Search Jobs

Our Placements

Breaking News

नई सरकार की शपथ ग्रहण की तैयारियां हुई पूरी, सीएम के नाम का ऐलान कल

दोस्त को सिगरेट नहीं देने पर किया चाकू से वार, घटना का लाइव वीडियो वायरल

कौन बनेगा मुख्यमंत्री? राहुल गांधी के साथ बैठक खत्म, मुख्यमंत्री के नाम पर सस्पेंस बरकरार

ओपी चौधरी की जीत पर BJP नेता ने लगाया था दांव, अब मुंडवानी होगी मूंछ

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव परिणाम 2018: 68 सीटों के साथ बनेगी कांग्रेस की सरकार, भाजपा साफ़

काम आया कांग्रेस का 'कर्ज़ा माफ़, बिजली बिल हाफ' का नारा, आउटसोर्सिंग और जीत का दम्भ ले डूबा भाजपा को, हार-जीत के ये थे कारण

कांग्रेस जीता क्योंकि किसानों ने साथ दिया, भाजपा हारी क्योंकि महिलाओं को नहीं भाया सरकार का शराब बेचना

15 साल बाद सत्ता में कांग्रेस की वापसी, मुख्यमंत्री पद के दावेदार हो सकते है यह चार नाम

सिलेंडर धमाके के बाद शहर में नहीं बिके ऐसे बैलून, मरीन ड्राइव में सादे गुब्बारे ही दिखे

रायपुर (एजेंसी) | बैलून फुलाने वाले सिलेंडर में धमाके का असर यह हुआ कि बुधवार को राजधानी की किसी भी भीड़ वाली जगह या बाग-बगीचों में ऐसे गुब्बारे बिके ही नहीं। हवा में उड़ने वाले ऐसे गुब्बारे बेचने वाले दो युवकों ने बताया कि उन्होंने आज सिलेंडर निकाले ही नहीं और ऐसे गुब्बारे बेच रहे हैं, जो पंप या मुंह से फुलाए जा सकें। राजधानी में बैलून हादसे की आज दिनभर चर्चा रही। लोगों का कहना था कि एक हादसे की वजह से इन्हें बैन करने की बात करना जायज नहीं होगा, लेकिन ऐसे बैलून वालों से आग्रह किया जा सकता है कि अगर उनके पास सिलेंडर हो तो वे भीड़ से सुरक्षित दूरी बनाकर खड़े हों। लोगों ने यह भी कहा कि पंप या मुंह से फुलाए जाने वाले गुब्बारे सुरक्षित हैं, इसलिए सजावट के लिए उसे ही तरजीह देनी चाहिए।


Posted on 15-11-2018 01:11 PM
Share it

Home  »  News  »  सिलेंडर धमाके के बाद शहर में नहीं बिके ऐसे बैलून, मरीन ड्राइव में सादे गुब्बारे ही दिखे

Recent News

नई सरकार की शपथ ग्रहण की तैयारियां हुई पूरी, सीएम के नाम का ऐलान कल
दोस्त को सिगरेट नहीं देने पर किया चाकू से वार, घटना का लाइव वीडियो वायरल
कौन बनेगा मुख्यमंत्री? राहुल गांधी के साथ बैठक खत्म, मुख्यमंत्री के नाम पर सस्पेंस बरकरार
ओपी चौधरी की जीत पर BJP नेता ने लगाया था दांव, अब मुंडवानी होगी मूंछ
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव परिणाम 2018: 68 सीटों के साथ बनेगी कांग्रेस की सरकार, भाजपा साफ़
काम आया कांग्रेस का 'कर्ज़ा माफ़, बिजली बिल हाफ' का नारा, आउटसोर्सिंग और जीत का दम्भ ले डूबा भाजपा को, हार-जीत के ये थे कारण
कांग्रेस जीता क्योंकि किसानों ने साथ दिया, भाजपा हारी क्योंकि महिलाओं को नहीं भाया सरकार का शराब बेचना
15 साल बाद सत्ता में कांग्रेस की वापसी, मुख्यमंत्री पद के दावेदार हो सकते है यह चार नाम
डॉ. रमन सिंह ने ली हार की नैतिक जिम्मेदारी, राज्यपाल को दे दिया इस्तीफा
भूपेश बघेल बोले, 'हर वर्ग के साथ लगातार खड़े होने के कारण मिली कांग्रेस को जीत'

Candidate Corner