chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

बर्खास्त स्वास्थ्य संयोजकों की आज मुख्यमंत्री से मुलाकात के आसार

रायपुर (एजेंसी) | 41 दिनों से हड़ताल पर डटे स्वास्थ्य संयोजकों की हड़ताल समाप्त करवाने के लिए शासन स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं और दूसरी ओर अफसरों ने बर्खास्तगी की कार्रवाई शुरू कर दी है। सोमवार को चेतावनी के बाद भी काम पर नहीं लौटने का हवाला देकर 25 स्वास्थ्य संयोजकों को रायपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सीएमओ ने बर्खास्त कर दिया। सीएमओ ने कहा है कि 28 अगस्त को हड़ताली कर्मचारियाें को काम पर लौटने की चेतावनी दी गई थी। इसके बाद भी हड़ताल पर डटे हैं। बर्खास्त कर्मियों में संघ की अध्यक्ष संध्यारानी मावले भी शामिल हैं।




स्वास्थ्य संयाेजकों के प्रतिनिधि मंडल की मंगलवार को मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह से मुलाकात के आसार हैं। इस बारे में खुद सांसद अभिषेक सिंह ने पहली की है। मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद हड़ताल समाप्त होने के संकेत हैं। दूसरी ओर सीएमओ डॉ. केएस शांडिल्य ने बर्खास्तगी के आदेश में कहा है कि हड़ताल की वजह से किसी मरीज की मौत होती है तो कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। हड़ताल अवधि की छुट्टी नहीं दी जाएगी। इसे ब्रेक इन सर्विस माना जाएगा। गौरतलब है कि हड़ताल के कारण रुटीन से लेकर रुबेला व खसरा का टीका बच्चों को नहीं लगाया जा रहा है। अंबेडकर अस्पताल में जरूर बच्चों को टीका लगाया जा रहा है।

शहरी क्षेत्र के ज्यादातर लोग अपने बच्चों को निजी अस्पतालों में ले जाकर टीके लगवा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण पूरी तरह ठप है। स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की है। दुर्ग-भिलाई में जरूर 30 संविदा कर्मियों की भर्ती की गई है। वहां डेंगू महामारी के रूप में फैल चुका है।



Leave a Reply