chhattisgarh news media & rojgar logo

सेमेस्टर परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन हुआ बंद, अब ऑफलाइन से ही

रायपुर (एजेंसी) | पं.रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय सेमेस्टर परीक्षाओं के लिए ऑनलाइन आवेदन बंद कर दिया गया है। अब यहां ऑफ लाइन फार्म भरे जा रहे हैं। ऑनलाइन फार्म भरने के दौरान इतनी दिक्कतें आई कि आवेदन की तारीख खत्म होने के बाद दोबारा इसमें आवेदन करने का मौका नहीं दिया गया।

छात्रों से अभी मैनुअल ही फार्म स्वीकार किए जा रहे हैं। यह विश्वविद्यालय के काउंटरों से मिल रहे हैं। मैनुअल फार्म को भरने में छात्रों को 120 रुपए ज्यादा खर्च करने पड़ रहे हैं।ऐसे में यह सवाल उठ रहे हैं कि, मैनुअल फार्म क्यों दिया जा रहा है? छात्रों को आवेदन का और मौका ही देना है तो फिर कुछ दिन बढ़ाकर ऑनलाइन आवेदन ही क्यों नहीं मंगाए गए?




इस संबंध में बताया जा रहा है कि कई तरह की तकनीकी खामियों से पहले ही आवेदन में परेशानी हुई। कई छात्र आवेदन नहीं कर पाए। फिर दोबारा ऑनलाइन के लिए लाइन खोली जाती तो फिर परेशानी बढ़ती। इसलिए मैनुअल फार्म ही छात्रों को दिया जा रहा है। इसे भरने के बाद वे कॉलेज में जमा करेंगे। वहां से विश्वविद्यालय आने के बाद छात्रों से संबंधित डाटा ऑनलाइन किया जाएगा।

इससे पहले ऑनलाइन आवेदन में कई तरह की खामियां आई। इसमें आवेदन में नाम किसी का फोटो किसी अन्य छात्र का था। विषय से संबंधित विकल्प को लेकर परेशानी हुई। इस बीच अब यह सवाल भी उठने लगे हैं कि सेमेस्टर परीक्षा में जब छात्रों की संख्या कम है तब संभालना मुश्किल हो रहा है। वार्षिक परीक्षा में इस सिस्टम से कैसे परेशानी होगी? गौरतलब है कि एमए, एमकॉम, एमएससी समेत अन्य की सेमेस्टर परीक्षाएं 28 दिसंबर से शुरू होने वाली है।

ऑनलाइन रुपए कटने के बाद अब वापस पाने मशक्कत

ऑनलाइन आवेदन के दौरान कई ऐसे छात्र थे जिनका फार्म सबमिट हुए बगैर शुल्क कटा। फिर आवेदन के लिए उन्हें दोबारा पैसे खर्च करने पड़े। अब अपने ही पैसों की वापसी के लिए वे मशक्कत कर रहे हैं। छात्रों ने बताया कि फार्म सबमिट हुए बिना पैसे कटने से परेशानी हुई। विश्वविद्यालय को जब इस संबंध में शिकायत की गई तो उन्होंने फीस के संबंध में आवेदन देने के लिए कहा। समस्या अब ये है कि, कई छात्रों ने साइबर कैफे से ऑनलाइन आवेदन किया है। फीस भी उनके अकाउंट से जमा किया। अब विश्वविद्यालय से एकाउंट में पैसे भेजे जाने से साइबर कैफे से संबंधित व्यक्ति के अकाउंट में पैसा जाएगा। इसलिए परेशानी है।



Leave a Reply