chhattisgarh news media & rojgar logo
Republic Day 2020

भारतीय वायुसेना की कार्रवाई में बालाकोट में जैश के कमांडरों समेत कई आतंकी मारे गए- विदेश सचिव

नई दिल्ली (एजेंसी) | आज 26 फरवरी को ठीक सुबह ठीक 11.30 हुई विदेश मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस को विदेश सचिव विजय गोखले ने संबोधित किया। जिसमें उन्होने भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई की पुष्टि की। उन्होने बताया कि जैश इस तरह के और आतंकी हमले के मूड में था इसकी जानकारी खुफिया विभाग से मिली थी जिसके चलते ये स्ट्राइक बेहद ज़रूरी थी।

जिसके बाद जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर पाकिस्‍तान समर्थित जैश-ए-मोहम्‍मद द्वारा किए गए आतंकी हमले से नाराज भारत की तरफ से मंगलवार तड़के PoK में जैश के प्रमुख ठिकाने पर कार्रवाई कर दी गई। भारतीय वायुसेना की तरफ से की गई इस ‘सर्जिकल स्‍ट्राइक’ में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में चल रहे जैश के आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए बमबारी की गई की गई। भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई पर भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर जानकारी साझा की।

उन्‍होंने बताया कि 14 जनवरी को पुलवामा में पाक समर्थित जैश के आतंकियों ने हमला किया. इसे बहावलपुर में बैठे जैश सरगना मसूद अजहर और उसके सरपरस्‍तों की तरफ से अंजाम दिया गया। PoK में सैंकड़ों जिहादी कैंप चल रहे हैं। पाकिस्‍तान उन पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। इसके पुख्‍ता इंटेलिजेंस इनपुट था कि जैश के आतंकी भारत के अन्‍य इलाकों में भी फि‍दायीन हमला कर सकते हैं। जिसके बाद भारत ने पीओके स्थित आतंकी कैंपों पर बड़ी कार्रवाई की। इस कार्रवाई में बालाकोट में जैश के सीनियर कमांडर समेत कई आतंकी मारे गए. इस हमले में जैश के सबसे बड़े कैंप को नुकसान पहुंचाया गया। इसमें किसी भी आम नागरिक को नुकसान नहीं पहुंचा और इस बात का ख्‍याल रखा गया था। उन्‍होंने बताया कि घने जंगलों में यह आतंकी कैंप मौजूद थे।

इस हमले के वक्‍त मसूद अजहर का करीबी रिश्‍तेदार मौलाना युसूफ अजहर, जोकि जैश-ए-मोहम्‍मद का टॉप लीडर भी था, वह भी कैंप भी मौजूद था। उसके मारे जाने की खबर है।


आपको बता दे भारतीय वायुसेना ने आज मंगलवार 26 फ़रवरी को तड़के सुबह 03.30 बजे ये बमबारी की। पुलवामा हमले के बाद हुई इस कार्रवाई को पाकिस्तान ने भी स्वीकार कर लिया है। पाकिस्तानी सेना ने स्वीकारा है कि भारतीय वायुसेना ने पीओके में दाखिल होकर कार्रवाई की है। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने दावा किया कि भारतीय वायुसेना के विमानों ने लाइन ऑफ कंट्रोल का उल्लंघन किया है। जिसका हमने तुरंत जवाब दिया, उसके बाद भारतीय वायुसेना के विमान वापस अपनी सीमा में लौट गए। जिसके बाद वह बालकोट की तरफ वापस लौट गया। किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। ‘

Leave a Reply