chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

वायुसेना प्रमुख ने कहा, भारत को पाकिस्तान-चीन से खतरा, इसलिए रफाल की खरीदी जरूरी

नई दिल्ली (एजेंसी) | रफाल लड़ाकू विमान सौदे में घोटाले के विपक्ष के अाराेपों के बीच वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने कहा है कि रफाल फाइटर जेट और एस-400 मिसाइल जैसी सुरक्षा प्रणाली से भारत की मारक क्षमता बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि भारत ‘गंभीर खतरे’ का सामना कर रहा है। इसे देखते हुए वायुसेना को रफाल जैसे विमान और रूसी सुरक्षा प्रणाली एस-400 की जरूरत है। वायुसेना प्रमुख ने 126 की जगह सिर्फ 36 रफाल खरीदे जाने के सरकार के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि 36 फाइटर जेट मिलने से वायुसेना को हालात से निपटने में मदद मिलेगी। धनोआ बुधवार को एक सेमीनार में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि वायुसेना को तत्काल फाइटर जेट की जरूरत है।

केंद्र सरकार ने सत्ता में आने के बाद यूपीए सरकार द्वारा फ्रांस की कंपनी डसाल्ट एविएशन से 126 रफाल विमानों की खरीद के सौदे को रद्द कर सीधे फ्रांस सरकार से उड़ने की हालत में तैयार 36 विमानों की खरीद का सौदा किया है। कांग्रेस का आरोप है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस सौदे में अपने करीबी उद्योगपति मित्र को फायदा पहुंचाया है।




तेजस पूरी नहीं कर सकता कमी

धनोआ ने कहा कि देश में ही बना तेजस विमान उस कमी को पूरा नहीं कर सकता, जिसका सामना वायुसेना कर रही है। इसके लिए रफाल जैसे अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी से लैस विमान की जरूरत है।

वायुसेना को मजबूत बनाने की जरूरत

धनोआ ने कहा कि समय की जरूरत है कि पड़ोसी देशों की ताकत को देखते हुए वायुसेना को मजबूत बनाया जाना चाहिए। पाकिस्तान और चीन की हवाई ताकत का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि वायुसेना को 42 स्क्वैड्रन की जरूरत है, अभी 31 स्क्वैड्रन हैं। पाकिस्तान के पास फाइटर जेट के 20 से अधिक स्क्वैड्रन हैं, जिनमें उन्नत एफ-16 भी हैं और वह चीन से बड़ी संख्या में जे-17 विमान हासिल कर रहा है। चीन के पास 1700 से ज्यादा फाइटर जेट हैं, जिनमें 800 चौथी पीढ़ी के हैं। अगर भारत के पास फाइटर जेट के 42 स्क्वैड्रन भी हो जाते हैं तो वह दोनों देशों की ताकत का मुकाबला नहीं कर सकता।

अगस्ता केस- वायुसेना के पूर्व प्रमुख को जमानत

36 हजार करोड़ रुपए के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकाप्टर सौदे से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के एक केस में पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी और अन्य आरोपियों को बुधवार को जमानत मिल गई। दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत के विशेष जज अरविंद कुमार ने त्यागी और अन्य को एक-एक लाख रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दी। यह मामला ईडी ने दायर किया है। ईडी का दावा है कि कमीशन की रकम अलग-अलग चैनल्स के जरिये अदा की गई। अदालत ने 24 जुलाई को आरोपियों को उपस्थित होने के लिए समन जारी किया था।



RO No - 11069/ 14
CM Bhupesh Bhagel Mandi ko Maar

Leave a Reply