chhattisgarh rojgar logo
telegram group   Chhattisgarh Rojgar Facebook Page  Chhattisgarh Rojgar twitter  Chhattisgarh Rojgar Youtube Channel

नान घोटाला: नान से जब्त पेन ड्राइव नहीं दी जाएगी एसआईटी को

रायपुर (एजेंसी) | ईओडब्लू और एसीबी की विशेष अदालत ने स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) को नागरिक आपूर्ति निगम (नान) ऑफिस से जब्त पेन ड्राइव देने से मना कर दिया है। नान घोटाले की दोबारा जांच कर रही एसआईटी ने कोर्ट में अर्जी लगाकर नान के स्टेनो अरविंद ध्रुव से जब्त पेन ड्राइव की मांग की थी।

एसआईटी की ओर से लगाई अर्जी में तर्क दिया गया था कि पेन ड्राइव की कई जानकारियों पर जांच अधूरी है। दोबारा जांच के लिए पेन ड्राइव दी जाए। कोर्ट ने अर्जी नामंजूर करते हुए कहा कि पेन ड्राइव की पहले जांच हो चुकी है। इस वजह से इसे अब दोबारा नहीं दे सकते।




कोर्ट इसके पहले नान की सुनवाई रोकने और सरकारी गवाह और नान के स्टेनो केके बारीक व अरविंद ध्रुव को गिरफ्तार करने की दो अर्जियां नामंजूर कर चुकी है। अब कोर्ट ने एसआईटी की तीसरी अर्जी भी खारिज कर दी। एसआईटी ने जिस पेन ड्राइव की जांच की अर्जी लगाई है, वह नान के स्टेनो की है।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने मई तक नान घोटाले की सुनवाई पूरी कर फैसला सुनाने का निर्देश दिया है। सुप्रीम कोर्ट में नान के मैनेजर शिवशंकर भट्ट ने जमानत की अर्जी लगाई है। कोर्ट ने उसकी अर्जी नामंजूर तो की लेकिन केस की सुनवाई पूरी करने की मियाद तय कर दी है। इसी वजह से कोर्ट ने यहां नान केस की सुनवाई रोकने की मंजूरी नहीं दी।

एसआईटी में दो के बयान

नान घोटाले की जांच कर रही एसआईटी अब तक दो लोगों से पूछताछ कर चुकी है। इसमें स्टेनो ध्रुव है, जिससे करीब तीन घंटे तक पूछताछ की गई थी। माना जा रहा है कि उससे पूछताछ के बाद मिले इनपुट के आधार पर ही एसआईटी ने पेन ड्राइव के लिए कोर्ट में अर्जी लगाई थी। लेकिन नामंजूर होने के बाद अब जांच अफसर दूसरे विकल्प की तलाश में जुट गए हैं।



Leave a Reply