chhattisgarh news media & rojgar logo

महंगी पड़ी सिपाही से अभद्रता, पुलिस ने गिरफ्तार कर निकाला व्यापारी का जुलूस

रायपुर (एजेंसी) | शहर में ट्रैफिक व्यवस्था सुधार के दौरान पुलिस के सिपाही से अभद्रता करना एक व्यापारी युवक को भारी पड़ गया। सिपाही ने उसके खिलाफ एसपी से शिकायत करने के साथ ही कोतवाली में मामला भी दर्ज करा दिया। जिसके बाद पुलिस ने शुक्रवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और मुख्य मार्गों पर जुलूस निकाला।

उसने ट्रैफिक पुलिस के सिपाही को सरेआम देख लेने और वर्दी उतरवा देने की धमकी दी और भीड़ भरे बाजार में अपशब्द कहते हुए सिपाही को ललकारा कि उसे कोई हाथ नहीं लगा सकता।बताते है कि कारोबारी सलीम दल्ला निगम के एमआईसी मेंबर और कांग्रेस के नेता एजाज ढेबर का भांजा है।

इस घटना का लोगो ने वीडियो बना लिया, लेकिन सिपाही खामोश रहा। पुलिस महकम में चर्चा है कि नेता का रिश्तेदार होने की बदतमीजी के शिकारअपमान का घूँट पीकर चुप रह गए।

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ तो भड़का लोगों का गुस्सा

दरअसल, गोलबाजार क्षेत्र में गुरुवार शाम करीब 7 बजे पुलिस और ट्रैफिक पुलिस के जवान यातायात व्यवस्था सुधार के लिए गए थे।  शहर का मुख्य बाजार होने के कारण वहां रोजाना ही जाम की स्थिति बनी रहती है। बाजार में जब पुलिसकर्मी इधर-उधर बेतरतीब खड़े वाहनों को हटवाने लगे तो स्थानीय व्यापारी सलीम दल्ला ने इसका विरोध कर दिया। आरोप है कि सलीम ने सिपाही से गाली-गलौच और अभद्रता की।

पुलिसकर्मियों ने उसे रोकने का प्रयास किया तो सलीम और भी भड़क गया और सिपाही को धमकी देने लगा। इस पूरे मामले का वीडियो वायरल हो गया। सोशल मीडिया पर वीडियो सामने आने के बाद लोग भी नाराज हो गए। लोगों का गुस्सा व्यापारी के खिलाफ निकलने लगा। वहीं इस पूरे मामले की शिकायत सिपाही ने एसपी आरिफ शेख से की।

कोर्ट ले जाते समय पुलिस ने सलीम दल्ला का निकाला जुलुस

पुरे घटनाक्रम का वायरल वीडियो जब पुलिस के आला अफसरों के मोबाइल में पंहुचा तो अफसरों ने रात में ही पीड़ित जवान से घटना की जानकारी ली। अफसरों ने तो रात में ही उस कारोबारी की गिरफतारी के निर्देश दिए, लेकिन सफलता नहीं मिली। शुक्रवार की सुबह पुलिस ने कारोबारी को उसके घर से गिरफ्तार किया। कोर्ट ले जाते समय उसका जुलुस भी निकला।

कोतवाली थाना में सलीम दल्ला के खिलाफ 294, 506, 186 और 353 धाराओं के तहत मामला दर्ज कराया गया। जिस पर पुलिस ने आरोपी सलीम को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद मुख्य मार्ग से उसका जुलूस निकाला गया। लोगों का कहना था कि पुलिस ट्रैफिक सुधार में लगी हुई थी, ऐसे में उनका विरोध करना गलत है।

Leave a Reply