Shadow

अमेरिका-ईरान तनाव में शांति के आसार, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का रुख नरम कहा “ईरानी हमले में एक भी अमेरिकी सैनिक को नुकसान नहीं पहुंचा

donald-trump-iran-address-08_January_20

नई दिल्ली। ईरान के साथ जारी तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार की देर शाम को मीडिया संबोधित किया. उनहोंने कहा, ‘ईरान के हमले में हमें कोई नुकसान नहीं हुआ. सिर्फ दो लोग मामूली रूप से घायल हुए हैं. किसी भी अमेरिकी सैनिक की मौत नहीं हुई है. मैं अमेरिकी सेना की हिम्मत को सलाम करता हूं. ईरान विश्व में बड़े स्तर पर आतंकवादियों को समर्थन देता है. हमने कुछ दिन पहले ही एक ऐसे आतंकवादी को मार गिराया है जो अमेरिका और उसके नागरिकों को धमकियां दे रहा था. सुलेमानी कई आतंकी संगठनों को अपना समर्थन देता था. उसकी वजह से हजारों की संख्या में यूरोपीय सेना के जवानों की मौत हुई. सुलेमानी हाल के दिनों में भी अमेरिकी सैनिकों पर हमले की योजना बना रहा था, हमने उसे रोका है. हमने सुलेमानी को मारकर यह संदेश दिया है कि अमेरिका अपने नागरिकों और सैनिकों की रखवाली के लिए किसी भी हद तक जाएगा.’ ट्रंप ने कहा, ‘समय आ गया है कि अमेरिका, जर्मनी, चीन, रूस औऱ ब्रिटेन इस बात को समझें कि ईरान किस तरह से परमाणु बम बनाकर आतंकवादियों की मदद कर सकता है. हम ईरान पर आगे भी पाबंदी लगाए रखने वाले हैं.’

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने कहा, ‘हम विश्व में तेल और गैस के सबसे बड़े उत्‍पादक हैं. हम तेल के लिए ईरान या उसके आसपास के देशों पर निर्भर नहीं हैं. हम पहले की तुलना में मध्य पूर्व में मजबूत हुए हैं.’ ‘तीन महीने पहले आईएसआईएस के लीडर बगदादी का खात्मा किया था. वह आईएसआईएस को दोबारा खड़ा करने की कोशिश में था. लेकिन हमने उसे रोका. आईएसआईएस ईरान का सबसे बड़ा दुश्मन था लेकिन हमने उसे खत्म किया. आईएसआईएस का खात्मा ईरान के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद रहा.’

ट्रंप ने यह भी संकल्प जताया कि वह ईरान को कभी भी परमाणु हथियार हासिल नहीं करने देंगे. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘जब तक मैं अमेरिका का राष्ट्रपति हूं, मैं ईरान को कभी भी परमाणु हथियार हासिल नहीं करने दूंगा.” ईरानी नेताओं और लोगों को सीधा संदेश देते हुए ट्रंप ने कहा कि अमेरिका उन सभी के साथ शांति के लिए तैयार है, जो शांति चाहते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘ईरान के नेताओं और लोगों के लिए, हम चाहते हैं कि आपका शानदार भविष्य हो जिसके आपके हकदार हैं.”

बता दें ईरान के सरकारी टीवी चैनल ने बुधवार को कहा कि इराक में अमेरिका के सैन्य ठिकानों को निशाना बनाकर दागी गईं 15 मिसाइलों के हमले में 80 ‘अमेरिकी आतंकी’ मारे गए. स्टेट टीवी ने एक सूत्र के हवाले से कहा है कि अगर वाशिंगटन ने कोई जवाबी कार्रवाई की तो ईरान के पास अन्य 100 जगह निशाने पर हैं. साथ ही यह भी कहा गया है कि अमेरिकी हेलीकॉप्टर और सैन्य उपकरण को भी नुकसान पहुंचा है.

बता दें, ईरान ने इराक स्थित ऐसे कम से कम दो सैन्य अड्डों पर एक दर्जन से अधिक बैलिस्टिक मिसाइल दागी जहां अमेरिकी सेना और उसके सहयोगी बल ठहरे हुए हैं. बगदाद में अमेरिकी हवाई हमले में ईरान के सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद यह कार्रवाई की गई है. सुलेमानी पर हमले का आदेश शुक्रवार को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दिया था. अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रपति ट्रम्प को इस संबंध में जानकारी दे दी गई है और वह स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

RO-11243/71

Leave a Reply