chhattisgarh news media & rojgar logo

8 साल से कुत्ते के नाम पर राशन लेता रहा परिवार, महिला ने पूछा, ‘कालू कुत्ते का नाम राशन कार्ड में लिख सकते हो तो मेरा क्यों नहीं?’ तब हुआ मामले का खुलासा

गुजरात (एजेंसी) | गुजरात में पालनपुर जिले के जेतवास गांव में एक परिवार आठ साल तक कुत्ते के नाम पर सरकारी राशन लेता रहा। मामले का खुलासा तब हुआ, जब कालू नाम के कुत्ते की मौत हो गई और परिवार नई बहू का नाम जुड़वाने के लिए तहसीलदार कार्यालय पहुंच गया।




दरअसल, परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। कुछ समय पहले घर में नई बहू मुगलीबेन परमार आई है। जिसका नाम राशन कार्ड में दर्ज करवाने के लिए परिवार के सदस्य तहसीलदार कार्यालय के चक्कर लगा रहे थे। लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हो रही थी। परिवार की परेशानी देखकर मुगलीबेन खुद तहसीलदार कार्यालय पहुंच गई।

यहां उसने कर्मचारियों से कहा कि कालू कुत्ते का नाम राशन कार्ड में लिख सकते हो तो मेरा क्यों नहीं? यह सुनते ही दफ्तर में खलबली मच गई। इसके बाद तहसीलदार कार्यालय के कर्मचारियों ने स्थिति को भांपते हुए तुरंत अपनी गलती सुधार ली। महिला ने बताया कि 8 साल पहले जनगणना करने पहुंची टीम ने कुत्ते का नाम राशन कार्ड में दर्ज किया था।



Leave a Reply