132 प्रत्याशियों को नोटिस

Candidate Corner