chhattisgarh news media & rojgar logo

ऑपरेशन प्रहार-4 से बौखलाए नक्सलियों ने किया आईईडी ब्लास्ट, डीआरजी का एक जवान हुआ जख्मी

सुकमा (एजेंसी) | नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन प्रहार-4 में सोमवार को 9 माओवादियों के ढेर हो जाने के बाद नक्सली बुरी तरह बौखला गए हैं। उन्होंने देर रात बुरकापाल इलाके में आईईडी ब्लास्ट कर दिया। इसमें डीआरजी के एक जवान बुरी तरह से घायल हो गया। उसे तत्काल उपचार के बाद जगदलपुर रेफर किया गया है।

सोमवार देर रात बुरकापाल इलाके में मीनप चिंतागुफा के जंगल में डिस्ट्रिक्ट रिजर्व ग्रुप के जवान सर्चिंग पर निकले थे। इसी दौरान घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर दिया। इससे डीआरजी के एक जवान माड़वी सुक्का बुरी तरह से घायल हो गया। ब्लास्ट में उसका पांव अलग हो गया। उसे प्राथमिक उपचार के बाद जगदलपुर भेजा गया है।




ऑपरेशन प्रहार-4 के तहत मारे गए थे 9 नक्सली 

सुकमा के साकलेर में सोमवार सुबह नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में 6 महिला समेत 8 नक्सली मारे गए। डीआरजी के दो जवान भी शहीद हो गए थे। ऑपरेशन प्रहार-4 के तहत फोर्स रविवार सुबह 8 बजे किस्टाराम सहित अलग-अलग कैम्प से आॅपरेशन के लिए निकली। 44 किमी पैदल चलने के बाद साकलेर के पास सुबह करीब 9.30 बजे नक्सिलयों से मुठभेड़ हुई। दोनों ओर से करीब पांच घंटे तक गोलीबारी होती रही। इस दौरान डीवीसी मेंबर गगनपल्ली निवासी ताती भीमा और गोडेलगुड़ा निवासी राजे समेत आठ नक्सली मारे गए। सभी नक्सलियों के शव बरामद कर लिए गए हैं।

घटनास्थल से 10 हथियार भी बरामद किए गए। इनमें एक एसएलआर, एक बोल्ट एक्शन राइफल, दो 315 बोर, एक 12 बोर और पांच भरमार बंदूक शामिल हैं। सुकमा एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि मुठभेड़ में डीआरजी के दो जवान भी शहीद हुए हैं। स्पेशल डीजी नक्सल ऑपरेशन डीएम अवस्थी ने बताया कि ऑपरेशन प्रहार-4 के तहत ये अब तक की सबसे बड़ी सफलता है।

सुकमा के रहने वाले हैं दोनों जवान

शहीद दोनों जवान सुकमा जिले के ही रहने वाले थे। दिरदो रामा गोलापल्‍ली थाना क्षेत्र के बुरुमपाड़ के जबकि माड़वी जोगा गोंडीगुड़ा के रहने वाले थे। पोस्टमार्टम के बाद शवाें को उनके पैतृक गांव भेजा गया।



Leave a Reply