chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

गाजीनगर में आरएसएस के पथ संचलन के दौरान पथराव, धारा 144 लगाई गई

रायपुर (एजेंसी) | देश की सबसे बड़ी स्वयं संस्था राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) का पथसंचलन राजधानी रायपुर के पास स्थित गाजीनगर क्षेत्र में रविवार सुबह जैसे ही गुजरी तभी कुछ तथाकथित समुदाय के लोगो ने रैली पर जमकर उपद्रव और पत्थर फेकने लगे। जिसमे दो पक्ष आमने-सामने हो गए। इस दौरान दोनों ओर से तलवारें भी निकल आईं। सूचना मिलते ही आईजी, कलेक्टर, एसपी के साथ ही उरला थाना पुलिस भी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गई। इसके बाद पुलिस ने लाठियां फटकार कर उपद्रवियों को खदेड़ा और पथ संचलन को निकलवाया।




संघ के पथ संचालन को आगे बढ़ने से रोका गया

आरएसएस के कार्यकर्ताओ ने आरोप लगाया कि उन्हें आगे बढ़ने से रोका गया। दरअसल आरएसएस ने रविवार सुबह करीब 8.30 बजे पथ संचलन का कार्यक्रम आयोजित था। इस दौरान पथ संचलन में शामिल कार्यकर्ता राजधानी के उरला थाना क्षेत्र के गाजीनगर पहुंचे। पथ संचलन दूसरे समुदाय के धार्मिक स्थल के सामने से पहुंचा ही था कि उन पर पत्थर बरसाने लगे। इसके बाद संघ कार्यकर्ताओं ने कॉल कर अपने और भी कार्यकर्ताओं को बुला लिया। इस दौरान दोनों ओर से तलवारें निकल आईं और पथराव शुरू हो गया। हंगामा कर रहे लोगों ने ऑटो और कार में तोड़फोड़ कर दी। करीब आधे घंटे तक दोनों ओर से हंगामा होता रहा।

दो पक्षों के बीच उपद्रव की सूचना मिलने पर पुलिस फोर्स के साथ ही आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने किसी तरह स्थिति को नियंत्रण में लिया। उपद्रव और हंगामे की जानकारी मिलते ही भाजपा जिला अध्यक्ष राजीव अग्रवाल भी पहुंच गए। फिर अधिकारियों ने दोनों पक्षों को समझाइश कर शांत कराया और तब पथ संचलन को आगे बढ़ पाई।

नारे लगाने पर शुरू हुआ विवाद 

संघ के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि पथ संचलन के दौरान वह नारे लगाते हुए जा रहे थे। जब गाजीनगर में एक धार्मिक स्थल के पास पहुंचे तो इस दौरान एक युवक ने उन्हें रोक लिया। आरोप है कि युवक ने उनसे धार्मिक स्थल के सामने नारा लगाने से रोका और कहा कि इस रास्ते पर ऐसा मत बोलो।

धारा 144 का हवाला देकर रोका कार्यकर्ताओं को

उस दूसरे समुदाय के युवक ने संघ के कार्यकर्ताओ को कहा कि धारा 144 लगी है और आप जुलूस कैसे निकाल सकते हो। इस पर कार्यकर्ताओं की ओर से बताया गया कि उनके पास पथ संचलन की अनुमति है। इसके बाद दोनों ओर से विवाद होने लगा और तलवारें निकल आईं।

तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स तैनात

इस दौरान पक्षों विशेष के तमाम लोग एकत्र हो गए। यह देखकर संघ कार्यकर्ताओं ने भी साथियों को बुला लिया और दोनों ओर से तलवारें निकलने के बाद पथराव शुरू हो गया। इस पथराव में भूपेंद्र साहू, नारायण सहित अन्य लोग घायल हुए हैं। तनाव को देखते हुए वहां पुलिस फोर्स तैनात की गई है।



Leave a Reply