Shadow

Govt Schemes

टसर धागों से महिलाएं बुन रही हैं भविष्य के सुनहरे सपनें, चारामा की महिलाओं ने तैयार किए 3.42 लाख रुपए का रेशम धागा

टसर धागों से महिलाएं बुन रही हैं भविष्य के सुनहरे सपनें, चारामा की महिलाओं ने तैयार किए 3.42 लाख रुपए का रेशम धागा

chhattisgarh, Govt Schemes, News, special
ग्रामीण महिलाओं के जीवन में टसर धागों से उन्हें न केवल स्वावलंबन की राह मिली है, बल्कि उनके सुनहरे भविष्य का भी ताना-बाना भी तैयार हो रहा है। कांकेर जिले में रेशम विभाग द्वारा महिलाओं को मशीन से रेशम धागा बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इससे चारामा विकासखंड के ग्राम झीपाटोला की 45 महिला सदस्यों को नियमित रूप से रोजगार मिल रहा है। शीतला धागाकरण समूह की महिलाओं ने बताया कि पिछले चार वर्षों से वे इस कार्य से जुड़ी हैं। समूह द्वारा बनाये गए धागे व्यापारियों को बिक्री की जा रही थी, जिससे उनके परिश्रम का उचित लाभ उन्हें नहीं मिल पा रहा था। महिलाओं ने बताया कि रेशम विभाग द्वारा धागा निर्माण के लिए समूह को 160 किलो कच्चा माल दिया गया था। इस कच्चे माल से समूह द्वारा 74 किलो 500 ग्राम धागा तैयार किया गया। जिसे विभाग द्वारा 4 हजार 600 रुपए प्रति किलो की दर से खरीदा गया। इससे समूह को 3 लाख 42
राज्यपाल सुश्री उईके महारानी अस्पताल जगदलपुर में आयोजित निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण एवं निदान शिविर में हुई शामिल

राज्यपाल सुश्री उईके महारानी अस्पताल जगदलपुर में आयोजित निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण एवं निदान शिविर में हुई शामिल

chhattisgarh, Govt Schemes, News
जगदलपुर. निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर गरीब एवं कमजोर वर्ग के लोगो के लिए अत्यंत उपयोगी है। हमारे समाज के ऐसे लोग जो बीमारियों से ग्रसित होने के उपरांत भी अपने खराब आर्थिक स्थिति के कारण बड़े शहरों एवं चिकित्सालयों में जाकर अपना इलाज नहीं करा पाते हैं, ऐसे लोगों के लिए यह शिविर बहुत ही लाभप्रद साबित होगा। यह बात राज्यपाल सुश्री अनुसूईया उईके ने कही। राज्यपाल कालड़ा मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल रायपुर द्वारा आज महारानी अस्पताल जगदलपुर में आयोजित निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण एवं सर्जरी शिविर को संबोधित कर रही थीं। राज्यपाल सुश्री उईके ने कहा कि मेरे आग्रह पर कालड़ा मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल रायपुर द्वारा महारानी अस्पताल जगदलपुर में निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया है। इस शिविर में हमारे समाज के असंख्य लोग जो गरीबी के कारण अपने बच्चे एवं स्वयं के कटे-फटे होंठ तथा हाथ-पैर के वि
रायपुर : कुपोषित अनन्या को मिली सेहतमंद जिंदगी, सुपोषण अभियान की एक और कामयाबी

रायपुर : कुपोषित अनन्या को मिली सेहतमंद जिंदगी, सुपोषण अभियान की एक और कामयाबी

chhattisgarh, Govt Schemes, News, special
रायपुर। प्रदेशव्यापी मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से कई कुपोषित बच्चों को स्वस्थ जीवन मिला है,उनमें से एक हैं दुर्ग जिले की एक साल की नन्ही अनन्या यादव। भिलाई-3 की रहने वाली अनन्या के चेहरे की मुस्कान देखकर अन्दाजा लगाना मुश्किल है कि सिर्फ चार माह पहले ये बच्ची गंभीर कुपोषण का शिकार थी। नियमित देखरेख से कुमारी अनन्या महज चार महीनों में कुपोषण को मात देकर अब सेहतमंद जिन्दगी जी रही है। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि आंगनबाड़ियों में कार्यकर्ताओं की लगन और सुपरवाइजर तथा परियोजना अधिकारी की सतत मॉनिटरिंग से अच्छे नतीजे सामने आ रहे है। कुमारी अनन्या का प्रकरण काफी चुनौती भरा था। नियमित देखरेख से कम समय में ही अनन्या को कुपोषण के जाल से मुक्त किया जा सका है। उन्होंने बताया कि अनन्या जन्म से ही काफी कमजोर थी। 6 नवम्बर 2018 को जन्म के समय उसका वजन सिर्फ 1 किलो 600 किलोग्राम था। आंगनबाड़ी के
गढ़बो डिजिटल छत्तीसगढ़ : सारक्षता भवन दुर्ग में ई-साक्षरता केन्द्र का शुभारंभ

गढ़बो डिजिटल छत्तीसगढ़ : सारक्षता भवन दुर्ग में ई-साक्षरता केन्द्र का शुभारंभ

chhattisgarh, Govt Schemes, News
रायपुर। मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम अंतर्गत आज नगर पालिका निगम दुर्ग परिक्षेत्र में ’गढ़बो डिजिटल छत्तीसगढ़’ के तहत साक्षरता भवन दुर्ग में ई-साक्षरता केन्द्र का शुभारंभ विधायक श्री अरूण वोरा द्वारा की-बोर्ड का बटन दबाकर किया गया। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में संचार क्रांति का युग है। इसमें सभी माता-बहनों को डिजिटली साक्षर होना जरूरी है। छत्तीसगढ़ सरकार का यह सबसे नवाचारी कार्यक्रम है। यह योजना बहुत अच्छी है, इसे प्रत्येक वार्ड में प्रारंभ किया जाना चाहिए। दुर्ग जिले में यह चौथा केन्द्र है। इसके पूर्व नगर निगम भिलाई परिक्षेत्र में खुर्सीपार, नगर पंचायत पाटन और नगर पंचायत उतई ई-साक्षरता केन्द्र प्रारंभ हो चुके है। इन केन्द्रों में 14 से 60 आयु वर्ग की माता-बहनों को डिजिटल साक्षर किया जा रहा है। एक माह की प्रशिक्षण अवधि होती
जशपुर : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक से 27795 ग्रामीण मरीज लाभांवित, नियमित रूप से लोगो को मिल रही चिकित्सा सुविधा

जशपुर : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक से 27795 ग्रामीण मरीज लाभांवित, नियमित रूप से लोगो को मिल रही चिकित्सा सुविधा

chhattisgarh, Govt Schemes, News
जशपुर. मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना से जशपुर जिले के सुदूर अंचल के ग्रामीणों को भी स्वास्थ्य सुविधा का सहजता से लाभ मिल रहा है। यह योजना उन ग्रामीणों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो रही है, जिनके गांव एवं आस-पास स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध नही है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले के 8 विकासखंडों के कुल 95 हाट बाजारों नियमित रूप से क्लिनिक लगाकर स्वास्थ्य विभाग की टीम वहां आने वाले मरीजों के स्वास्थ्य का परीक्षण कर उन्हें उचित परामर्श एवं निःशुल्क दवाएं उपलब्ध करा रही है। गंभीर रोगों से पीड़ित लोगों को बेहतर ईलाज के लिए बड़े चिकित्सालयों के लिए रिफर भी किया जा रहा है। जशपुर जिले के सुदूर अंचल के ब्लॉक बगीचा एवं फरसाबहार में मोबाईल मेडिकल यूनिट के माध्यम से साप्ताहिक बाजारों में लोगों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है, जबकि जिले के जशपुर, मनोरा, दुलदुला, कुनकुरी, पत्थलगांव, कांसाबेल
बैटरी चलित ट्राई सायकल मिलते ही दिव्यांग के चहरे में आयी मुस्कान, रिपेयरिंग भी दिव्यांग ही करेंगे नही जाना पड़ेगा जबलपुर

बैटरी चलित ट्राई सायकल मिलते ही दिव्यांग के चहरे में आयी मुस्कान, रिपेयरिंग भी दिव्यांग ही करेंगे नही जाना पड़ेगा जबलपुर

chhattisgarh, Govt Schemes, News
जिला कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने आज अपने हाथों से अनेक दिव्यागों एवं बुजुर्ग व्यक्तियों को सहायक उपकरण का वितरण किया। इन उपकरण मिलते ही उनकी चहरों में एक मुस्कान सी छा गई। समाज कल्याण विभाग द्वारा जिला स्तरीय सहायक उपकरण वितरण शिविर का आयोजन जिला मुख्यालय स्थित स्पोर्ट्स स्टेडियम के प्रांगण में किया गया। समाज कल्याण विभाग के उपसंचालक आशा शुक्ला ने बताया इस शिविर में कुल 44 उपकरण हितग्राहियों को दिया गया। जिसमें 20 बैटरी चलित ट्राई सायकल,5 ट्राई सायकल, 6 व्हील चेयर, 10 श्रवण यंत्र एवं 3 जोड़ी बैशाखी कलेक्टर के हाथों प्रदान किया गया। कलेक्टर ने सभी दिव्यागों से बात कर उनका हाल चाल जाना। सभी ने शासन को धन्यवाद दिया। कुछ दिव्यागों ने बैटरी चलित ट्राई सायकल में खराबी आती है तो वर्तमान में इनका रिपेयर जबलपुर से कराया जाता है। जिससे दिव्यागों को बढ़ा तकलीफ होती है। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने
वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने तेन्दूपत्ता संग्रहण की तैयारी एवं सभी आवश्यक व्यवस्था के दिए निर्देश, शाख कर्तन का कार्य तेजी से जारी

वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने तेन्दूपत्ता संग्रहण की तैयारी एवं सभी आवश्यक व्यवस्था के दिए निर्देश, शाख कर्तन का कार्य तेजी से जारी

chhattisgarh, Govt Schemes, News
वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में वन विभाग द्वारा राज्य में चालू वर्ष 2020 में तेन्दूपत्ता संग्रहण की तैयारी के तहत शाख कर्तन का कार्य तेजी से किया जा रहा है। वन मंत्री श्री अकबर ने विभागीय अधिकारियों को तेन्दूपत्ता संग्रहण के सीजन में अच्छी गुणवत्ता का अधिक से अधिक तेन्दूपत्ता संग्रहण के लिए हर आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में तेन्दूपत्ता का संग्रहण पारिश्रमिक वर्ष 2018 में दो हजार 500 रूपये प्रति मानक बोरा था, जिसे वर्तमान सरकार द्वारा वर्ष 2019 में बढ़ाकर चार हजार रूपये प्रति मानक बोरा कर दिया गया है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री राकेश चतुर्वेदी ने बताया कि वर्ष 2019 में 15 लाख 6 हजार 883 मानक बोरा तेन्दूपत्ता संग्रहण का पारिश्रमिक लगभग 603 करोड़ रूपये तेन्दूपत्ता संग्राहकों को वितरित किया गया है। इसके फलस्वरूप तेन्दूपत्ता संग्रहण में वर्ष 2
गढ़बो डिजीटल छत्तीसगढ़ : ई-साक्षरता केन्द्रों में संविधान के महत्वपूर्ण पहलुओं और व्यक्तिगत स्वच्छता पर चर्चा

गढ़बो डिजीटल छत्तीसगढ़ : ई-साक्षरता केन्द्रों में संविधान के महत्वपूर्ण पहलुओं और व्यक्तिगत स्वच्छता पर चर्चा

chhattisgarh, Govt Schemes, News, special
रायपुर . संचालक एवं सदस्य सचिव राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने कहा है कि गढ़बो डिजीटल छत्तीसगढ़ कार्यक्रम के तहत् संचालित ई-साक्षरता केन्द्रों में संविधान के महत्वपूर्ण पहलुओं और व्यक्तिगत स्वच्छता पर शिक्षार्थियों से चर्चा कर उन्हें जागरूक किया जायेगा। श्री शुक्ला ने समग्र शिक्षा संचालनालय के सभागार में संपन्न समीक्षा बैठक में राज्य में संचालित मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम की समीक्षा में प्रदेश के सभी जिलों से उपस्थित जिला परियोजना अधिकारी को इस आशय के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप गुणवत्ता के साथ शत्प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त करें। श्री शुक्ला ने जिला अधिकारियों से मुखातिब होकर समस्त केन्द्रों की मॉनीटरिंग करने के निर्देश देते हुए सभी जिला अधिकारियों को स्व प्रेरणा से पहल कर गुणवत्तापूर्ण क्रियान्वयन की अपील क
प्रधानमंत्री किसान क्रेडिट कार्ड अभियान : बस्तर जिले के 52 हजार से अधिक किसानों का कार्ड बनाने का लक्ष्य

प्रधानमंत्री किसान क्रेडिट कार्ड अभियान : बस्तर जिले के 52 हजार से अधिक किसानों का कार्ड बनाने का लक्ष्य

business, chhattisgarh, Govt Schemes, News
बस्तर जिले में स्थित सभी वाणिज्यिक बैंकों द्वारा  जिले के किसानों को प्रधानमंत्री किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा देने के लिए पन्द्रह दिनों का विशेष अभियान चलाया जाएगा। बस्तर जिले में एक लाख 4 हजार किसान हैं। इनमें 51 हजार 461 किसानों के पास पहले से किसान क्रेडिट कार्ड है। शेष 52 हजार 539 किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड अभियान के दौरान दिया जाएगा। इसके लिए किसान pmkisan.gov.in से एक पेज का आवेदन फार्म डाऊनलोड कर संबंधित बैंक में जमा कर कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। सभी पात्र किसानों को केसीसी प्रदान करने के लिए 15 दिन का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। आवेदन पत्र जमा होने के 14 दिनों के भीतर बैंक द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा।  आवेदक किसान को आवेदन पत्र के साथ भूमि रिकॉर्ड की एक प्रति और बोई गई फसलों का विवरण जमा करना होगा। पीएम-किसान लाभार्थी उस बैंक शाखा में जा सकते हैं, जहां अपना
लोकवाणी रेडियो : मुख्यमंत्री ने कहा- ‘बच्चों पर परीक्षा में उच्च अंक लाने का दबाव न डाले, परीक्षा की तैयारी में दें सहयोग’

लोकवाणी रेडियो : मुख्यमंत्री ने कहा- ‘बच्चों पर परीक्षा में उच्च अंक लाने का दबाव न डाले, परीक्षा की तैयारी में दें सहयोग’

chhattisgarh, Govt Schemes, News
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी की सातवी कड़ी में ‘परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर के आयाम‘ विषय पर विद्यार्थियों से आत्मीयता के साथ बातचीत की। मुख्यमंत्री ने बच्चों से कहा कि समय का पूरा सदुपयोग करें, परीक्षा के समय खाना-पीना सादा रखें, हल्का व्यायाम करें। मोबाइल, टीवी आदि से दूर रहें, जिससे आंखों को आराम मिले और दिमाग भी शांत रहे। श्री बघेल ने कहा कि आप अपना पूरा प्रयास करें अधिक अंक मिले तो अच्छा है और न मिले तो भी अच्छा है। इससे कुछ बनता बिगड़ता नहीं है। बिना उच्चतम अंक पाए बहुत से लोग अपने बेहतर कार्यों के दम पर शिखर पर पहुंचे हैं। उन्होंने बच्चों को परीक्षा की तैयारी, तनाव से निपटने के उपायों की जानकारी देते हुए बच्चों के अभिभावकों से भी यह आग्रह किया कि वे परीक्षा की तैयारी में अपने बच्चों के सहयोगी बने। परीक्षा में उच्च अंक लाने का उन पर दबाव न डाले। प