chhattisgarh news media & rojgar logo

Govt Schemes

छत्तीसगढ़ के बजट 2020 में प्रदेश भर से जन-भागीदारी की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अपील

छत्तीसगढ़ के बजट 2020 में प्रदेश भर से जन-भागीदारी की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अपील

business, chhattisgarh, Govt Schemes, News
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश भर से जनता को छत्तीसगढ़ के बजट में भागीदारी एवं सुझाव देने की अपील की है, गौरतलब है भूपेश सरकार का ये दूसरा वित्तीय छत्तीसगढ़ का बजट होगा और प्रदेश सरकार के कार्यो की सरहाना चारो तरफ हो रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्विटर के द्वारा ट्वीट करके जनभागीदारी की अपील की है और सुझाव देने हेतु व्हाट्सप्प एवं ईमेल की जानकारी भी दी है। हम चाहते हैं कि आपकी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिये बनाये जाने वाले बजट में आपकी भागीदारी हो। कृपया अपने सुझाव देकर अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। आप अपने सुझाव निम्न माध्यमों से भेज सकते हैं:- ई-मेल- bhagidaribudget2020@gmail.com व्हाट्सएप्प- 7440413604#JanBhagidariBudget pic.twitter.com/wLvxPBgycs — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) January 18, 2020
अब राशन कार्ड से भी करा सकेंगे मुफ्त इलाज, डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में बड़ा बदलाव

अब राशन कार्ड से भी करा सकेंगे मुफ्त इलाज, डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में बड़ा बदलाव

chhattisgarh, Govt Schemes, News
रायपुर। डॉ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना (मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना) का लाभ लेने के लिए स्मार्ट कार्ड की अनिवार्यत समाप्त हो चुकी है। राज्य सरकार की महत्वकांक्षी डॉ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना को लेकर 17 जनवरी 2020 से बड़ा परिवर्तन हो गया है। अब पहचान पत्र के लिए योजना में शामिल राज्य के सभी परिवारों को स्मार्ट कार्ड पर निर्भर नहीं रहना होगा। साफ्टवेयर के डेटाबेस से स्मार्ट कार्ड के आंकडे हटा दिए गए हैं। इस तरह अब मरीज व उनके परिजनों को पहचान पत्र के रूप में प्राथमिकता, अंत्योदय, राशन कार्ड के साथ आधार कार्ड अथवा कोई भी शासकीय पहचान पत्र साथ लेकर अनुबंधित अस्पतालों में जाना होगा। साफ्टवेयर इन मरीजों की पहचान अब नए फार्मूले से करेगा। यह नया फार्मूला साफ्टवेयर में अपलोड किया जा चुका है। जो कि 17 जनवरी 2020 से काम करना शुरू कर दिया है। अस्पताल में ही बन
रायपुर : कुपोषण के जाल से बाहर आई बिंदिया, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से आया परिर्वतन

रायपुर : कुपोषण के जाल से बाहर आई बिंदिया, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से आया परिर्वतन

chhattisgarh, Govt Schemes, News, special
दुर्ग। एकीकृत बाल विकास परियोजना दुर्ग (शहरी) के परिक्षेत्र-बोरसी अंतर्गत वार्ड क्रं.-48 उत्कल नगर दुर्ग अंतर्गत पिता श्री लिंगराज एवं माता श्रीमती सरिता के घर तीन साल पहले 8 अक्टूबर को दूसरी संतान के रूप में एक स्वस्थ बालिका ने बिंदिया जन्म लिया। माता-पिता पुत्री के जन्म से प्रसन्न थे। लेकिन निम्न आय वर्ग से संबंधित होने के कारण जीविकोपार्जन हेतु बच्ची को उसके 5 वर्षीय बड़े भाई के साथ घर पर छोड़ कर जाने लगे, जिसके कारण बच्ची धीरे-धीरे कुपोषण का शिकार होंने लगी। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के द्वारा राज्य सरकार की महत्वकांक्षी योजना मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान अंतर्गत दुर्ग जिले में सुपोषण अभियान का शुभारंभ गांधी जयंती के दिन हुआ। योजना अंतर्गत कुपोषित बच्चों एवं एनीमिक महिलाओं को क्रमशः कुपोषण एवं एनीमिया मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया। इसी योजना अंतर्गत बच्ची कुमारी बिंदिया को भी शामिल
रायपुर : यूनिसेफ (UNICEF) ने छत्तीसगढ़ सरकार के कुपोषण मुक्ति के प्रयासों को सराहा

रायपुर : यूनिसेफ (UNICEF) ने छत्तीसगढ़ सरकार के कुपोषण मुक्ति के प्रयासों को सराहा

chhattisgarh, Govt Schemes, News, special
रायपुर. छत्तीसगढ़ में कुपोषण मुक्ति के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा दृढ़ संकल्पित होकर किए जा रहे समन्वित अभिनव प्रयासों को लोगों की लगातार सराहना और सहयोग मिल रहा है। आज एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय संस्था यूनिसेफ ने छत्तीसगढ़ में कुपोषण मुक्ति के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। यूनिसेफ इंडिया ने अपने ट्वीटर हैण्डल से मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के शुभारंभ की पोस्ट साझा करते हुए लिखा कि ’’खून की कमी और कुपोषण रोकने के लिए मलेरिया की रोकथाम बहुत जरूरी कदम है। जिससे बस्तर के आदिवासी इलाकों में महिलाओं और बच्चों की जान बचाई जा सकती है। यह छत्तीसगढ़ सरकार का महत्वपूर्ण कदम है।’’ इससे पहले भी यूनिसेफ ने अपने ट्वीटर और फेसबुक एकाउंट पर दंतेवाड़ा जिले के प्राथमिक शाला बेंगलुरू की फोटो साझा कर स्कूलों में चल रहे किचन गार्डन बागवानी की सरा
रायपुर : विधानसभा के विशेष सत्र के पहले भूपेश कैबिनेट की सीएम निवास में अहम बैठक, अनुसूचित जाति और जनजाति पर चर्चा

रायपुर : विधानसभा के विशेष सत्र के पहले भूपेश कैबिनेट की सीएम निवास में अहम बैठक, अनुसूचित जाति और जनजाति पर चर्चा

chhattisgarh, Govt Schemes, News, politics
रायपुर। राज्य सरकार ने 16 जनवरी को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है. विधानसभा के विशेष सत्र के पहले भूपेश कैबिनेट की सीएम निवास में अहम बैठक सम्पन्न हुई. कैबिनेट बैठक में राज्यपाल के अभिभाषण को मंजूरी देने के साथ ही 126 वें संविधान संशोधन को अनुसमर्थन देने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई.126 वें संविधान संशोधन के तहत केन्द्र सरकार ने अनुसूचित जाति और जनजाति को आरक्षण देने की सीमा को दस साल बढ़ाने का निर्णय लिया है. इसके तहत संसद के अलावा 50 फीसदी राज्यों का अनुसमर्थन हासिल करना अनिवार्य है. बैठक के बाद मंत्री रविंद्र चौबे और मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि केवल इन्हीं दो प्रस्ताव को मंजूरी देने के लिए  कैबिनेट की बैठक बुलाई गई थी. इन दो प्रस्तावों के अलावा किसी भी मुद्दे पर कैबिनेट में चर्चा नहीं हुई.
छत्तीसगढ़ सरकार धान से Bio-Ethanol उत्पादन को कर रही प्रोत्साहित, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नीति आयोग को लिखा पत्र

छत्तीसगढ़ सरकार धान से Bio-Ethanol उत्पादन को कर रही प्रोत्साहित, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नीति आयोग को लिखा पत्र

chhattisgarh, Govt Schemes, india, News
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में उपार्जित अतिरिक्त धान से निर्मित बॉयो-एथेनॉल की बिक्री को प्रोत्साहित करने इसका विक्रय मूल्य आकर्षक रखने के लिए नीति आयोग को पत्र लिखा है। उन्होंने बॉयो-एथेनॉल बनाने कृषि मंत्रालय से हर वर्ष मंजूरी लेने की बाध्यता को भी समाप्त करने का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में इन दोनों बिंदुओं पर नीति आयोग को भारत सरकार के स्तर पर शीघ्र पहल करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री ने नीति आयोग को लिखे पत्र में कहा है कि राष्ट्रीय जैव ईंधन नीति-2018 और छत्तीसगढ़ की औद्योगिक नीति के तहत राज्य में उपार्जित अतिरिक्त धान से बॉयो-एथेनॉल संयंत्रों की स्थापना को प्रोत्साहन देने का निर्णय लिया गया है। राज्य में बॉयो-एथेनॉल संयंत्रों की स्थापना के लिए उद्योग विभाग द्वारा निजी निवेश आमंत्रित किया जा रहा है। निजी निवेश को आकर्षित करने बॉयो-ए
नीति आयोग ने वित्त समावेश और कौशल विकास की टॉप 5 जिलों की सूची में छत्तीसगढ़ के सुकुमा नारायणपुर और राजनांदगाव

नीति आयोग ने वित्त समावेश और कौशल विकास की टॉप 5 जिलों की सूची में छत्तीसगढ़ के सुकुमा नारायणपुर और राजनांदगाव

chhattisgarh, Govt Schemes, News, special
रायपुर. नीति आयोग ने देश के टॉप 5 जिलों की सूची जारी की है। यह जिले वित्तीय समावेश और कौशल विकास के क्षेत्र में देश में सबसे बेहतर बताए गए हैं। इन आंकांक्षी जिलों में छत्तीसगढ़ का नारायणपुर जिला पहले स्थान पर है। इस रैंकिंग में तीसरे नंबर पर राजनांदगांव और पांचवें नंबर पर सुकमा जिला है। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर राजस्थान का जैसलमेर और चौथे स्थान पर मिजोरम का ममित जिला है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोशल मीडिया के जरिए खुशी जाहिर की सुखद संयोग - बड़ी खुशखबरी कल 12 जनवरी को हम युवा आदर्श स्वामी विवेकानंद जी का जन्मदिन मना रहे हैं। छत्तीसगढ़ प्रदेश "युवा महोत्सव" का आगाज कर रहा है और आज बड़ी खुशखबरी आई है। देश भर के आकांक्षी जिलों में टॉप 5 में से 3 जिले छत्तीसगढ़ के हैं जो वित्तीय समावेश एवं कौशल विकास के.. https://t.co/ovHMmkVkBQ — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) January 11,
रायपुर : मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम अंतर्गत 4506 हितग्राही हुए लाभान्वित, खादी ग्रामोद्योग विभाग ने दिलाया 13 हजार 554 लोगों को रोजगार

रायपुर : मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम अंतर्गत 4506 हितग्राही हुए लाभान्वित, खादी ग्रामोद्योग विभाग ने दिलाया 13 हजार 554 लोगों को रोजगार

chhattisgarh, Govt Schemes, News
रायपुर। छत्तीसगढ़ खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा राज्य के नई सरकार के गठन उपरांत अब तक 13 हजार 554 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया है। विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार बोर्ड द्वारा मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत विगत एक साल में 821 इकाई स्थापित कर लगभग 5 करोड 52 लाख रूपए का अनुदान देकर 4 हजार 506 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया है। साथ ही प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत एक हजार एक सौ इकतीस इकाई स्थापित कर लगभग 25 करोड़ 44 लाख रुपए का अनुदान देकर 9 हजार 48 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है। मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम राज्य शासन की प्रायोजित योजना है। इस योजना के अंतर्गत परियोजना लागत राशि सेवा क्षेत्र हेतु एक लाख रूपए एवं विनिर्माण क्षेत्र के लिए 3 लाख रुपए दिया जाता हैं।  इसमें अनुदान की राशि बैंकों के माध्यम से उपलब्ध कराया जाता है और अनुदान राशि की सीमा 35 प
रायपुर : 12 जनवरी से होगा तीन दिवसीय राज्य स्तरीय छत्तीसगढ़ युवा महोत्सव, प्रदेशभर के 6,521 प्रतिभागी होंगे शामिल

रायपुर : 12 जनवरी से होगा तीन दिवसीय राज्य स्तरीय छत्तीसगढ़ युवा महोत्सव, प्रदेशभर के 6,521 प्रतिभागी होंगे शामिल

chhattisgarh, Govt Schemes, News, sports
रायपुर। राजधानी रायपुर में आगामी 12 जनवरी से तीन दिवसीय राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का आगाज होगा। राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का उद्घाटन 12 जनवरी को राजधानी खेल संचालनालय परिसर में निर्मित मुख्य मंच में सुबह 10 बजे होगा। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशन और खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री उमेश पटेल के मार्गदर्शन पर ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को निखारने और छत्तीसगढ़ की कला संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए इस बार प्रदेश में भव्य तरीके से युवा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। राजधानी रायपुर में आयोजित राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में 15 से 40 वर्ष और 40 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के प्रदेश भर के छह हजार 521 प्रतिभागी भाग लेंगेे। इनमें 3 हजार 613 पुरूष, 2 हजार 433 महिला प्रतिभागी और 301 पुरूष और 174 महिला अधिकारी कर्मचारी शामिल हैं। राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का आयोजन राजधानी रायपुर के खेल संचालनालय पर
छत्तीसगढ़ : जिन बीमारियों का सरकारी अस्पतालों में इलाज, उनका प्राइवेट को भुगतान नहीं – टीएस सिंहदेव, स्वास्थ्य मंत्री छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ : जिन बीमारियों का सरकारी अस्पतालों में इलाज, उनका प्राइवेट को भुगतान नहीं – टीएस सिंहदेव, स्वास्थ्य मंत्री छत्तीसगढ़

chhattisgarh, Govt Schemes, News
रायपुर . प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में जिन बीमारियों का इलाज हो सकता है, उनके लिए अब निजी अस्पतालों को भुगतान नहीं किया जाएगा। इन बीमारियों को सरकार ने निजी अस्पतालों की मुफ्त इलाज की योजना से बाहर कर दिया है। सरकार का तर्क है कि जब हमारे पास इलाज की पूरी व्यवस्था है तो उनके लिए निजी अस्पतालों को भुगतान क्यों करें। नई स्कीम के तहत स्वास्थ्य विभाग दिल और हड्‌डी के साथ-साथ लगभग हर गंभीर बीमारी का इलाज सरकारी अस्पतालों में बिलकुल फ्री करेगा। अंबेडकर अस्पताल के साथ-साथ छह मेडिकल कॉलेजों में एक साथ दिल का इलाज शुरू किया जाएगा। स्मार्ट कार्ड स्कीम के तहत 650 करोड़ के बजट में आधे से ज्यादा प्राइवेट अस्पतालों को भुगतान हो रहा था। अब इसी बजट का उपयोग सरकारी अस्पतालों में सुविधाएं बढ़ाने में किया जाएगा। राज्य यूनिवर्सल हेल्थ केयर स्कीम के साथ डाॅ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना लांच कर दी