chhattisgarh news media & rojgar logo

छोटी सी मोनिका वाघ का साहसिक परचम, पुणे से आ रहे जहरखुरानी पीड़ित युवक को रायगढ़ तक छोड़ आयी

raigarh station

अंतोदय एक्सप्रेस से शनिवार को पुणे से रायगढ़ को आ रहे निखिल मेहता उम्र २३ वर्ष जो पेशे से इंजीनियर है. बीच सफर में मुंबई के निकट इगतपुरी स्टेशन से पहले किसी साथी पैसेंजर द्वारा बिस्कुट में कुछ मिलाकर खिलाने से जहरखुरानी का शिकार हो गए. उनकी हालत बिगड़ती जा रही थी. जीआरपी ने इगतपुरी स्टेशन पर निखिल को उपचार प्रदान किया था.

फिर १७ वर्ष मोनिका वाघ जो फेरी – सामान इत्यादि ट्रैन में बेचकर कर गुजरा करती है. उसको को जीआरपी द्वारा उपरांत भुसावल स्टेशन तक निखिल का ख़याल  रखने को कहा गया.

मोनिका ने भुसावल स्टेशन बाद भी तबयित में सुधार ना होता देख, १२३५ किमी लंबा सफर रायगढ़ तक किया और गतंव्य स्थान तक पूरा ख्याल रखा. इस मुश्किल घडी में मोनिका एक देवदुत्त के समान आयी. मेहता परिवार बेटे को सकुशल पाकर बहुत खुश है.

पाठको से निवेदन है वो सफर करते वक़्त अनजान लोगो के बहकावे में आ कर कुछ भी ना खाये इसमें जहर हो सकता है और आपकी जान ले सकता है. उम्मीद है रेलवे मोनिका वाघ के साहसिक प्रयास को सम्मान देगा

monika wagh

RO No - 11069/ 14
CM Bhupesh Bhagel Mandi ko Maar

Leave a Reply