chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

11 आईएएस और 6 आईपीएस अफसरों का तबादला, वीके सिंह और आईजी के बीच तालमेल नहीं बैठ रहा

रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ राज्य प्रशासनिक विभाग में एक बार फिर 11 आईएएस और 6 आईपीएस अफसरों का तबादला किया गया है। आईपीएस अफसर ओपी पाल लगभग साढ़े 3 साल तक अपर परिवहन आयुक्त थे। उन्हें पुलिस मुख्यालय लाया गया है। जीपी सिंह अब तक पुलिस मुख्यालय में बिना विभाग के आईजी थे। ईओडब्ल्यू में कल्लूरी की नियुक्ति भी चर्चा में थी और वहां से ट्रांसपोर्ट में जाने पर भी पुलिस मुख्यालय के गलियारों में हैरानी है।

जीपी सिंह की ईओडब्लू-एसीबी में पोस्टिंग के साथ उनका कद बढ़ाया गया है। राज्य में सत्ता परिवर्तन के बाद उन्हें दुर्ग आईजी के पद से हटाकर मुख्यालय अटैच कर दिया गया था। हालांकि कुछ ही दिनों बाद उन्हें अंतागढ़ टेपकांड की जांच कर रही एसआईटी की मॉनीटरिंग का जिम्मा सौंपकर मुख्यधारा में लाने के संकेत दे दिए गए थे।

अब उन्हें ईओडब्लू और एसीबी में पोस्टिंग दी गई, जहां नान और ई-टेंडरिंग जैसे सरकार से जुड़े बड़े मामलों की जांच चल रही है। आईजी कल्लूरी की परिवहन में पोस्टिंग भी चौंकाने वाली है। ईओडब्लू-एसीबी में उनकी पोस्टिंग खासी चर्चित रही थी। अब फिर सरकार के महत्वपूर्ण विभाग में एचओडी के तौर पर पदस्थापना कर उन्हें एक तरह से फ्री-हैंड कर दिया गया है। लंबे समय से स्वतंत्र जिले के प्रभार का प्रयास कर रहे आईपीएस सुजीत कुमार को कोंडागांव का एसपी बनाया गया है। एक साल पहले आईपीएस अवार्ड होने के बाद से वे जिले में पोस्टिंग के लिए प्रयास कर रहे थे।

उन्हें फील्ड में भेजकर कोंडागांव के एसपी अरविंद कुजूर को मुख्यालय में अटैच कर दिया गया है। 16 साल की प्रतिनियुक्ति के बाद दिल्ली से लौटे डीजी वीके सिंह को ईओडब्लू-एसीबी में पोस्टिंग दिए जाने के बाद से ही आईजी बदलने के कयास लगाए जा रहे थे। चर्चा है कि वीके सिंह और आईजी के बीच तालमेल नहीं बैठ रहा था। इस वजह से नान घोटाले और ई टेंडरिंग की जांच एक तरह से धीमी पड़ गई थी, जबकि सरकार इन मामलों को लेकर बेहद संवेदनशील है। इसी तरह, निलंबित आईपीएस मुकेश गुप्ता के फोन टेपिंग प्रकरण में डीएसपी आरके दुबे बयान और इसके बाद कोर्ट में डीएसपी के इसके ठीक उलट शपथपत्र के बाद से यह मामला और कार्रवाई, दोनों चर्चा में आ गई थी।

RO No - 11069/ 14
CM Bhupesh Bhagel Mandi ko Maar

Leave a Reply